अब्दुल ख़ालिक टाक जैनगेरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अब्दुल ख़ालिक टाक जैनगेरी

अब्दुल ख़ालिक टाक जैनगेरी कश्मीरी भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक भाषाशास्त्रीय अध्ययन का श्रीज़ाब : नी हुन्द अलेकवाद फेरा के लिये उन्हें सन् 1969 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.