कोटद्वार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कोटद्वार
—  नगर  —
View of कोटद्वार, भारत
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य उत्तराखण्ड
ज़िला पौड़ी जिला
जनसंख्या 1,35,000 (अनुमानित) (2018 तक )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 454 मीटर (1,490 फी॰)

निर्देशांक: 29°45′N 78°32′E / 29.75°N 78.53°E / 29.75; 78.53

कोटद्वार उत्तराखण्ड राज्य के गढ़वाल मण्डल में स्थित पौड़ी जिले का एक मुख्य नगर है। इसे 'गढ़वाल का प्रवेशद्वार' भी कहा जाता है। कोटद्वार से दुगड्डा और लैंसडौन होते हुए पौड़ी तथा श्रीनगर तक पहुंचा जा सकता है।

खोह नदी के तट पर स्थित यह नगर इतिहास में 'खोहद्वार' नाम से भी जाना जाता था। नगर का विकास वैसे तो १८९० में रेल के आगमन से ही शुरू हो गया था, किन्तु वास्तविक बसावट प्रमुखतः ५० के दशक में नगर पालिका के निर्माण के बाद ही हुई।

२०११ की जनगणना के अनुसार नगर की जनसंख्या ३३,०३५ थी। २०१७ में उत्तराखण्ड शासन द्वारा ऋषिकेश के साथ साथ कोटद्वार को भी नगर निगम घोषित कर दिया गया। नगर निगम बनने के बाद नगर क्षेत्र में ७३ ग्रामों को शामिल किया गया, तथा इसकी जनसंख्या १,३५,००० तक पहुंच गई।

इतिहास[संपादित करें]

१७८४-९४ में कोटद्वार नगर का दृश्य

कोटद्वार का पुराना नगर खोह तथा गिवइन शोत नदियों के संगम पर स्थित था।[1]:१३४ १८९७ रेलवे लाइन बन जाने के बाद नगर धीरे धीरे दाईं ओर बढ़ने लगा, और खोह नदी की पश्चिमी दिशा की ओर विकसित होने लगा।[2]:१२८ १९०१ में कोटद्वार को नगर का दर्जा दिया गया था,[3]:३५६ तथा उसी वर्ष हुई प्रथम जनगणना में नगर की जनसंख्या १०२९ थी। १९०९ में कोटद्वार को लैंसडौन से जोड़ने वाली सड़क का निर्माण सम्पन्न हुआ।[2]:१२८ इसके बाद लैंसडौन तथा दोगड्डा नगरों के परस्पर विकास के कारण कोटद्वार में काफी पलायन हुआ, और १९२१ में कोटद्वार की जनसंख्या मात्र ३९६ रह गयी; जिसके कारण १९२१ में ही नगर को अवर्गीकृत कर ग्राम घोषित कर दिया गया।[1]:१७४

१९४०-४१ में कोटद्वार किसी छोटे गाँव के सामान था। द्वितीय विश्व युद्ध के समय नगर क्षेत्र में काफी विकास हुआ, और १९४९ में इसे पुनः 'नोटिफाइड एरिया' घोषित कर दिया गया।[1]:१७३ १९५१ में कोटद्वार नगर पालिका की स्थापना हुई, और १९५१-५५ में नगरपालिका के प्रमुख इंजीनियर, के.सी. माथुर ने नगर का पहला मास्टर प्लान बनाया।[1] इस मास्टर प्लान के तहत सबसे पहले रेलवे स्टेशन के आस पास के क्षेत्रों को विकसित किया गया, और उसके बाद नगर को धीरे धीरे उत्तर की ओर बद्रीनाथ मार्ग के दोनों तरफ बढ़ाया गया।[1]:१७३ बड़ी मस्जिद के इर्द-गिर्द भी आवासीय क्षेत्र बसाये गए। १९५५ में पालिका कार्यालय के समीप एक उद्यान स्थापित किया गया।[1]:१७३ १९५८-५९ में नगर का विद्युतिकरण किया गया।[2]:१३४

जलवायु[संपादित करें]

कोटद्वार की जलवायु समशीतोष्ण है, हालांकि यह मौसम के आधार पर बदलती रहती है। पास के पहाड़ी क्षेत्रों में अक्सर सर्दियों में बर्फबारी देखी जाती है, लेकिन कोटद्वार में तापमान ० डिग्री सेल्सियस से नीचे गिरते नहीं देखा गया है। ग्रीष्मकालीन तापमान अक्सर ४३ डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाते हैं, जबकि सर्दियों के तापमान आमतौर पर ४ और २० डिग्री सेल्सियस के बीच होते हैं। मानसून के मौसम में अक्सर भारी और लंबी वर्षा होती है। पास में ही स्थित पहाड़ी क्षेत्रों के कारण सर्दियों में मौसम अच्छा रहता है। भरपूर वर्षा और पर्याप्त जल निकासी के कारण नगर की मिट्टी उपजाऊ है।

