कोरोनावायरस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कोरोनावायरस
Coronavirus
Coronaviruses 004 lores.jpg
2019-nCoV-CDC-23312.png
2019 nCoV virion का चित्र द्वारा प्रदर्शन
विषाणु वर्गीकरण
Group: Group IV ((+)एसएसआरएनए)
अधिजगत: वायरस
(Virus)
जगत: राइबोविरिया
(Riboviria)
संघ: अनिश्चित
गण: नीडोविरालीस
(Nidovirales)
कुल: कोरोनाविरिडाए
(Coronaviridae)
उपकुल: ऑर्थोकोरोनाविरिनाए
(Orthocoronavirinae)
वंश

कोरोनावायरस (Coronavirus) कई प्रकार के विषाणुओं (वायरस) का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग उत्पन्न करता है। यह आरएनए वायरस होते हैं। इनके कारण मानवों में श्वास तंत्र संक्रमण पैदा हो सकता है जिसकी गहनता हल्की (जैसे सर्दी-जुकाम) से लेकर अति गम्भीर (जैसे, मृत्यु) तक हो सकती है। [1][2][3] गाय और सूअर में इनके कारण अतिसार हो सकता है जबकि इनके कारण मुर्गियों के ऊपरी श्वास तंत्र के रोग उत्पन्न हो सकते हैं। इनकी रोकथाम के लिए कोई टीका (वैक्सीन) या विषाणुरोधी (antiviral) अभी उपलब्ध नहीं है और उपचार के लिए प्राणी की अपने प्रतिरक्षा प्रणाली पर निर्भर करता है। अभी तक रोगलक्षणों (जैसे कि निर्जलीकरण या डीहाइड्रेशन, ज्वर, आदि) का उपचार किया जाता है ताकि संक्रमण से लड़ते हुए शरीर की शक्ति बनी रहे।

चीन के वूहान शहर से उत्पन्न होने वाला 2019 नोवेल कोरोनावायरस इसी समूह के वायरसों का एक उदहारण है, जिसका संक्रमण सन् 2019-20 काल में तेज़ी से उभरकर 2019–20 वुहान कोरोना वायरस प्रकोप के रूप में फैलता जा रहा है।[4][5][6] हाल ही में WHO ने इसका नाम COVID-19 रखा।[7]

नामोत्पत्ति[संपादित करें]

लातीनी भाषा में "कोरोना" का अर्थ "मुकुट" होता है और इस वायरस के कणों के इर्द-गिर्द उभरे हुए कांटे जैसे ढाँचों से इलेक्ट्रान सूक्षमदर्शी में मुकुट जैसा आकार दिखता है, जिस पर इसका नाम रखा गया था। सूर्य ग्रहण के समय चंद्रमा सूर्य को ढक लेता है तो चन्द्रमा के चारों ओर किरण निकलती प्रतीत होती है उसको भी कोरोना कहते हैं।

सार्स-कोव २ (नोवल कोरोनावायरस)[संपादित करें]

यह वायरस भी जानवरों से आया है। ज्यादातर लोग जो चीन शहर के केंद्र में स्थित हुआनन सीफ़ूड होलसेल मार्केट में खरीदारी के लिए आते हैं या फिर अक्सर काम करने वाले लोग जो जीवित या नव वध किए गए जानवरों को बेचते थे जो इस वायरस से संक्रमित थे। चूँकि यह वुहान, चीन से शुरु हुआ, इसलिये इसे वुहान कोरोनावायरस के नाम से भी जाना जाता है। हालाँकि डब्ल्यूएचओ ने इसका नाम सार्स-कोव २ (SARS- CoV 2) रखा है।

जैविकी[संपादित करें]

पदविज्ञान[संपादित करें]

ये बड़े गोलाकार कणों के रूप में होते हैं।[8] वायरस के कणों का व्यास लगभग 120 नैनोमीटर होता है।[9] वायरल कैप्सूल में एक लिपिड बाईलेयर होती है। जहां मेम्ब्रेन(झिल्ली), आवरण, और स्पाइक संरचनात्मक प्रोटीन डले होते हैं।[10] कोरोना वायरस का एक उपसमूह (विशेष रूप से betacoronavirus उपसमूह A के सदस्य) हेमग्लगुटिनिन एस्टरेज़ नामक एक छोटा स्पाइक जैसी सतह भी प्रोटीन है।

कैप्सूल के अंदर न्यूक्लियोकैप्सिड होते है, जो कि न्यूक्लियोकैप्सिड (एन) प्रोटीन की कई प्रतियों से बनता है। ये RNA युक्त विषाणु होते हैं।[11] जब यह होस्ट सेल के बाहर होता है तो लिपिड बाईलेयर कैप्सूल, झिल्ली प्रोटीन और न्यूक्लियोकैप्सिड वायरस की रक्षा करते हैं।[12]

जीनोम[संपादित करें]

इस विषाणु में एकल आरएनए युक्त जीनोम पाया जाता है। कोरोनावायरस के जीनोम का आकार लगभग 27 से 34 किलोबेस तक होता है।[13]

रोकथाम[संपादित करें]

भारत[संपादित करें]

भारत में इसके रोकथाम के लिये सभी गैर आवश्यक कार्य रोक दिये गये हैं, और लोगों को अपने घरों में रहने के निर्देश दिये गये हैं। वर्तमान में बचाव ही इसका इलाज है। इसी को देखते हुए भारत सरकार ने पूरे देश में 17 मई तक लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी, जिसे बढ़ा कर 31 मई कर दिया गया।[14]

टीम ११[संपादित करें]

कोरोना महामारी से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में टीम ११ का गठन किया गया है। जिसका उद्देश्य देश में फैले कोरोनावायरस से बचाव के लिए लोगों तक जरूरी सामग्री को पहुँचाना है।[15]

