द कॉमेडी ऑफ एरर्स

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
प्रदर्शन का पोस्टर

द कॉमेडी ऑफ एरर्स विलियम शेक्सपियर के शुरूआती नाटकों में से एक है, ऐसा माना जाता है कि इसे 1592 से 1594 के बीच लिखा गया था। यह उनके सबसे छोटे और सबसे हास्यास्पद हास्य-नाटकों में से एक है, अनेकार्थी शब्दों और शब्दों के खेल के अतिरिक्त इसके हास्य का एक प्रमुख हिस्सा तमाशे और गलत पहचान से निकलकर आता है। दी कॉमेडी ऑफ़ एरर्स (दी टेमपेस्ट सहित) शेक्सपियर के उन दो नाटकों में से एक है जिनमें पारंपरिक एकता का अवलोकन किया जा सकता है। इसे ओपेरा, मंच, स्क्रीन और संगीत थिएटर के लिए अनुकूलित किया गया है।

द कॉमेडी ऑफ एरर्स एक रूप वाले जुड़वां भाईयों के दो जो़ड़ों की कहानी बयान करता है, जो दुर्भाग्यएवश अपने जन्म के समय अलग हो गए थे। सि‍रैक्यूज का एंटीफॉलस और उसका नौकर, सि‍रैक्यूज का ड्रोमि‍यो, एफिसस पहुंचते हैं जहां उनके जुड़वां भाई, एफिसस का एंटिफॉलस और उसका नौकर एफिसस का ड्रोमि‍यो भी रहते हैं। जब सि‍रैक्यूजन का अपने जुड़वा भाईयों के मि‍त्रों और परि‍वार से सामना हुआ, तो गलत पहचान के कारण अजीबो-गरीब घटनाओं के क्रम ने गलत व्यक्ति के साथ मार-पि‍टाई और यौन व्यवहार, एफिसस के एंटीफॉलस की गि‍रफ्तारी तथा बेवफाई का आरोप, चोरी, पागलपन तथा प्रेतावि‍ष्ट आधि‍पत्य‍ की अनेक हास्यास्पद घटनाओं को जन्म हुआ।

स्रोत[संपादित करें]

मुख्य कथानक तत्व प्लॉटस के दो रोमन हास्यप्रधान नाटकों से लि‍ए गए हैं।

समान नाम वाले समरूप जुड़वां भाईयों के बीच गलत पहचान का प्रमुख विचार और हास्यास्पद वेश्या जैसे कुछ चरित्रों को मेनैक्मी से लिया गया है।

मेनेक्मी ‍ में एक जुड़वां जोड़ा एपि‍डैनमस से आया है; जि‍से शेक्सेपि‍यर ने एफिसस में परि‍वर्ति‍त कि‍या है, और सेंट पॉल के एपिसल तथा एपि‍सि‍यन के कई उल्लेखों को शामिल किया गया है।

एम्फि‍ट्रूओ से उन्होंने समान नाम वाले जुडवां नौकरों का अनुकरण कि‍या, और इसके साथ ही एक्ट 3 का अनुकरण कि‍या जहां पति‍ को घर से बाहर निकाल दिया जाता है और पत्नी उसके हमशक्ल के साथ खाना खाती है।

ईगोन और एमीलिया की मुख्य कहानी अपोलोनि‍स ऑफ टायर ले ली गई है, जो ट्वेल्थ नाइट तथा पेरिकल्स, प्रिंस ऑफ टायर का भी स्रोत है।

ति‍थि‍ एवं कथानक[संपादित करें]

यह नाटक फ्रांस में उत्तराधि‍कार के सामयि‍क संदर्भ को समाहि‍त करता है, जि‍समें 1589 से 1595 के मध्य की कोई भी ति‍थि‍ उचि‍त होगी. वि‍लि‍यम वार्नर द्वारा किया गया मेनैक्मी का अनुवाद 10 जून 1594 को स्टेसशनर्स कंपनी के रजि‍स्टर में दर्ज हुआ और 1595 को प्रकाशि‍त कि‍या गया था। वार्नर का अनुवाद लॉर्ड हंसडन को समर्पि‍त था, जो लॉर्ड चेम्बेरलेन के लोगों के संरक्षक थे। यह माना जाता है कि संभवतः शेक्सापि‍यर ने इस अनुवाद को मुद्रण से पहले ही देख लिया होगा – हालांकि‍ यह भी सत्य है कि‍ प्लॉटस, व्याकरण वि‍द्यालय के वि‍द्यार्थि‍यों के पाठ्यक्रम का हि‍स्सा था। अपने नाटक के संपादन में चार्ल्स वि‍टवर्थ ने यह तर्क दि‍ए कि‍ द कॉमेडी ऑफ एरर्स को 1594 के बाद के दिनों में लि‍खा गया था।[1] 1623 के पहले फोलियो में प्रकाशि‍त होने से पहले इस नाटक को कहीं भी प्रकाशित नहीं किया गया था।

