इंदु मेनन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
इंदु मेनन
Indu Menon.JPG
जन्म 13 जून 1980 (1980-06-13) (आयु 39)
कालीकट
जीवनसाथी रूपेश पॉल
बच्चे गौरी मारिया, आदित्य,
माता-पिता विक्रमन नायर,सती

इंदु मेनन एक भारतीय साहित्यिक, उपन्यासकार, लघु कथालेखक, पटकथालेखक और समाजशास्त्री हैं। वह साहित्यिक क्षेत्र में है।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

इंदु मेनन का जन्म 13 जून 1980 को उमायानल्लूर एस विक्रमन नायर और सत्यवती से हुआ था। विक्रमन नायर एक कर्नाटक संगीतकार और आलोचक हैं।

इंदु मेनन एनएसएस स्कूल चालाप्पुरम; बीटीएमएएमयूपी स्कूल, पेंगद; और एसपीबीएस रमनट्टुकारा में पढ़ाई की। उन्होंने फरूक कॉलेज से विज्ञान में अपनी पूर्व डिग्री ली और उन्होंने जैमोरिन के गुरुवायूरप्पन कॉलेज में समाजशास्त्र और मलयालम में बी.ए. की। फिर उन्होंने समाजशास्त्र में एमए पूरा किया


इंदु की शादी मलयालम फिल्म निर्देशक रूपेश पॉल से की है, जो एक कवि भी है। रूपेश और इंदु एक बेटी गौरी मारिया और एक बेटा आदित्य हैं। [1]

कैरियर[संपादित करें]

"कथकल", की समीक्षा करते हुए "द हिंदू" लिखता है:

एक लघु कथा लेखक के रूप में, इंदु मेनन को कमला दास का उत्तराधिकारी कहा जा सकता है, जिसने कविता और कल्पना की दुनिया को आसानी से पार किया यह, हालांकि, यह सुझाव नहीं दे सकते कि वह 'कमला दास मोल्ड' में ढले एक कहानी-कलाकार हैं। चलते रास्ते पर चलने तो दूर, वह साहसी ढंग से नए इलाकों की तलाश करती है।
इंदु मेनन के विषय और साथ ही तकनीक ने ध्यान आकर्षित किया। जेंडर और कामुकता जैसे मुद्दों, जो युवा महिला लेखकों को आम तौर पर व्यस्त रखते हैं, से पार जा कर वह केरल समाज को चुनौती देती है, जो विभिन्न स्तरों पर प्रतिगमन के अचूक संकेत दिखा रहा है। उदाहरण के लिए, वह सांप्रदायिकता की शक्तियों से ऐसे ढंग से पेश आती है जैसे अन्य लेखकों, पुरुष या महिला ने कभी ही किया है। उसकी 'नई महिला' की आवाज़ है, जो अभी तक सार्वजनिक स्थान में खुद को सुनाई नहीं दे रही है।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Manassiloru Mazhavillu on Kairalitv". kairalitvonline. अभिगमन तिथि 11 December 2013.
  2. Bhaskar, B. R. P. (10 May 2011). "Voice of a new woman". The Hindu.