कोटद्वार के जलवायु आँकड़ें
माह जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितम्बर अक्टूबर नवम्बर दिसम्बर वर्ष
औसत उच्च तापमान °C (°F) 20
(68)
22
(72)
27
(81)
33
(91)
36
(97)
34
(93)
31
(88)
30
(86)
30
(86)
29
(84)
26
(79)
22
(72)
28.3
(83.1)
औसत निम्न तापमान °C (°F) 3
(37)
6
(43)
13
(55)
18
(64)
21
(70)
23
(73)
23
(73)
23
(73)
21
(70)
17
(63)
9
(48)
5
(41)
15.2
(59.2)
औसत वर्षा मिमी (inches) 72
(2.83)
76
(2.99)
78
(3.07)
55
(2.17)
113
(4.45)
296
(11.65)
599
(23.58)
568
(22.36)
301
(11.85)
102
(4.02)
23
(0.91)
91
(3.58)
2,374
(93.46)
स्रोत: Accuweather

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

कोटद्वार में जनसंख्या[4]
वर्ष जन.
1901 1,029
1911 821 −20.2%
1921 396 −51.8%
1931 2,656 570.7%
1941 3,375 27.1%
1951 4,648 37.7%
1961 8,148 75.3%
1971 11,457 40.6%
1981 17,048 48.8%
1991 21,378 25.4%
2001 24,947 16.7%
2011 28,859 15.7%

२०१७ में नगर की सीमा में विस्तार कर ७१ ग्रामों को नगर क्षेत्र में शामिल किया गया,[5] जिसके बाद नगर की वर्तमान जनसंख्या लगभग १,३५,००० हो गयी है।[6][7] २०११ में हुई जनगणना में नगर की जनसंख्या २८,८५९ थी।[8] कोटद्वार की कुल जनसंख्या ३३,०३५ है जिसमें से १७,१५७ पुरुष और १५,८७८ महिलाएं हैं। कोटद्वार में ० से ६ साल के बीच ४,०३४ बच्चे थे, जिनमें से २,१८७ बालक थे जबकि १,८४७ बालिकाएं थी। कोटद्वार नगर का लिंग अनुपात ९२५ है, अर्थात कोटद्वार में प्रति १००० पुरुष ९२५ महिलाएं थी।

२०११ में कोटद्वार की कुल साक्षरता दर ८६.२९% है, जो उत्तराखण्ड की औसत साक्षरता दर (७८.८२%) की तुलना में अधिक है। जनसंख्या-अनुसार, कुल २५,०२४ लोग साक्षर हैं, जिनमें १३,५०८ पुरुष जबकि ११,५१६ महिलाएं हैं। इस प्रकार नगर में पुरुष साक्षरता दर ९०.२३% है, और महिला साक्षरता दर ८२.०८%।

नगर में २३,३०६ हिन्दू हैं, जो कुल जनसँख्या का ७०.५५% हैं। इसी प्रकार नगर में ९,१३५ मुसलमान, ३०१ ईसाई, २१५ सिख, १ बौद्ध, तथा ४९ जैन हैं। २ लोग किसी अन्य धर्म से सम्बन्ध रखते हैं, और २६ लोगों का कोई धर्म नहीं है। ५.३% लोग अनुसूचित जाति के हैं, जबकि अनुसूचित जनजाति के लोग नगर की कुल आबादी का ०.१% हैं।

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

कोटद्वार पूर्वी गढ़वाल क्षेत्र का प्रमुख परिवहन और थोक व्यापार केंद्र रहा है।[3]:३७४ आटा मिल, तेल निष्कर्षण, प्रिंटिंग प्रेस, चावल के थैलियों का निर्माण, और प्लास्टिक और रबर के उत्पाद कोटद्वार में प्रमुख उद्योग हैं।[1]:६३

२०११ की जनगणना के अनुसार कोटद्वार नगर की कुल आबादी में से ९,५२८ लोग कार्य गतिविधियों में शामिल हैं। ९३.९% श्रमिकों ने अपने काम को मुख्य कार्य (६ महीने से अधिक कमाई या रोजगार) बताया जबकि ६.१% ६ महीने से भी कम समय के लिए आजीविका प्रदान करने वाली सीमांत गतिविधि में शामिल थे। मुख्य कार्यों में लगे ९,५२८ व्यक्तियों में से २३ किसान (मालिक या सह-स्वामी) थे, और २६ कृषि मजदूर थे।

आवागमन[संपादित करें]

