जेवर (पक्षी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जेवर [1]
WesternTragopan.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: रज्जुकी
वर्ग: पक्षी
गण: गॉलिफ़ॉर्मिस
कुल: फ़ॅसिअनिडी
उपकुल: फ़ॅसिअनिनी
वंश: ट्रॅगोपैन
जाति: टी. मॅलॅनोसिफ़ैलस
द्विपद नाम
ट्रॅगोपैन मॅलॅनोसिफ़ैलस
ग्रे, १८२९
Tragopan melanocephalus map.png
आवास क्षेत्र

जेवर (western tragopan) या (western horned tragopan) (Tragopan melanocephalus) एक मध्य आकार का फ़ीज़ॅन्ट कुल का पक्षी है जो हिमालय में पश्चिम में उत्तरीय पाकिस्तान के हज़ारा से पूर्व में भारत के उत्तराखण्ड तक पाया जाता है।

स्थिति[संपादित करें]

इस जाति को आईयूसीएन लाल सूची के अंतर्गत असुरक्षित वर्ग में वर्गीकृत किया गया है क्योंकि इसकी छोटी और छितरी हुयी आबादी घटती जा रही है और निरन्तर वनोन्मूलन और वनों के घटने के कारण इसका संकुचित क्षेत्र खण्डित होता जा रहा है।[2]

आकार[संपादित करें]

नर का आकार लगभग २८ इंच (७२ से.मी.) का होता है जबकि मादा का आकार तक़रीबन २४ इंच (६१ से.मी.) तक का होता है। नर की पूँछ की लंबाई लगभग १०.५ इंच (२७ से.मी.) जबकि मादा की पूँछ लगभग ८ इंच (२१ से.मी.) तक की होती है। पंखों का फैलाव नर में क़रीब ११ इंच (२८ से.मी.) तथा मादा में ९.५ इंच (२४ से.मी.) तक का होता है। [3]

आहार[संपादित करें]

इस पक्षी का आहार मूलतः वृक्षों और बांस की पत्तियाँ होता है।[3]

आवास[संपादित करें]

यह प्रायः जंगलों में रहने वाला पक्षी है और ग्रीष्म ऋतु में पहाड़ों के हिम क्षेत्रों के आसपास ही रहना पसंद करता है जबकि शीत ऋतु में यह ५,००० फ़ीट की ऊँचाई तक उतर आता है।[3]

प्रजनन[संपादित करें]

यह पक्षी अप्रैल से मई तक प्रजनन करते हैं और इनके घोंसले में छः अण्डे भी देखे गये हैं।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. anonymous. Indian Bird Names. ENVIS centre Bombay Nat. Hist. Society. पृ॰ ६९. अभिगमन तिथि ०६ अप्रैल २०१६. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. बर्डलाइफ़ इंटरनैशनल (२०१३). "Tragopan melanocephalus". IUCN Red List of Threatened Species. Version 2013.2. International Union for Conservation of Nature. अभिगमन तिथि ०६ अप्रॅल २०१६. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. Blanford, W. T. (१८९८). Blanford W.T., संपा॰. The Fauna of British India, including Ceylon and Burma. IV. London: Taylor and Francis. पृ॰ १००. अभिगमन तिथि ०३ मई २०१६. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)