अवंती स्वामी मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Avanti Swami Temple
Awanti Swami.JPG
मंदिर के अवशेष
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
डिस्ट्रिक्टपुलवामा
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिअवन्तिपोरा
राज्यजम्मू और कश्मीर
देशभारत
वास्तु विवरण
निर्माताअवंती वर्मन (उत्पल वंश के पहले राजा)

अवंती स्वामी मंदिर, अवंतीपुर ,(33° 55 अक्षांश उत्तर; 75° 1' देशांतर पूर्व) श्रीनगर के दक्षिण-पूर्व में 28 कि.मी. दूर अनंतनाग जिले में झेलम नदी के किनारे स्थित है। इस नगर की स्थापना का श्रेय उत्पल वंश के पहले राजा, अवंती वर्मन (855-883 ईसवी) को दिया जाता है।[1]

इतिहास[संपादित करें]

राजा अवंती वर्मन ने अवन्तिपुर में दो भव्य मंदिरों की स्थापना की थी। एक भगवान विष्णु का मंदिर था जिसे अवंती स्वामी मंदिर कहते हैं और दूसरा भगवान शिव का मंदिर था जिसे अवंतीश्वर मंदिर कहते हैं। राजा ने ,विष्णु मंदिर अपने राज्यारोहण से पहले बनवाया था और शिव मंदिर अधिराज्य प्राप्त करने के बाद बनवाया था। मध्यकाल में ये मंदिर खंडहरों में तबदील हो गए थे।

मूल परिसर के विन्यास में एक बड़े आयताकार आंगन के मध्य भाग में एक मंदिर है। मुख्य मंदिर के चारों कोनों पर चार छोटे मंदिर है , आंगन की परिधि के चारों ओर व्यवस्थित कोठरियों सहित क्रमिक छतदार परिस्तंभ और एक भव्य द्वार है। मुख्य मंदिर की सीढि़यों के आगे खुले पार्श्व वाला स्तंभयुक्त मण्डप था जिसमें गरूड़ध्वज लगा था। इस मंदिर में उत्कृष्ट भव्य मूर्तियां बनी हुई हैं जो वास्तुशिल्प और कला का अद्भुत संगम है।

  1. http://asi.nic.in/asi_hn_monu_tktd_jammu_kashmir_avantipur.asp%7Cwebsite=http://asi.nic.in%7Cpublisher=भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण,भारत सरकार