उदारवादी नारीवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

उदारवादी नारीवाद एक व्यक्तिवादी किस्म का नारीवाद हैं, जिसमे औरतें समझती है की वह अपनी सोच और करतब से समानता पा सकती हैं। उदारवादी नारीवादियों का मानना हैं की सामाजिक संस्थाओं में औरतों की आवाज़ और उनकी पहचान का सही मायने में प्रतिनिधित्व नहीं हो पता। उनका कहना है की, इसकी वजह औरतोंके के प्रति भेदभावपूर्ण नियम और क़ानून है। इसी कारण औरते विकास से वंचित रहती है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]