अगर आप कोटद्वार दिल्ली से आते हैं तो गढवाल एक्सप्रेस और मुसूरी एक्सप्रेस आपके लिए अच्छा विकल्प है। अगर आप रोडवेज से आना चाहेँ तो दिल्ली से सीधी बस सेवा कश्मीरी गेट से हर समय उप्लब्ध है।हरिद्वार से नजीबाबाद के रास्ते या जीएमओयू कि बसोँ से लालढाँग के रास्ते जा सकते है।

शिक्षा[संपादित करें]

सीबीएसई से संबद्ध स्कूल[संपादित करें]

  • आदर्श विद्या निकेतन
  • बालभारती स्कूल
  • टी.सी.जी. पब्लिक स्कूल
  • ब्लूमिंग वेले पब्लिक स्कूल
  • एसजीआरआर पब्लिक स्कूल
  • ज्ञान भारती पब्लिक स्कूल
  • हैप्पी होम स्कूल
  • हेडे हेरिटेज अकादमी कोटद्वार
  • महर्षि विद्या मंदिर सार्वजनिक स्कूल
  • नवयुग पब्लिक स्कूल
  • आर.सी.डी पब्लिक स्कूल, शिवराजपुर
  • डी ए वी पब्लिक स्कूल कोटद्वार
  • आरपी पब्लिक स्कूल टेलिपारा

आईसीएसई / आईएससी से संबद्ध स्कूल[संपादित करें]

  • सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल
  • मदर लैंड अकादमी
  • डॉ डीसी बुडकोटी विद्यात्री पब्लिक स्कूल

उत्तराखण्ड बोर्ड से संबद्ध स्कूल[संपादित करें]

  • राजकीय बालिका इंटर कॉलेज
  • राजकीय इंटर कॉलेज
  • राजकीय इंटर कॉलेज, पदमपुर सुख्रो
  • आर्य कन्या इंटर कॉलेज
  • मेहरबान सिंह कंधारी सरस्वती विद्या मंदिर
  • जनता इंटर कॉलेज, मोटाधक
  • शांति वल्लभ मेमोरियल इंटर कॉलेज, मानपुर

कॉलेज[संपादित करें]

  • चंद्रवती तिवारी लॉ कॉलेज
  • डा. पीडीबीएच पीजी कॉलेज
  • राजकीय मेडिकल कॉलेज, कोटद्वार
  • भगवंत ग्लोबल यूनिवर्सिटी
  • राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज, कोटद्वार
  • राजकीय पीजी कॉलेज (एचएनबीजी), कोटद्वार
  • होटल प्रबंधन अध्ययन संस्थान, कोटद्वार
  • मालिनी घाटी कॉलेज
  • यूएसटेक (उत्तरांचल सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी) कंप्यूटर शिक्षा

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Singh, Surendra (1995) (en में). Urbanization in Garhwal Himalaya: A Geographical Interpretation. New Delhi: M.D. Publications Pvt. Ltd.. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788185880693. https://books.google.co.in/books?id=X4FsjWPEeM4C. 
  2. Dobhal, G.L. (2005) (en में). Development of the hill areas : a case study of Pauri Garhwal district. New Delhi: Concept Pub.. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788180692239. https://books.google.co.in/books?id=gshfsxhitPYC. 
  3. Nand, Nitya; Kumar, Kamlesh (1989) (en में). The Holy Himalaya: A Geographical Interpretation of Garhwal. Delhi: Daya Publishing House. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170350552. https://books.google.co.in/books?id=wmNGKpcE83cC. 
  4. District Census Handbook Garhwal Part-A. Dehradun: Directorate of Census Operations, Uttarakhand. http://www.censusindia.gov.in/2011census/dchb/0506_PART_A_DCHB_GARHWAL.pdf. 
  5. "पूरी कोटद्वार विधानसभा नगर निगम में शामिल". ७ सितम्बर २०१७: अमर उजाला. https://www.amarujala.com/uttarakhand/kotdwar/111504802026-kotdwar-news. अभिगमन तिथि: २६ जनवरी २०१८. 
  6. "कोटद्वार में सीमा विस्तार के बाद परिसीमन का पेंच". अमर उजाला. २३ अक्टूबर २०१७. https://www.amarujala.com/uttarakhand/pauri/161508779006-pauri-news. अभिगमन तिथि: 26 जनवरी 2018. 
  7. "ऋषिकेश और कोटद्वार को नगर निगम बने, 13 निकायों का दायर बढ़ा". हिंदुस्तान. २६ अक्टूबर २०१७. https://www.livehindustan.com/uttarakhand/story-rishikesh-and-kotdwar-become-municipal-corporations-1612928.html. अभिगमन तिथि: 26 जनवरी 2018. 
  8. "Kotdwara Population Census 2011". http://www.census2011.co.in/data/town/800319-kotdwara-uttarakhand.html. अभिगमन तिथि: 26 जनवरी 2018. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]