वेंकटेश्वर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
वेंकटेश्वर
श्री वेंकटेश्वर
श्री वेंकटेश्वर
देवनागरी वेङ्कटेश्वर
सहबद्धता विष्णु के अवतार
आवास वैकुंठ
मंत्र ओम नमो वेंकटेशाय
शस्त्र शंख, चक्र
पत्नी पद्मावती
वाहन गरुड़
क्षेत्र दक्षिण भारत

वेंकटेश्वर (तेलुगु: వెంకటేశ్వరుడు, तमिल: வெங்கடேஸ்வரர், कन्नड़: ವೆಂಕಟೇಶ್ವರ, संस्कृत: वेंकटेश्वरः) जिन्हें गोविंदा, श्रीनिवास, बालाजी, वेंकट आदि के नाम से भी जाना जाता है, भगवान विष्णु के अवतार माने जाते हैं।

ऐसा माना जाता है कि प्रभु विष्णु ने कुछ समय के लिए स्वामी पुष्करणी नामक तालाब के किनारे निवास किया था। यह तालाब तिरुमला के पास स्थित है। तिरुमाला-तिरुपति के चारों ओर स्थित पहाड़ियाँ, शेषनाग के सात फनों के आधार पर बनीं 'सप्तगिर‍ि' कहलाती हैं। वैकुंठ एकादशी के अवसर पर लोग तिरुपति वेन्कटेशवर मन्दिर पर प्रभु के दर्शन के लिए आते हैं, जहाँ पर आने के पश्चात उनके सभी पाप धुल जाते हैं। मान्यता है कि यहाँ आने के पश्चात व्यक्ति को जन्म-मृत्यु के बंधन से मुक्ति मिल जाती है।