घंसौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
घंसौर
Ghansaur / Ghansor
घंसौर is located in मध्य प्रदेश
घंसौर
घंसौर
मध्य प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 22°39′29″N 79°56′56″E / 22.658°N 79.949°E / 22.658; 79.949निर्देशांक: 22°39′29″N 79°56′56″E / 22.658°N 79.949°E / 22.658; 79.949
देश भारत
राज्यमध्य प्रदेश
ज़िलासिवनी ज़िला
क्षेत्रफल
 • शहर1096 किमी2 (423 वर्गमील)
 • नगरीय5.16 किमी2 (1.99 वर्गमील)
 • देहात1091.31 किमी2 (421.36 वर्गमील)
क्षेत्र दर्जानगरीय/ग्रामीण
जनसंख्या (2011)
 • शहर7,120
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड480997
दूरभाष कोड07693
वाहन पंजीकरणMP-22

घंसौर (Ghansaur) भारत के मध्य प्रदेश राज्य के सिवनी ज़िले में स्थित एक नगर है। यह इसी नाम की तहसील का मुख्यालय भी है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

घंसौर एक छोटा कस्बा और ग्राम पंचायत है। तहसील एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस का मुख्यालय है, व्यवहार न्यायालय संचालित है, घंसौर को जनपद पंचायत का दर्जा है। एक रेलवे स्टेशन है जो जबलपुर और गोंदिया को जोड़ने वाले दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे बिलासपुर जोन क्षेत्र में आता है। घंसौर से होकर स्टेट हाइवे गुजरता है जो पश्चिम की ओर लखनादौन से गुजरने वाले देश के उत्तर से दक्षिण के कारीडोर मार्ग को जोड़ता है जबकि पूर्व की ओर मंडला जिला मुख्यालय एवं रायपुर मार्ग को जोड़ता है व्यापारिक एवं औद्योगिक दृष्टि से मार्ग के जरिये मप्र की सिहोरा जबलपुर की लोहअयस्क खदानों से कच्चा माल रायपुर की स्टील निर्माता फैक्ट्रीयोंं में सप्लाई होता है। घंसौर मुख्यालय के नजदीक निजी स्वामित्व वाले अवंथा थापर ग्रुप झाबुआ पावर लिमिटेड का 600 MW पावर प्लांट स्थापित किया गया है जबकि 660 MW की नवीन इकाई प्रस्तावित है मुख्यालय में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है और इसमें निजी और सार्वजनिक दोनों स्कूलों और कॉलेजों के नेटवर्क के साथ मजबूत सरकारी शिक्षा केंद्र है। यह लखनादौन सिवनी जबलपुर मंडला शहरों से बस सेवाओं से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

इतिहास[संपादित करें]

घंसौर विकासखंड क्षेत्र का इतिहास कलचुरी काल और गोंडवाना से जोड़कर देखा जाता है कलचुरी काल एवं गोंड कालीन मूर्तियां एवं पत्थर पुरातत्व विभाग को प्राप्त हुए हैं वहीं जनश्रुति के अनुसार घंसौर मुख्यालय में सबसे प्राचीन बसाहट पुरानी बस्ती है। पहाड़ी घराने से सिसोदिया राजपूत घंसौर क्षेत्र के जमींदार हुआ करते थे। पहले यहां जंगल हुआ करता था। स्वर्गीय श्री मोहनलाल दुबे जी के अनुसार यहां जंगल में 3 अहीर (गोपालक) अपने पशुओं को लेकर आए थे। इनमें 2 को शेर ने कालांतर में खा गया। शेष 1 अहीर ने यहां खेरो की बसाहट करके बरगद वृक्ष के नीचे खुदाई करके एक पत्थर की प्रतिमा प्राप्त करके स्थापित की। बाद में इसके दक्षिण भाग में आकर बसे लोगों ने इसी बसाहट को "बस्ती" नाम से पुकारना आरंभ कर दिया। इसका नामकरण किसने कैसे किया, यह रहस्य अभी अज्ञात है। संस्कृत व्याकरण के अनुसार इसका शुद्ध स्वरूप "घुणसौर" हो सकता है जिसमें तत्सम-तद्भव के आधार पर "ण" के स्थान पर "न" और "न" के स्थान पर "न्" तथा "सौ" के स्थान पर "सो" उच्चरित होता है। इससे धीरे धीरे लोग घुणसौर-घणसौर-घनसौर-घन्सौर-घंसौर-घंसोर कहने लिखने लगे। सम्प्रति विकिपीडिया में इसका नामार्थ "छोटा स्वर्ग" उल्लिखित है।

