घंसौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


घंसौर
घंसौर की मध्य प्रदेश के मानचित्र पर अवस्थिति
घंसौर
Location in Madhya Pradesh, India
घंसौर की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
घंसौर
घंसौर (भारत)
निर्देशांक: 22°39′N 79°57′E / 22.65°N 79.95°E / 22.65; 79.95निर्देशांक: 22°39′N 79°57′E / 22.65°N 79.95°E / 22.65; 79.95
Languages
 • OfficialHindi
आई॰एस॰ओ॰ ३१६६ कोडIN-MP
ClimateCwa

मध्यप्रदेश राज्य के सिवनी जिले में घंसौर एक छोटा कस्बा है। घंसौर तहसील एवं अनुविभागीय अधिकारी मुख्यालय है। घंसौर को जनपद पंचायत का दर्जा है। एक रेलवे स्टेशन है जो जबलपुर और बालाघाट को जोड़ने वाले दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे बिलासपुर जोन क्षेत्र में आता है। घंसौर से होकर स्टेट हाइवे गुजरता है जो पश्चिम की ओर लखनादौन से गुजरने वाले देश के उत्तर से दक्षिण के कारीडोर मार्ग को जोड़ता है जबकि पूर्व की ओर मंडला जिला मुख्यालय एवं रायपुर मार्ग को जोड़ता है व्यापारिक एवं औद्योगिक दृष्टि से मार्ग के जरिये मप्र की सिहोरा जबलपुर की लोहअयस्क खदानों से कच्चा माल रायपुर की स्टील निर्माता फैक्ट्रीयोंं में सप्लाई होता है। घंसौर मुख्यालय के नजदीक निजी स्वामित्व वाले अवंथा थापर ग्रुप का 600 MW पावर प्लांट स्थापित किया गया है मुख्यालय में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है और इसमें निजी और सार्वजनिक दोनों स्कूलों और कॉलेजों के नेटवर्क के साथ मजबूत सरकारी शिक्षा केंद्र है। यह लखनादौन सिवनी जबलपुर मंडला शहरों से बस सेवाओं से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

इतिहास[संपादित करें]

जनश्रुति के अनुसार घंसौर का सबसे प्राचीन बसाहट पुरानी बस्ती है। पहले यहां जंगल हुआ करता था। स्वर्गीय वैद्य श्री मोहनलाल दुबे जी के अनुसार "यहां जंगल में 3 अहीर (गोपालक) अपने पशुओं को लेकर आए थे। यह तीनों अपने पशुओं को लेकर डाढ़ाई नाला के समीप चराते और पानी आदि पिलाते थे किसी समय शेर को भनक लगने के कारण उसने धीरे-धीरे इन पशुओं पर आक्रमण करना आरंभ किया और उनकी रक्षा करते समय इनमें से दो की मृत्यु हो गई और उन्हें शेर ने खा लिया। भय के कारण शेष एक गोपालक ने कुछ दूर आगे वृक्षों को साफ करके यहां बरगद के नीचे खुदाई करके एक पत्थर की प्रतिमा प्राप्त करके स्थापित की और उसकी पूजा प्रार्थना करके कुछ भूमि का रक्षाबंधन करके खेरो की बसाहट आरंभ की। कालांतर में उसी के परिचित गोपालक यहां आए और अपना स्थान बनाया एवं कृषि करके रहने लगे।" इसके दक्षिण भाग में आकर बसे लोगों ने इसी बसाहट को "बस्ती" नाम से पुकारना आरंभ कर दिया। इसका नामकरण कब किसने कैसे किया, यह रहस्य अभी अज्ञात है। स्वर्गीय पण्डित श्री शिव प्रसाद शास्त्री के अनुसार "संभवत: श्रीनर्मदा जी की परिक्रमा करने वाले किसी विद्वान् तीर्थयात्री अथवा साधु सन्यासी द्वारा इसका नामकरण किया गया होगा। क्योंकि नर्मदा यात्रा मार्ग में स्थित लगभग सभी गांवों के नाम संस्कृत अथवा शुद्ध हिंदी में है संस्कृत व्याकरण के अनुसार इसका शुद्ध स्वरूप "घुणसौर" हो सकता है जिसमें तत्सम-तद्भव के आधार पर "ण" के स्थान पर "न" और "न" के स्थान पर "न्" तथा "सौ" के स्थान पर "सो" उच्चरित होता है। इससे धीरे धीरे लोग घुणसौर-घणसौर-घनसौर-घन्सौर-घंसौर-घंसोर कहने लिखने लगे।" सम्प्रति विकिपीडिया में इसका नामार्थ "छोटा स्वर्ग" उल्लिखित है।

