शेषनाग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इन्हे भगवान नारायण का अवतार माना जाता है, भगवान नारायण सदा इन्की शय्या पर सोते है।