ज़िन्दगी (1976 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ज़िन्दगी
चित्र:ज़िन्दगी.jpg
ज़िन्दगी का पोस्टर
निर्देशक रवि टंडन
निर्माता रोमू एन सिप्पी, वि के सूद
लेखक सचिन भौमिक
पटकथा सचिन भौमिक
अभिनेता माला सिन्हा,
संजीव कुमार,
विनोद मेहरा,
मौसमी चटर्जी,
अनिल धवन,
अरुणा ईरानी,
राकेश पांडे,
अलका,
ए के हंगल,
देवेन वर्मा,
मनमोहन,
लीला मिश्रा,
युनुस परवेज़,
ब्रह्म भारद्वाज,
मास्टर अब्बास,
संगीतकार राजेश रोशन
प्रदर्शन तिथि(याँ) 31 दिसम्बर 1976 (1976-12-31)
देश Flag of India.svg भारत
भाषा हिन्दी

ज़िन्दगी (अंग्रेज़ी: Life) 1976 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है।

संक्षेप[संपादित करें]

रघु शुक्ला (संजीव कुमार) अपनी पत्नी सरोजिनी (माला सिन्हा), पुत्र नरेश (अनिल धवन) व रमेश (राकेश पांडे), कन्या सीमा (मौसमी चटर्जी) और भतीजा प्रभू (देवेन वर्मा) के साथ रहता है| सुधा (अरुणा ईरानी) नरेश की पत्नी और शोभा (अलका) रमेश की| सीमा पढने बाहर हॉस्टल में रहती है| जब रघु की सेवानिवृत्त होने के बात चलती है तो घर में सभी उससे आनेवाले रुपयों को लेकर उत्साहित होते है| रघु उन रुपयों से अपने क़र्ज़ अदा कर बेटों पर निर्भर होने की बात करता है तो सभी उदास होते है| इधर नरेश अपनी माँ को लिए बम्बई जाने की बात करता है तो रमेश पिता को साथ रखने की बात करता है| इस तरह रघु और सरोजिनी को अलग रहना पड़ता है| उधर बम्बई में सरोजिनी को घर के चार दीवारों में रख कई काम करवाते है तो रघु बेटे के सहारे ज़िन्दगी बितानी पड़ती है| इस बीच सीमा अपने माता-पिता से मिल, उनकी हालत देख कुछ कठोर निर्णय लेती है जो उसका मित्र अजय (विनोद मेहरा) व अन्य शुक्ला परिवार सदस्यों को हैरान करती है| शेष कहानी में सीमा के इस निर्णय से शुक्ला परिवार में आनेवाले परिवर्तन को दिखाया गया है|

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]