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

22.65 डिग्री एन 79.95 डिग्री ई पर स्थित है।[[1]] इसकी औसत ऊंचाई 582 मीटर (1,90 9 फीट) है। यह शहर भारत के दिल में स्थित है। घनसौर मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में एक तहसील / ब्लॉक/थाना है। जनगणना 2011 की जानकारी के अनुसार घनसौर ब्लॉक का उप-जिला कोड 03661 है। घनसौर का कुल क्षेत्रफल 1,0 9 6 किमी² है जिसमें 1,0 9 3.31 वर्ग किमी ग्रामीण क्षेत्र और 5.16 वर्ग किमी शहरी क्षेत्र शामिल है। घनसौर की आबादी 1,42,662 लोगों की है। उप-जिले में 33,0 9 2 घर हैं। घनसौर ब्लॉक में 77 ग्राम पंचायत और लगभग 216 गांव हैं।

जलवायु[संपादित करें]

यातायात[संपादित करें]

यहां जबलपुर,नैनपुर,मंडला से ट्रेन द्वारा तथा लखनादौन,सिवनी,मंडला,जबलपुर,नैनपुर से बस द्वारा आया जाया सकता है। निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर है।

प्रशासन[संपादित करें]

घंसौर में एक ग्राम पंचायत कार्यालय होने के अलावा,जनपद पंचायत कार्यालय, पुलिस थाना, तहसील कार्यालय,अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), एसडीओपी कार्यालय, न्यायालय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग - 2 स्थित है।

चिकित्सा सुविधाएं[संपादित करें]

घंसौर मुख्यालय में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्थित है जबकि विकासखंड अंतर्गत कहानी, केदारपुर एवं दुर्जनपुर में अलग-अलग प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा ग्राम पंचायत स्तर पर उपस्वास्थ्य केंद्र स्थापित हैं।

शैक्षणिक केंद्र[संपादित करें]

प्राथमिक विद्यालय

  1. शासकीय आदर्श हरिजन शिशु मंदिर राम मंदिर
  2. शासकीय कन्या प्राथमिक विद्यालय, पुलिस थाना
  3. शासकीय कन्या शाला घंसौर गंज

माध्यमिक विद्यालय

  1. शासकीय नवीन कन्या माध्यमिक विद्यालय, पुलिस थाना
  2. शासकीय कन्या शाला, सब्जी बाजार
  3. सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल (प्राइवेट)

हाई स्कूल

  1. ज्ञानोदय विद्यापीठ रेलवे स्टेशन
  2. प्रज्ञा स्वावलंबन विद्यालय पुरानी बस्ती
  3. सरस्वती विद्या मंदिर शांति नगर
  4. अनामिका कॉन्वेंट शारदा मंदिर

उच्चतर माध्यमिक विद्यालय

  1. शासकीय उत्कृष्ट बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शांति नगर
  2. शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पुलिस थाना
  3. आदर्श एकलव्य आवासीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तहसील के पीछे
  4. भावा एकेडमी हायर सेकंडरी(इंग्लिश मीडियम) मेन रोड

महाविद्यालय

  1. शासकीय महाविद्यालय घंसौर

व्यापार[संपादित करें]

घंसौर नगर आसपास के ग्रामीणों एवं छोटे-मोटे व्यापारियों के लिए एक प्रमुख व्यापार केंद्र है यह रेल मार्ग एवं सड़क मार्ग दोनों से जुड़ा होने के कारण आसानी से अपनी पहुंच बना लेता है शुक्रवार को यहां सब्जी बाजार लगता है जिसमें छोटे-मोटे व्यापारी आकर अपनी स्थानीय उपज एवं खरीद को फुटकर मूल्य में बेचते हैं एवं ग्रामीण को उनकी आवश्यकता का सामान मिल जाता है। क्षेत्र के अधिकांश व्यापारी रेल मार्ग से जुड़े संभाग जबलपुर एवं पास के बड़े शहरों से खरीदारी करते हैं। यहां का मुख्य व्यापार जबलपुर शहर पर आधारित है।मुख्य रूप से यहां अनाज आभूषण कपड़ा किराना सब्जी एवं अन्य घरेलू उपयोग की वस्तुओ पर आधारित है