पात्र[संपादित करें]

  • एफिसस का ड्यूक, सोलिनस
  • ईगोन (या Ægeon), सिरैक्यूज़ का एक व्यापारी
  • एमीलिया (या Æmilia), उसकी खोयी पत्नी जो अब एफिसस में लेडी एबेस है
  • एफिसस का एंटिफॉलस और सिरैक्यूज़ का एंटिफॉलस, जुड़वां भाई, ईगोन और एमीलिया के पुत्र
  • एफिसस का ड्रोमियो और सिरैक्यूज़ का ड्रोमियो, जुड़वां भाई और नौकर जो अपने-अपने एंटिफॉलस की सेवा में हैं
  • एड्रियाना, एफिसस के एंटिफॉलस की पत्नी
  • लुसियाना, उसकी बहन
  • लूसी, एड्रियाना की नौकरानी, जिसे कभी कभी नेल समझ लिया जाता है।
  • नेल, एफिसस के एंटिफॉलस की खाना बनाने वाली मोटी नौकरानी और एफिसस के ड्रोमियो की पत्नी. ("एक मोटा पहाड़ जो खुद को मेरी पत्नी बताती है" - सिरैक्यूज़ का ड्रोमियो)
  • बेल्थज़र, एक व्यापारी
  • एंजेलो, एक सुनार
  • वेश्या
  • एफिसस का पहला व्यापारी, सिरैक्यूज़ के एंटिफॉलस का दोस्त
  • एफिसस का दूसरा व्यापारी, जिस्क्र ऋण तले एंजेलो दबी हुई है
  • डॉक्टर पिंच, एक जादुई अध्यापक
  • गाओलर, हेड्समैन, अधिकारी और अन्य सेवक

कथानक सारांश[संपादित करें]

सितंबर 2008 में कारमेल के फोरेस्ट थिएटर के कारमेल शेक-स्पीयर समारोह में जुड़वा ड्रोमिओज़ की प्रस्तुती. एफिसस में सिरैक्यूज़ियन व्यापारियों की उपस्थिति को प्रतिबंधित करने वाले एक कानून के कारण, शहर में पाए जाने पर बुजुर्ग सिरैक्यूज़ियन व्यापारी ईगोन पर फांसी का खतरा मंडराने लगता है। केवल एक हजार मार्क्स का जुर्माना देकर ही वह बच सकता है। वह ड्यूक को अपनी दुखद कहानी बताता है। जवानी में उसकी शादी हुई और उसके दो जुड़वां बेटे हुए. उसी दिन, एक गरीब औरत ने भी दो जुड़वां लड़कों को जन्म दिया और उसने उन्हें अपने बेटों का दास बनाने के लिए खरीद लिया। उसके कुछ समय बाद, परिवार समुद्र यात्रा पर गया और एक तूफान में फंस गाया. ईगोन ने अपने एक बेटे और एक दास के साथ मस्तूल को कसकर पकड़ लिया, उसके बाद उसकी पत्नी और ईगोन को अलग-अलग नावों द्वारा बचा लिया गया। ईगोन ने अपनी पत्नी या उसके साथ बच्चे को फिर कभी नहीं देखा. हाल ही में, सिरैक्यूज़ का उसका पुत्र एंटिफॉलस जो अब बड़ा हो गया है और उसके बेटे का नौकर सिरैक्यूज़ का ड्रोमियो, अपने भाईयों को खोजने के लिए सिरैक्यूज़ से निकल पड़ते हैं। सिरैक्यूज़ का एंटिफॉलस वापस नहीं लौटता है तो ईगोन उसकी खोज मैं निकल पड़ता है।