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

22.65 डिग्री एन 79.95 डिग्री ई पर स्थित है।[[1]] इसकी औसत ऊंचाई 582 मीटर (1,90 9 फीट) है। यह शहर भारत के दिल में स्थित है। घनसौर मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में एक तहसील / ब्लॉक/थाना है। जनगणना 2011 की जानकारी के अनुसार घनसौर ब्लॉक का उप-जिला कोड 03661 है। घनसौर का कुल क्षेत्रफल 1,0 9 6 किमी² है जिसमें 1,0 9 3.31 वर्ग किमी ग्रामीण क्षेत्र और 5.16 वर्ग किमी शहरी क्षेत्र शामिल है। घनसौर की आबादी 1,42,662 लोगों की है। उप-जिले में 33,0 9 2 घर हैं। घनसौर ब्लॉक में लगभग 230 गांव हैं।

यातायात[संपादित करें]

यहां जबलपुर,नैनपुर,मंडला से ट्रेन द्वारा तथा लखनादौन,सिवनी,मंडला,जबलपुर,नैनपुर से बस द्वारा आया जाया सकता है। निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर है।

प्रशासन[संपादित करें]

घंसौर में एक ग्राम पंचायत कार्यालय होने के अलावा,जनपद पंचायत कार्यालय, पुलिस थाना, तहसील कार्यालय,अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), एसडीओपी कार्यालय, न्यायालय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग - 2 स्थित है।

चिकित्सा सुविधाएँ[संपादित करें]

घंसौर मुख्यालय में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्थित है जबकि विकासखंड अंतर्गत कहानी, केदारपुर एवं दुर्जनपुर में अलग-अलग प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा ग्राम पंचायत स्तर पर उपस्वास्थ्य केंद्र स्थापित हैं।

शैक्षणिक केंद्र[संपादित करें]

प्राथमिक विद्यालय[संपादित करें]

  • शासकीय आदर्श हरिजन शिशु मंदिर राम मंदिर
  • शासकीय कन्या प्राथमिक विद्यालय, पुलिस थाना
  • शासकीय कन्या शाला घंसौर गंज

माध्यमिक विद्यालय[संपादित करें]

  • शासकीय नवीन कन्या माध्यमिक विद्यालय, पुलिस थाना
  • शासकीय कन्या शाला, सब्जी बाजार
  • सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल (प्राइवेट)

हाई स्कूल[संपादित करें]

  • ज्ञानोदय विद्यापीठ रेलवे स्टेशन
  • प्रज्ञा स्वावलंबन विद्यालय पुरानी बस्ती
  • सरस्वती विद्या मंदिर शांति नगर
  • अनामिका कॉन्वेंट शारदा मंदिर

उच्चतर माध्यमिक विद्यालय[संपादित करें]

  • शासकीय उत्कृष्ट बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शांति नगर
  • शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पुलिस थाना
  • आदर्श एकलव्य आवासीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तहसील के पीछे
  • भावा एकेडमी हायर सेकंडरी(इंग्लिश मीडियम) मेन रोड

महाविद्यालय[संपादित करें]

  • शासकीय महाविद्यालय घंसौर

व्यापार[संपादित करें]

