ओड़िशा में पर्यटन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ओडिशा में पर्यटन, भारत सुंदर स्थानों , विदेशी संस्कृतियों , गर्म और दोस्ताना लोगों का एक अद्वितीय संयोजन है। ५०० किलोमीटर (३5० मील) लंबे समुद्र तट , विशाल पर्वतों , शांत झीलों और नदियों के साथ , ओडिशा भारत की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। ओडिशा भारत के प्रमुख पर्यटन क्षेत्रों में से एक है , वन्य जीवन भंडार , समुद्र तटों , मंदिरों, स्मारकों , कला और त्योहारों, के कारण ओडिशा हाल के वर्षों में पर्यटकों के आकर्षण के लिए अच्छी जगह बन गई है। ओडिशा पर्यटन ओडिशा की अर्थव्यवस्था का मुख्य भूमिकाओं में से एक है। ओडिशा पर्यटन पूरे भारत में और विदेशों में से पर्यटकों को ओडिशा आने में आकर्षित करता है।

प्रमुख आकर्षण[संपादित करें]

मंदिर[संपादित करें]

ऐश्वनेश्वर शिव मंदिर[1] अजैकपडा भैरव मंदिर अखडचंडी मंदिर अलारनाथ मंदिरा अनंतशाई विष्णु मंदिर अनंत वासुदेव मंदिर अनकोटेश्वर मंदिर अष्टशम्भु मंदिर

समुद्र तटों[संपादित करें]

ओडिशा में 500 किमी की लंबी तटरेखा है। [2]

  • चांदीपुर समुद्र तट
    पुरी समुद्रतट
  • चिलिका झील
  • गहिरमाथा तट
  • गोपालपुर समुद्र तट
  • कोणार्क समुद्रतट
  • पुरी समुद्रतट
  • तलशारी समुद्रतट

बौद्ध स्मारकों[संपादित करें]

  • धौली
  • ललितगिरि
  • रत्नागिरी
  • सांची
  • उदयगिरि

किलों[संपादित करें]

  • बाराबती किला
  • चुडन्ग गड
  • राईबणिआ किला
  • शिशुपालगड

संग्रहालय[संपादित करें]

  • ओडिशा राज्य संग्रहालय
  • प्राकृतिक क्षेत्रीय ,इतिहास के संग्रहालय भुवनेश्वर
  • जनजातीय अनुसंधान संस्थान के संग्रहालय

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

आधार[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 31 दिसंबर 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2015.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 3 जनवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2015.