धारवाड़ जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(धारवाड़ ज़िला से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
धारवाड़ ज़िला
Dharwad district
ಬಾಗಲಕೋಟೆ ಜಿಲ್ಲೆ
मानचित्र जिसमें धारवाड़ ज़िला Dharwad district ಬಾಗಲಕೋಟೆ ಜಿಲ್ಲೆ हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : धारवाड़
क्षेत्रफल : 4,265 किमी²
जनसंख्या(2011):
 • घनत्व :
18,47,023
 430/किमी²
उपविभागों के नाम: तालुक
उपविभागों की संख्या: 8
मुख्य भाषा(एँ): कन्नड़


धारवाड़ ज़िला भारत के कर्नाटक राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय धारवाड़ है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

धारवाड़ कर्नाटक में दक्षिणी पठार के पश्चिमी भाग में प्रमुख जिला है। मालप्रभा, तुंगभद्रा, बेनीहाला, वर्दा, धर्मा एवं कुमुद्वती नदियाँ इस जिले में बहती हैं। ये नदियाँ नौगम्य नहीं हैं। जिले के उत्तरी-पूर्वी किनारे पर बलुआ पत्थर, पश्चिम में लैटराइट तथा शेष भाग में नाइस और मणिभ शिस्ट हैं। यहाँ पाई जानेवाली स्फटिशिल स्वर्णमय होने के कारण प्रसिद्ध है। यहाँ कपाट (Kappat) पहाड़ियों में कुछ स्वर्ण मिलता है। कपास इस जिले की प्रमुख उपज है। इसके अतिरिक्त, धान, तिलहन, ज्वार, दाल, एवं बाजरा की भी खेती होती है। जंगलों में सागौन और बाँस मिलते हैं। हुबली तथा धारवाड़ में सूती वस्त्र के कारखाने हैं। बुनाई और धुनाई के कुटीर उद्योग धंधे हैं। रणेबेन्नूर तथा गडग में व्यापारिक मंडियाँ हैं।

यह जिला दक्षिण में राज्य करनेवाले विभिन्न राजवंशों के अधीन रहा है। चालुक्य वंश के आधिपत्य के प्रमाण बहुत अधिक हैं। १४वीं शताब्दी में यह मुसलमानों के अधिकार में चला गया और इसके पश्चात् विजयनगर के नवनिर्मित हिंदू राज्य शासक के अधिकार में आ गया। १५६५ ई. में युद्ध में राजा के हारने के पश्चात् १५७३ ई. में बीजापुर के सुल्तान के अधिकार में आने से पूर्व तक यह स्वतंत्र रहा। पेशवा, हैदरअली तथा मराठों के अधिकार में रहने के बाद सन् १८१७ में पेशवा से ईस्ट इंडिया कंपनी के अधिकार में आया।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet South India & Kerala," Isabella Noble et al, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012394
  2. "The Rough Guide to South India and Kerala," Rough Guides UK, 2017, ISBN 9780241332894