खोर्धा जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
खोर्धा
—  जिला  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य ओडिशा
जनसंख्या 18,77,395 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 75 मीटर (246 फी॰)

Erioll world.svgनिर्देशांक: 20°11′N 85°37′E / 20.18°N 85.62°E / 20.18; 85.62

खोरधा या खुर्दा भारत के ओड़िशा प्रान्त का एक जिला है। इसका मुख्यालय खुर्दा शहर है। प्रारंभ में खुरदा के नाम से मशहूर उड़ीसा का खोरधा जिला 2889 वर्ग किमी. के क्षेत्र में फैला हुआ है। दया और कूखई यहां से बहने वाली प्रमुख नदियां हैं। इस जिले का निर्माण 1 अप्रैल 1993 को पुरी और नयागढ़ जिले को काटकर किया गया था। उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर इस जिले के अन्तर्गत ही आती है। खोरधा आरंभ में उड़ीसा शासकों की राजधानी थी। यह जिला कुटीर उद्योगों, चरखा मिल, केबल फैक्ट्री, रेलवे कोच रिपेयरिंग फैक्ट्री और तेल उद्योग के लिए लोकप्रिय है। अत्री, बानपुर, बरूनई हिल, चिलिका, हीरापुर और नंदनकानन अभ्यारण्य जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं।

भूगोल[संपादित करें]

यह भी खुर्दा जिले का जिला मुख्यालय है। दया और कुआखाई नदियों खुर्दा के माध्यम से प्रवाह होती है। वन क्षेत्र : ६१८.६७ वर्ग किमी की है।

जलवायु[संपादित करें]

तापमान: 41.4 (अधिकतम ), 9.5 (न्यूनतम) [2] वर्षा: 1443 मिमी (औसत)

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

यह अपने पीतल के बर्तन कुटीर उद्योगों , केबल फैक्टरी , कताई मिलों , घड़ी की मरम्मत कारखाना , रेलवे कोच मरम्मत कारखाना , ऑयल इंडस्ट्रीज , कोका कोला बॉटलिंग संयंत्र और छोटे धातु उद्योगों के लिए प्रसिद्ध है।

प्रभागों[संपादित करें]

  • संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों : २
  • विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों : ६
  • उप प्रभागों : २
  • गांव : १५६१
  • ब्लाक : १०
  • ग्राम पंचायत : १६८
  • तहसील : ८
  • कस्बा: ५
  • नगर पालिका : २
  • नगर निगम : १
  • N.A.C : २

पर्यटकों के आकर्षण और निकटवर्ती स्थानों[संपादित करें]

  • आरीकमा : बोलगड ब्लॉक के तहत गांव आरीकमा जंगल में मां कोशालशूणी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।
  • अट्रि: यह अपने सल्फर - पानी के झरने और प्रभु हटकेश्वर (भगवान शिव) को समर्पित एक मंदिर के लिए प्रसिद्ध है ।
  • बाणपुर : मां भागबती के लिए (हिंदू देवी मां दुर्गा के अवतार में से एक) मंदिर प्रसिद्ध है।
  • बरूणेइ : यह मंदिर प्रसिद्ध बरूणेइ पहाड़ियों पर स्थित है। यह भुवनेश्वर से २८ किलोमीटर की दूरी पर है ।
    बरूणेइ मंदिर
  • खंडगिरि और उदयगिरी : ये जुड़वां पहाड़ियो भुवनेश्वर में स्थित हैं। इन जुड़वां पहाड़ियों में ११७ गुफा रहे हैं।
  • लिंगराज मंदिर: लिंगराज मंदिर ओडिशा में सबसे बड़ा और सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर है।
  • शिखर चंडी : यह नंदनकानन की ओर भुवनेश्वर से १५ किमी की दूरी पर स्थित है। पहाड़ी के ऊपर देवी चंडी को समर्पित एक मंदिर है, जो इस जगह का मुख्य आकर्षण है।
  • मां उगरा तारा
    डेरास बांध
  • नंदनकानन चिड़ियाघर : यह भुवनेश्वर से २० किमी की दूरी पर स्थित ओडिशा के एक प्रसिद्ध चिड़ियाघर है।
  • डेरास और झुमका : ये भुवनेश्वर से १५ किमी की दूरी पर स्थित दो सुंदर पिकनिक स्पॉट हैं । वे एक घने जंगल से घिरा दो बांध हैं।

राजनीति[संपादित करें]

विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र[संपादित करें]

खोर्धा जिला निम्नलिखित ८ विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों में विभाजीत है।

  • जयदेव
  • भुवनेश्वर सेंट्रल
  • भुवनेश्वर उत्तर
  • एकाम्र
  • जटणि
  • खुर्दा
  • चिलिका

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी सम्पर्क[संपादित करें]