एफिसस का ड्यूक, सोलिनस इस कहानी को सुनकर द्रवित हो जाता है और ईगोन को जुर्माना भरने के लिए एक दिन की मोहलत देता है।

उसी दिन, अपने भाई को खोजने के लिए सिरैक्यूज़ का एंटिफॉलस एफिसस आता है। वह सिरैक्यूज़ के ड्रोमियो को सेंटूर (एक सराय) में कुछ पैसा जमा करने के लिए भेजता है। वह तब चकित रह जाता है जब तुरंत ही उसे एफिसस का ड्रोमियो दिखाई देता है, वह पैसे की किसी भी जानकारी से इनकार कर देता और उसे रात के खाने के लिए घर चलने के लिए कहता है जहां उसकी पत्नी इंतजार कर रही है। एंटिफॉलस सोचता है कि उसका दास उससे मजाक कर रहा है, वह ड्रोमियो की पिटाई कर देता है।

एफिसस का ड्रोमियो अपनी मालकिन एड्रियाना के पास वापस जाकर कहता है कि उसके "पति" ने घर आने से मना कर दिया और यहां तक कि उसे पहचानने से भी साफ इंकार कर दिया. एड्रियाना, जो चिंतित है कि उसके पति की आँखे भटक रही हैं, इस खबर को अपने शक की पुष्टि के रूप लेती है।

सिरैक्यूज़ का एंटिफॉलस, जो शिकायत करता है "मैने तब से ड्रोमियो से बात नहीं की है जब से मैने उसे मार्ट से भेजा है", वह ड्रोमियो से मिलता है जो अब एंटिफॉलस की पत्नी की मौजूदगी के बारे में किये गए अपने "मजाक" से इंकार करता है। एंटिफॉलस उसे पीटना शुरू कर देता है। अचानक, एड्रियाना एंटिफॉलस के पास आती है और उससे प्रार्थना करती है कि वह उसे छोड़कर ना जाए. सिरैक्यूज़न समझते हैं कि यह विचित्र घटनाएं जादू टोने की वजह से हो रही हैं, क्योंकि वह एफिसस को चुड़ैलों का घर मानते हैं। एंटिफॉलस और ड्रोमियो उस अजीब औरत के साथ, क्रमशः रात का खाना खाने और दरवाजे की रखवाली करने के लिए जाते हैं।

एफिसस का एंटिफॉलस रात के खाने के लिए घर आता है और इस बात से गुस्से में है क्योंकि दरवाजे की रखवाली पर तैनात सिरैक्यूज के ड्रोमियो ने उसे अपने ही घर में घुसने से मना कर दिया था। वह दरवाजा तोड़ने के लिए तैयार है, लेकिन उसके दोस्त उससे आग्रह करते हैं कि वह विवाद खड़ा न करे. वह एक वेश्या के साथ खाना खाने का निर्णय लेता है।

घर के भीतर, सिरैक्यूज के एंटिफॉलस को लगता है कि वह अपनी "पत्नी" की बहन लुसियाना की तरफ काफी आकर्षित हो रहा है, वह उसे कहता है "हे प्यारी जलपरी अपने ध्यान से मुझे मत रिझा/मैं तो तेरी बहन के आंसुओं में डूब रहा हूं." वह उसकी बातें सुनकर खुश है, लेकिन उनके नैतिक प्रभाव के बारे में चिंतित हैं। जब वह बाहर निकलती है, तो सिरैक्यूज़ का ड्रोमियो घोषणा करता है कि उसने पता लगा लिया है कि उसकी एक पत्नी है, जिसका नाम नेल है और वह खाना पकाने का काम करती है। वह कहता है " वह ग्लोब के समान गोल-मटोल है; मैं उसके नितंबो में कई देशों को ढूंढ सकता हूं: मैने उसे एक दलदल से खोजा". वह कहता है कि उसने अमेरिका और इंडीज को खोज लिया है, "वे उसकी पूरी नाक पर लगे माणिकों, रक्तमणियों, नीलमों, से सज्जित हैं और जो स्पेन की गर्म सांस में नष्ट हो रहे हैं; एवं जो उसकी नाक पर विस्फोट करने के लिए पटाखों का जखीरा भेजते हैं।" यह अमेरिका के लिए शेक्सपियर द्वारा दिए गए मात्र कुछ संदर्भों में से एक है। सिरैक्यूज़न जल्दी से जल्दी वहां से निकलने का फैसला करते हैं और ड्रोमियो यात्रा की तैयारियां करने के लिए चला जाता है। एंटिफॉलस को एंजेलो नामक एक सुनार पकड़ लेता है, जो दावा करता है कि उसने अपने लिए एक चेन बनवाने का ऑर्डर दिया था। एंटिफॉलस को मजबूरन वह चेन स्वीकार करनी पड़ती है और एंजेलो कहता है कि वह भुगतान के लिए वापस आएगा.

