आईयूसीएन लाल सूची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
विभिन्न समूहों में प्रजातियों को प्रतिशतता को 2007 की IUCN लाल सूची में इस प्रकार सूचीबद्ध किया गया है       गंभीर रूप से विलुप्तप्राय,       विलुप्तप्राय, या      असुरक्षित
संरक्षण स्थिति
विलुप्त होने का जोखिम
विलुप्त

विलुप्त
जंगल से विलुप्त

संकटग्रस्त

गंभीर रूप से विलुप्तप्राय
विलुप्तप्राय
असुरक्षित

कम जोखिम

संरक्षण पर निर्भर
संकटासन्न
खतरे से बाहर

यह भी देखें

प्रकृति संरक्षण हेतु अंतरराष्ट्रीय संघ
IUCN लाल सूची

विलुप्त विलुप्त जंगल से विलुप्त गंभीर रूप से विलुप्तप्राय विलुप्तप्राय प्रजातियां असुरक्षित प्रजातियां संकटासन्न संकटग्रस्त प्रजातियां खतरे से बाहर खतरे से बाहरIUCN संरक्षण स्थितियां

संकटग्रस्त जातियों की IUCN लाल सूची जिसे IUCN लाल सूची या रेड डाटा सूची (अंग्रेजी: IUCN Red List) भी कहते हैं, सन् १९६३ में गठित विश्व-भर में पौधों और पशुओं की जातियों की संरक्षण स्थिति की सबसे व्यापक तालिका है। अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (IUCN) विश्व-स्तर पर विभिन्न जातियों की संरक्षण-स्थिति पर निगरानी रखने वाला सर्वोच्च संगठन है। क्षेत्रीय लाल सूचियों की एक शृंखला विश्व के विभिन्न देशों तथा संगठनों द्वारा किसी एक राजनीतिक प्रबंधन इकाई के अंतर्गत जातियों के विलुप्त होने के जोखिम का आकलन कर, तैयार की जाती हैं।[1]

श्रेणियाँ[संपादित करें]

अ॰प्र॰स॰स॰ (आईयूसीएन) कि लाल सूची में हर जीव जाति को नौ में से एक श्रेणी में डाला जाता है। यह श्रेणीकरण उनकी कुल आबादी, आबादी में गिरावट के दर, भौगोलिक विस्तरण के क्षेत्र और उनके क्षेत्र (मानवीय गतिविधियों द्वारा) छितरे जाने की हद के आधार पर किया जाता है।[2] यह श्रेणियाँ इस प्रकार हैं:

  • विलुप्त (Extinct या EX) – जाति का कोई भी जीवित सदस्य नहीं बचा है
  • वन-विलुप्त (Extinct in the Wild या EW) – जाति वनों से पूर्णतः ख़त्म हो चुकी है और इसके बचे हुए सदस्य केवल चिड़ियाघरों या अपने मूल निवास स्थान से अलग किसी कृत्रिम निवास स्थान पर ही जीवित हैं
  • घोर-संकटग्रस्त (Critically Endangered या CR) – जाति का वनों से विलुप्त होने का घोर ख़तरा बना हुआ है
  • संकटग्रस्त (Endangered या EN) – जाति का वनों से विलुप्त होने का ख़तरा बना हुआ है
  • असुरक्षित (Vulnerable या VU) – जाति की वनों में संकटग्रस्त हो जाने की संभावना है
  • संकट-निकट (Near Threatened या NT) – जाति की निटक भविष्य में संकटग्रस्त हो जाने की संभावना है
  • संकटमुक्त (Least Concern या LC) – जाति को बहुत कम ख़तरा है - बड़ी तादाद और विस्तृत क्षेत्र में पाई जाने वाली जाति
  • आंकड़ों का अभाव (Data Deficient या DD) – जाति के बारे में आंकड़ों की कमी से उसकी संरक्षण स्थिति और संकट का अनुमान नहीं लगाया जा सकता
  • अनाकलित (Not Evaluated या NE) – जाति की संरक्षण स्थिति का अ॰प्र॰स॰स॰ के संरक्षण मानदंड पर आँकन अभी नहीं किया गया है

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Accidental Chef: An Insider's View of Professional Cooking, Chef Charles Oppman, pp. 251, AuthorHouse, 2011, ISBN 978-1-4634-1471-9, ... This led to the creation of the International Union for Conservation of Nature (IUCN) in 1948. In 1963, the IUCN created its Red List of Threatened Species. The red list is the world's most comprehensive inventory of the global conservation status of plant and animal species ...
  2. [ http://www.iucn.org/about/work/programmes/species/our_work/the_iucn_red_list About the IUCN Red List], 2012-09-05, IUCN, Accessed 2012-09-05