आवश्यक पहल[संपादित करें]

असम में स्टेडियम में आइसोलेशन सेंटर बनाने की पहल की गई।

चीन[संपादित करें]

चीन में बीमारी को रोकने के लिये हुबेई प्रांत के वुहान में ७६ दिनों की बंदी रखी गई थी।

संयुक्त राज्य अमेरिका (यूनाईटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका)[संपादित करें]

कोरोना के कारण अमेरिका को सबसे अधिक नुकसान का सामना करना पड़ा। अमेरिका में 80 हजार लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है। अब कोरोनावायरस के कारण अमेरिका को पूरी तरह से लॉक डॉउन करना पड़ा। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा की कोरोना अमेरिका पर पर्ल हार्बर और 9/11 के आतंकी हमले से बड़ा हमला है।

सबसे अधिक प्रभावित देशों की सूची[संपादित करें]

सबसे अधिक प्रभावित देशों की सूची नीचे दी गई है। [16]

क्रम संख्या

(संक्रमण अनुसार)

देश कुल संक्रमित व्यक्ति पूर्ण रूप से ठीक हुए व्यक्ति कुल मृत्यु
1 Flag of the United States.svg संयुक्त राज्य 1620902 382169 96354
2 Flag of Spain.svg स्पेन 280117 196958 27940
3 Flag of Italy.svg इटली 228006 134560 32486
4 Flag of France.svg फ़्रान्स 181826 63858 28215
5 Flag of Germany.svg जर्मनी 179021 158000 8309
16 Flag of India.svg भारत 118501 48553 3585
कुल विश्व 5197863 2082950 334680


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Virus Taxonomy: 2018b Release". International Committee on Taxonomy of Viruses (ICTV) (अंग्रेज़ी में). March 2019. मूल (html) से 4 March 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 January 2020.
  2. de Groot RJ, Baker SC, Baric R, Enjuanes L, Gorbalenya AE, Holmes KV, Perlman S, Poon L, Rottier PJ, Talbot PJ, Woo PC, Ziebuhr J (2011). "Family Coronaviridae". प्रकाशित AMQ King, E Lefkowitz, MJ Adams, EB Carstens (संपा॰). Ninth Report of the International Committee on Taxonomy of Viruses. Elsevier, Oxford. पपृ॰ 806–828. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-12-384684-6.
  3. International Committee on Taxonomy of Viruses (24 August 2010). "ICTV Master Species List 2009 – v10" (xls).
  4. "中国疾病预防控制中心" (Chinese में). People's Republic of China: Chinese Center for Disease Control and Prevention. अभिगमन तिथि 9 January 2020.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  5. "New-type coronavirus causes pneumonia in Wuhan: expert". People's Republic of China. Xinhua. अभिगमन तिथि 9 January 2020.
  6. "CoV2020". platform.gisaid.org. अभिगमन तिथि 12 January 2020.
  7. Habibzadeh, Parham; Stoneman, Emily K. (2020-02-05). "The Novel Coronavirus: A Bird's Eye View". The International Journal of Occupational and Environmental Medicine (अंग्रेज़ी में). 11 (2): 65–71. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 2008-6520. डीओआइ:10.15171/ijoem.2020.1921.
  8. Goldsmith, Cynthia S.; Tatti, Kathleen M.; Ksiazek, Thomas G.; Rollin, Pierre E.; Comer, James A.; Lee, William W.; Rota, Paul A.; Bankamp, Bettina; Bellini, William J.; Zaki, Sherif R. (2004). "Ultrastructural Characterization of SARS Coronavirus". Emerging Infectious Diseases. पपृ॰ 320–326. डीओआइ:10.3201/eid1002.030913. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  9. Fehr, Anthony R.; Perlman, Stanley (12 फरवरी 2015). "Coronaviruses: An Overview of Their Replication and Pathogenesis". Coronaviruses. पपृ॰ 1–23. डीओआइ:10.1007/978-1-4939-2438-7_1. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  10. Mm, Lai; D, Cavanagh (1997). "The Molecular Biology of Coronaviruses". Advances in virus research (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  11. Fehr, Anthony R.; Perlman, Stanley (12 फरवरी 2015). "Coronaviruses: An Overview of Their Replication and Pathogenesis". Coronaviruses. पपृ॰ 1–23. डीओआइ:10.1007/978-1-4939-2438-7_1. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  12. Neuman, Benjamin W.; Kiss, Gabriella; Kunding, Andreas H.; Bhella, David; Baksh, M. Fazil; Connelly, Stephen; Droese, Ben; Klaus, Joseph P.; Makino, Shinji; Sawicki, Stanley G.; Siddell, Stuart G.; Stamou, Dimitrios G.; Wilson, Ian A.; Kuhn, Peter; Buchmeier, Michael J. (2011). "A structural analysis of M protein in coronavirus assembly and morphology". Journal of Structural Biology. पपृ॰ 11–22. डीओआइ:10.1016/j.jsb.2010.11.021. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  13. Sexton, Nicole R.; Smith, Everett Clinton; Blanc, Hervé; Vignuzzi, Marco; Peersen, Olve B.; Denison, Mark R. (27 जुलाई 2016). "Homology-Based Identification of a Mutation in the Coronavirus RNA-Dependent RNA Polymerase That Confers Resistance to Multiple Mutagens". Journal of Virology. पपृ॰ 7415–7428. डीओआइ:10.1128/JVI.00080-16. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2020.
  14. "Lockdown". आज तक. अभिगमन तिथि 1 मई 2020.
  15. "कोरोना पर CM योगी आदित्यनाथ की टीम 11, मंत्री ने घर पर बनाया कंट्रोल रूम". आज तक.
  16. https://www.worldometers.info/coronavirus/

यह भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]