एफिसस का एंटिपोलस, एफिसस के ड्रोमियो को एक रस्सी लाने के लिए कहता है ताकि वह अपनी पत्नी एड्रियाना की पिटाई कर सके क्योंकि उसने उसे घर के बाहर छोड़ दिया था, तब उसे एंजेलो मिलता है, जो उससे चेन के पैसे देने के लिए कहता है। वह चेन लेने की बात से मना करता है और तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाता है। जब उसे ले जाया जा रहा था तो सिरैक्यूज का ड्रोमियो आता है, जिसे वह अपनी जमानत के पैसे लेने के लिए एड्रियाना के घर भेज देता है।

यह काम पूरा करने के बाद, सिरैक्यूज़ का ड्रोमियो उन पैसों को गलती से सिरैक्यूज़ के एंटिफॉलस को दे देता है। वेश्या एंटिफॉलस को सोने की चेन पहने देखती है और कहती है कि एंटिफॉलस ने इस चेन को उसे देने का वादा किया था। सिरैक्यूजन इससे इनकार करते हैं और चले जाते हैं। वेश्या एड्रियाना को यह बताने का निश्चय करती है कि उसका पति पागल है। एफिसस का ड्रोमियो गिरफ्तार हुए एफिसस के एंटिफॉलस के पास रस्सी लेकर वापस आता है। एंटिफॉलस क्रोध से भरा होता है। एड्रियाना, लुसियाना और वेश्या एक पिंच नामक ओझा के साथ प्रवेश करती हैं, जो बंधे हुए एफिसियंस की झाड़-फूंक करने की कोशिश करता है और उन्हें एड्रियाना के घर ले जाता है। सिरैक्यूजन तलवार लेकर प्रवेश करते हैं और सब लोग डर के मारे भागने लगते हैं: उन्हें लगता है कि ये एफिसियंस हैं जो किसी तरह अपने बंधनों से मुक्त होकर बदला लेने आए हैं। एड्रियाना अपने गुर्गों के साथ पुनः दिखाई देती है, जो सिरेक्यूजंस को बांधने की कोशिश करते हैं। वे भागकर पास के एक जंगल में छुप जाते हैं, जहां मठाध्यक्षा उन्हें बचा लेता है।

ड्यूक और ईगोन, ईगोन को फांसी लगाने के लिए जा रहे हैं। एड्रियाना ड्यूक से प्रार्थना करती है कि वह मठाध्यक्षा से उसके पति को बचाए. तब एड्रियाना के घर से एक संदेशवाहक दौड़ता हुआ आता है और कहता है कि एफिसियंस ने अपने बंधन खोल लिए हैं और पिंच के बहुत पीटा है। एफिसियंस प्रवेश करते हैं और ड्यूक से एड्रियाना के खिलाफ न्याय की मांग करते हैं। ईगोन को लगता है कि उसने अपने बेटे एंटिफॉलस को पा लिया है, जो उसकी जमानत करा लेगा, लेकिन दोनो एफिसियंस उसे पहचानने से मना कर देते हैं।

अचानक, मठाध्यक्षा सिरैक्यजन जुड़वाओं के साथ प्रवेश करती है और हर किसी को दिन की उलझन भरी घटनाएं समझ में आने लगती हैं। न केवल जुड़वा बच्चों के जोड़े फिर से एक हो जाते हैं, बल्कि मठाध्यक्षा बताती है कि वही ईगोन की पत्नी एमीलिया है। ड्यूक ईगोन के क्षमा कर देता है। सभी लोग परिवार के फिर से मिलने की खुशी मनाने के लिए बाहर निकलते हैं।

विश्लेषण[संपादित करें]