मुख्य धार्मिक स्थल[संपादित करें]

  1. राम मंदिर यह नगर का सर्व प्राचीन हिंदू मंदिर है जहां पर भगवान श्री राम जानकी लक्ष्मण के साथ हनुमान जी की मूर्ति प्रतिष्ठापित है दाएं ओर राधा कृष्ण की मूर्ति एवं बाएं ओर हनुमान जी की मूर्ति विराजित है सामने चबूतरे पर नर्मदेश्वर शिवलिंग स्थापित है जिनकी पूजा नगर के लोग बड़ी श्रद्धा से करते हैं यहां प्रति वर्ष रामनवमी का उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है एवं शोभायात्रा निकाली जाती है।
  2. खैरमाई मंदिर मंडला लखनादौन तिराहे पर स्थित यह मंदिर घंसौर के प्राचीन मंदिरों में से एक हैं ऐसा कहा जाता है कि प्राचीन काल में किसी गांव की बसाहट खेरो मंदिर से प्रारंभ होती थी इस मंदिर में खेरो दाई की पूजा की जाती है नवरात्र पर्व के दौरान उत्सव का माहौल रहता है।
  3. कुल्लू माता मंदिर
  4. राधाकृष्ण मंदिर
  5. शनि मंदिर
  6. बड़ा जैन मंदिर
  7. छोटा जैन मंदिर
  8. राधाकृष्ण मंदिर
  9. साईं मंदिर
  10. दुर्गा मंदिर
  11. सिद्ध बाबा मंदिर
  12. पंचमुख गणेश मंदिर
  13. हनुमान मंदिर (डढई)
  14. काली मंदिर
  15. हनुमान मंदिर थाना
  16. हनुमान मंदिर तहसील
  17. श्रीनर्मदा तट यहां से लगभग 20 km दूर बगदरी गांव में बरगी बांध का नर्मदा नदी का जल जमा होता है जिसके तट पर लोग मकर संक्रांति एवं अन्य धार्मिक पर्वों में आकर स्नान दान पूजन आदि करते हैं।

प्रमुख उत्सव[संपादित करें]

घंसौर में प्रत्येक वर्ष अनेक प्रकार के उत्सव मनाये जाते हैं जैसे गणेश उत्सव दुर्गोत्सव रामनवमी कृष्ण जन्माष्टमी झांकी शोभायात्राएं होली दीपावली जवारे विसर्जन राव़ण दहन मड़ई मेला सांस्कृतिक कार्यक्रम गीत संगीत भजन जस गरबा नृत्य प्रतियोगिता आदि। इन सभी कार्यक्रमों में लोग जोर जोर से इकट्ठे होकर खुशियां मनाते हैं एवं सामाजिक एकता की मिसाल प्रस्तुत करते हैं।

जल स्रोत[संपादित करें]

घंसौर मुख्यालय में जलापूर्ति का माध्यम जल संसाधन विभाग का मोहगांव जलाशय है जिसके जरिये नलजल योजना संचालित होती है घंसौर के आसपास जलसंसाधन विभाग द्वारा निचली, मानेगांव, हिरनभटा, अतरिया, अमोदा, उदयपुर, सरोरा जलाशय बनाये गये हैं जिनके माध्यम से पेयजल एवं सिंचाई योजनाएं संचालित हैं दिवारी, मेहता, कहानी तालाब भी प्रसिद्ध हैं।

विद्युत व्यवस्था[संपादित करें]

शहर के उत्तर भाग में जबलपुर मार्ग पर एक विद्युत सब स्टेशन है। यहां से समस्त शहर में विद्युत का वितरण होता है।

संदर्भ[संपादित करें]

https://web.archive.org/web/20190127152947/https://en.m.wikipedia.org/wiki/Ghansor