घंसौर नगर आसपास के ग्रामीणों एवं छोटे-मोटे व्यापारियों के लिए एक प्रमुख व्यापार केंद्र है यह रेल मार्ग एवं सड़क मार्ग दोनों से जुड़ा होने के कारण आसानी से अपनी पहुंच बना लेता है शुक्रवार को यहां सब्जी बाजार लगता है जिसमें छोटे-मोटे व्यापारी आकर अपनी स्थानीय उपज एवं खरीद को फुटकर मूल्य में बेचते हैं एवं ग्रामीण को उनकी आवश्यकता का सामान मिल जाता है। क्षेत्र के अधिकांश व्यापारी रेल मार्ग से जुड़े संभाग जबलपुर एवं पास के बड़े शहरों से खरीदारी करते हैं। यहां का मुख्य व्यापार जबलपुर शहर पर आधारित है।मुख्य रूप से यहां अनाज आभूषण कपड़ा किराना सब्जी एवं अन्य घरेलू उपयोग की वस्तुओ पर आधारित है

मुख्य धार्मिक स्थल[संपादित करें]

  • राम मंदिर - यह नगर का सर्व प्राचीन हिंदू मंदिर है जहां पर भगवान श्री राम जानकी लक्ष्मण के साथ हनुमान जी की मूर्ति प्रतिष्ठापित है दाएं ओर राधा कृष्ण की मूर्ति एवं बाएं ओर हनुमान जी की मूर्ति विराजित है सामने चबूतरे पर नर्मदेश्वर शिवलिंग स्थापित है जिनकी पूजा नगर के लोग बड़ी श्रद्धा से करते हैं यहां प्रति वर्ष रामनवमी का उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है एवं शोभायात्रा निकाली जाती है।
  • खैरमाई मंदिर - मंडला लखनादौन तिराहे पर स्थित यह मंदिर घंसौर के प्राचीन मंदिरों में से एक हैं ऐसा कहा जाता है कि प्राचीन काल में किसी गांव की बसाहट खेरो मंदिर से प्रारंभ होती थी इस मंदिर में खेरो दाई की पूजा की जाती है नवरात्र पर्व के दौरान उत्सव का माहौल रहता है।
  • कुल्लू माता मंदिर
  • राधाकृष्ण मंदिर
  • शनि मंदिर
  • बड़ा जैन मंदिर
  • छोटा जैन मंदिर
  • राधाकृष्ण मंदिर
  • साईं मंदिर
  • दुर्गा मंदिर
  • सिद्ध बाबा मंदिर
  • पंचमुख गणेश मंदिर
  • हनुमान मंदिर (डढई)
  • काली मंदिर
  • हनुमान मंदिर थाना
  • हनुमान मंदिर तहसील
  • श्रीनर्मदा तट यहां से लगभग 20 km दूर बगदरी गांव में बरगी बांध का नर्मदा नदी का जल जमा होता है जिसके तट पर लोग मकर संक्रांति एवं अन्य धार्मिक पर्वों में आकर स्नान दान पूजन आदि करते हैं।

प्रमुख उत्सव[संपादित करें]

घंसौर में प्रत्येक वर्ष अनेक प्रकार के उत्सव मनाये जाते हैं जैसे गणेश उत्सव दुर्गोत्सव रामनवमी कृष्ण जन्माष्टमी झांकी शोभायात्राएं होली दीपावली जवारे विसर्जन राव़ण दहन मड़ई मेला सांस्कृतिक कार्यक्रम गीत संगीत भजन जस गरबा नृत्य प्रतियोगिता आदि। इन सभी कार्यक्रमों में लोग जोर जोर से इकट्ठे होकर खुशियां मनाते हैं एवं सामाजिक एकता की मिसाल प्रस्तुत करते हैं।

जल स्रोत[संपादित करें]

घंसौर मुख्यालय में जलापूर्ति का माध्यम जल संसाधन विभाग का मोहगांव जलाशय है जिसके जरिये नलजल योजना संचालित होती है घंसौर के आसपास जलसंसाधन विभाग द्वारा निचली, मानेगांव, हिरनभटा, अतरिया, अमोदा, उदयपुर, सरोरा जलाशय बनाये गये हैं जिनके माध्यम से पेयजल एवं सिंचाई योजनाएं संचालित हैं दिवारी, मेहता, कहानी तालाब भी प्रसिद्ध हैं।

विद्युत व्यवस्था[संपादित करें]

शहर के उत्तर भाग में जबलपुर मार्ग पर एक विद्युत सब स्टेशन है। यहां से समस्त शहर में विद्युत का वितरण होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]