सदियों तक विद्वानों को द कॉमेडी ऑफ एरर्स में कोई विशेष विषयगत गहराई दिखाई नहीं दी. दी मेनैक्मी से लिए जाने के कारण बहुत से लोगों ने इस नाटक को एक हल्के, हास्यास्पद कार्य के रूप में देखा. यह अक्सर माना गया कि शेक्सपियर अपने इतिहास, त्रासदियों और बाद के हास्य नाटकों जैसे अधिक गंभीर विषयों से जानबूझकर बचने की कोशिश करते थे।

हालाँकि हाल के विद्वानों का एक अलग दृष्टिकोण है। इस नाटक में सामाजिक रिश्तों की श्रंखला विशेष रुप से ध्यान देने योग्य है, जिसे यदि रोमन इतिहास के परिपेक्ष्य में देखा जाए तो यह प्रारंभिक आधुनिकता की शुरुआत के संबंध में काफी महत्त्वपूर्ण हो जाती है और शेक्सपियर के नाटक अक्सर इन्हीं से प्रभावित होते रहे थे। जैसा कि एरिक हैंज ने टिप्पणी की है, उन रिश्तों में मालिक-नौकर, पति-पत्नी, अभिभावक-बच्चे, देशी-विदेशी, खरीदार-विक्रेता और सम्राट-संसद के रिश्तों का द्विविभाजन शामिल है। हर रिश्ता संकट में है क्योंकि वह अपने सामंती रूपों को छोड़ चुका है और प्रारंभिक आधुनिक यूरोप की बाजार की शक्तियों का सामना कर रहा है।[2]

प्रदर्शन[संपादित करें]

द कॉमेडी ऑफ एरर्स के दो शुरूआती प्रदर्शनों को रिकॉर्ड किया गया था। “ए कंपनी ऑफ बेस एंड कॉमन फेलोज" द्वारा ग्रेज इन हॉल में 28 दिसम्बर 1594 को किये गए एक प्रदर्शन का उल्लेख गेस्टा ग्रेयोरम ("दी डीड्स ऑफ ग्रे") में किया गया है। दूसरा प्रदर्शन दस साल बाद "इनोसेंट्स डे (निर्दोष दिवस)", के अवसर पर 28 दिसम्बर 1604 को कोर्ट में में किया गया था।[3]

कलात्मक विशेषताएँ[संपादित करें]

पहले दृश्य में ईगोन नाटक का सबसे लंबा भाषण देता है ("इसे भारी काम थोपा नहीं जा सकता") जिसमें वह यह स्पष्ट करता कि कैसे कम उम्र में जुड़वा बच्चों के दो जोड़े अलग हो गए थे। 421 शब्दों वाला यह भाषण विशुद्ध व्याख्या का सबसे लंबा भाग भी है। ईगोन (और ड्यूक भी) उसके बाद अंतिम दृश्य तक अनुपस्थित रहते हैं।

रूपांतरण[संपादित करें]

नाटक[संपादित करें]

1734 में इसके रूपांतरण का सी इफ यू लाइक इट के नाम से कोवेंट गार्डन में मंचन हुआ। 1741 में ड्रूरी लेन ने एक प्रदर्शन किया, जिसमें चार्ल्स मैकलिन से सिरैक्यूज़ के ड्रोमियो की भूमिका निभाई- यह उसी वर्ष हुआ जिस वर्ष उन्होंने शेलॉक के रुप में अपने प्रसिद्ध भूमिका निभाई थी। 1980 के दशक में, फ्लाइंग कर्माजोव ब्रदर्स ने इस नाटक के एक अनूठे रूपांतरण को लिंकन सेंटर में प्रस्तुत किया जिसे एमटीवी और पीबीएस पर भी दिखाया गया था। रीजेन्ट पार्क ओपन एयर थिएटर ने 2010 की गर्मियों के सत्र में एक नए निर्माण के रूप में इस नाटक का मंचन किया, इसका निर्देशन फिलिप फ्रैंक्स ने किया।

ओपरा[संपादित करें]

27 दिसम्बर 1786 को, स्टीफन स्टोरेस के ओपरा ग्ली इक्वीवोसी का प्रीमियर विएना के बर्गथिएटर में हुआ। लोरेंजो दी पोंटे के नाटक लिबरेटो की कहानी स्पष्ट रूप से इस नाटक से मिलती थी यद्यपि कुछ पात्रों के नाम बदल दिए गए थे।[4]

