ट्रीगवी ली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ट्रीगवी ली
Trygve Lie 1938.jpg
जन्म ट्रीगवी ली
16 जुलाई 1896
ओस्लो, नॉर्वे,
मृत्यु 30 दिसम्बर 1968(1968-12-30) (उम्र 72)
गीलों, नॉर्वे
राष्ट्रीयता नॉर्वेनॉर्वे
शिक्षा प्राप्त की University of Oslo[*]
पूर्वाधिकारी ग्लेडविन जेब (कार्यकारी)
उत्तराधिकारी डैग हैमरस्क्जोंल्ड
राजनैतिक पार्टी नरवियन लेबर पार्टी
धार्मिक मान्यता लुथेर्निज़्म
बच्चे सिशेल, गौरी, मेट
पुरस्कार Knight Grand Cross of the Order of St. Olav‎[*], Grand Cross of Dannebrog[*], Medal for Outstanding Civic Service[*]
हस्ताक्षर
Trygve Lie Signature.svg

ट्रीगवी हल्ब्दन ली (Norwegian pronunciation: [ˌtɾyɡʋə ˈliː] ( सुनें); 16 जुलाई 1896 – 30 दिसम्बर 1968) नॉर्वीयन राजनीतिज्ञ, मजदूर नेता, सरकारी अधिकारी तथा लेखक थे। 1940 से 1945 तक उन्होने नॉर्वे के विदेश मंत्री के रूप में सेवा की। फ़रवरी 1946 से नवंबर 1952 तक वे संयुक्त राष्ट्र के महासचिव रहते हुये एक व्यावहारिक, निर्धारित राजनेता के रूप में ख्याति अर्जित की।[1]

जीवनी[संपादित करें]

ली का जन्म 16 जुलाई 1896 को ओस्लो नॉर्वे में हुआ था। उनके पिता बढ़ई थे। 1902 में जब वह छ: साल के थे तो उनके पिता परिवार का साथ छोडकर अमेरिका चले गए। ऐसी परिस्थिति में उनकी माँ ने उन्हें एक अच्छा नागरिक बनने में मदद की। 1911 में ली नॉर्वेजियन लेबर पार्टी में शामिल हो गए और आगे चलकर वे इस पार्टी के महासचिव भी बने। 1919 में उन्होने [ओस्लो विश्वविद्यालय] से कानून की डिग्री ली। 1919 से 1921 तक वे "डेट 20 डे अर्हंडर" के प्रधान संपादक रहे। 1922 से 1931 तक वे श्रमिक नेशनल ट्रेड यूनियन के कानूनी सलाहकार रहे साथ ही इस दौरान अर्थात 1931 से 1935 तक वे नॉर्वेजियन श्रमिक परिसंघ के अध्यक्ष भी रहे।[2]

राजनीतिक कार्यक्षेत्र[संपादित करें]

स्थानीय स्तर की राजनीति में वे 1922 से 1931 तक आकेर नगर पालिका परिषद नॉर्वे की कार्यकारी समिति के सदस्य के रूप में कार्य किया। 1937 में वे नॉर्वीयन संसद के लिए चुने गए और नॉर्वे के न्याय मंत्री बनाए गए। जुलाई से अक्टूबर 1939 तक वे नॉर्वे के आपूर्ति मंत्री और 1939 से 1941 तक नॉर्वे के व्यापार मंत्री रहे। 1941 से 1945 तक वे नॉर्वे के विदेश मंत्री रहे। बचपन से समाजवादी सोच वाले ली की एकबार व्लादिमीर लेनिन से मुलाक़ात हुयी, जब ये लेबर पार्टी की ओर से मास्को की यात्रा पर थे। उस समय उन्होने लीओन ट्रोट्स्की को, जिन्हें अपने देश से निर्वासित कर दिया गया था, को नॉर्वे में बसने की इजाजत दी। हालांकि बाद में उन्होने जोसेफ स्टालिन के दबाव में उन्हें देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया।[3]

संयुक्त राष्ट्र कार्यक्षेत्र[संपादित करें]

ली ने 1945 में सैन फ्रांसिस्को में आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में नॉर्वेजियन प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रावधानों का मसौदा तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्हें 1946 में संयुक्त राष्ट्र महासभा के लिए नॉर्वे के प्रतिनिधिमंडल का नेता नियुक्त किया गया। 1 फ़रवरी 1946 को वे संयुक्त राष्ट्र के पहले महासचिव बने और इस पद पर वे नवंबर 1952 तक रहे। फरवरी 1953 में नए महासचिव के द्वारा कार्यभार ग्रहण करने पर वे इस पद से मुक्त हुये।

संयुक्त राष्ट्र के बाद[संपादित करें]

ली संयुक्त राष्ट्र से अपने इस्तीफे के बाद नॉर्वे की राजनीति में सक्रिय रहे। वे ऊर्जा बोर्ड के अध्यक्ष बनाए गए। उन्होने कई पुस्तकें भी लिखी।[4]

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

उनकी शादी हिजोर्दिस जोर्गेंसन (1900-1960) से हुयी। इनकी तीन बेटियाँ है शीशेल, गुरी और मेटे। उनकी मृत्यु 30 दिसम्बर 1968 को अचानक हृदय गति रुक जाने से गीलों, नॉर्वे में हुयी, जब वे 72 वर्ष के थे।

सम्मान और पुरस्कार[संपादित करें]

ली को नॉर्वे और विदेशों में बड़ी संख्या में सम्मानित किया गया। इनमें नॉर्वेजियन सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार (1966), ग्रैंड क्रॉस (1953), ग्रैंड क्रॉस (1954) और चोकोस्लोवाक का सम्मान (1948) के अलावा उन्हें अमेरिका और यूरोप भर में विश्वविद्यालयों द्वारा कई मानद डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया। ली की प्रतिमा अन्तरिक्ष यानि ओस्लो के केंद्र में स्थित है। नॉर्वेजियन कलाकारों के द्वारा बनाई गयी कांस्य प्रतिमा 1994 में स्थापित की गयी थी। ट्रिगवी ली गैलरी और ट्रिगवी ली प्लाज़ा न्यूयार्क शहर में स्थित है।

प्रकाशित रचनाएँ[संपादित करें]

  • डे नए आर्विद्स्त्विस्त्लोव, 1933
  • डे फोरेंटों नेश्जोनर, 1949
  • सिव आर फ्रीडेन, 1954 (In the Cause of Peace: Seven Years With the United Nations शीर्षक से अङ्ग्रेज़ी में प्रकाशित)
  • इन्टरनेशनल पोलिटिक, 1955
  • लेव एलर डो नोरगे ई कृग, 1955
  • मेड इंग्लैंड ई इडिलीनियन 1940–42, 1956
  • हाजमोवर, 1958
  • ओस्लो-मास्को-लंदन, 1968

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. ट्रीगवी ली के बारे में (ट्रीगवी ली गैलरी)
  2. ट्रीगवी हल्ब्दन ली (LoveTo Know, Corp)
  3. जर्मन, इसहाक (2004), पैगंबर निर्वासित: ट्रोट्स्की, 1929-1940, pp. 274-282
  4. "End of an Institution". Time Magazine. 30 अगस्त 1963. http://www.time.com/time/magazine/article/0,9171,940710,00.html. अभिगमन तिथि: 17 दिसम्बर 2008. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]