1819 में फ्रैडरिक रेनॉल्ड्स ने इसके एक ओपेरा संस्करण का मंचन किया, इसमें मोजार्ट और आर्ने के गीतों पर हेनरी बिशप ने संगीत दिया. 1855 तक इस नाटक के कई रूपांतरणों को प्रस्तुत किया जाता रहा था लेकिन सेमुअल फेल्प्स ने सेडलर के वेल्स थिएटर में शेक्सपियर के मूल नाटक का मंचन किया।[5]

संगीतमय प्रस्तुती[संपादित करें]

इस नाटक को कम से कम तीन बार संगीतमय रूप में रुपांतिरित किया गया है, पहली बार ब्वॉइज फ्रॉम सिरैक्यूज के रूप में जिसमें रिचर्ड रोजर और लोरेंज हार्ट ने संगीत दिया, उसके बाद एक वेस्ट एंड म्यूजिकल के रूप में जिसने 1977 में सर्वश्रेष्ठ संगीतमय प्रस्तुती के लिए लोरेंस ओलिवर पुरस्कार जीता और 1981 में ओह, ब्रदर्स! के रूप में, इसमें माइकल वेलेंटी ने संगीत दिया और डोनाल्ड ड्राइवर के हिप-हॉप संगीतमय रूपांतरण, दी बॉम्बेटी ऑफ एरर्स ने एचबीओ हास्य समारोह में पुरस्कार जीता और 2001 में सर्वश्रेष्ठ गीत ड्रामा डेस्क पुरस्कार के लिए स्टीफन सोंडिएम के विरूद्ध नामांकित किया गया।

फिल्म[संपादित करें]

बिग बिजनेस नामक फ़िल्म द कॉमेडी ऑफ एरर्स का आधुनिक अवतार है। फिल्म में बेटी मिडलर और लिली टोमलिन ने दो जुड़वां जोड़ों की भूमिकाएं निभाई है जो जन्म के समय से ही बिछड़ जाते हैं, जैसा कि शेक्सपियर के नाटक में पात्रों के साथ हुआ था। भारतीय सिनेमा में भी इस नाटक पर फिल्में बनाई गई हैं। 1. किशोर कुमार अभिनीत दो दुनी चार और 2. संजीव कुमार अभिनीत अंगूर.

टेलीविजन[संपादित करें]

लोकप्रिय टीवी शो दी एक्स-फ़ाइल्स में "फाइट क्लब" नाम का एक एपिसोड दिखाया जाता है, जिसकी कहानी के कई तत्वों इस नाटक से मिलते-जुलते हैं।

  • यस प्राइम मिनिस्टर के एपीसोड "दी पेट्रन ऑफ आर्ट्स" में प्रधानमंत्री जेम्स हैकर शिकायत करते हैं कि "उन्होंने (नेशनल थिएटर ने) कॉमेडी ऑफ एरर्स का चित्रण नंबर 10 डाउनिंग स्ट्रीट के आधार पर किया है".

गैलरी[संपादित करें]

टिप्पणियां[संपादित करें]

  1. चार्ल्स वाल्टर्स विट्वर्थ, एड., द कॉमेडी ऑफ एरर्स, ऑक्सफोर्ड, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, 2003; पीपी. 1-10.
  2. एरिक हेंज, "वर ईट नॉट अगेंस्ट आवर लॉज": शेक्सपियर के कॉमेडी ऑफ एरर्स में दमन और प्रतिरोध, 29 लीगल स्टडीज (2009), पीपी. 230-63
  3. समान तिथियां संभवतः संयोगवश नहीं हैं; इस नाटक के पौलीन तथा एफेसियन पहलू, द कॉमेडी ऑफ एरर्स को छुट्टियों के मौसम के साथ जोड़े जाने से संबंधित हो सकते हैं - काफी हद तक ट्वेल्थ नाईट के समान, जो कि एक अन्य ऐसा नाटक है जो ऊपर से तो धर्मनिरपेक्ष दिखाई देता है लेकिन ईसाई छुट्टियों के साथ जुड़ा हुआ है।
  4. Holden, Amanda; (editor), with Kenyon, Nicholas and Walsh, Stephen. The Viking Opera Guide. London: Viking. pp. 1016. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-670-81292-7. 
  5. एफ.ई. हैलीडे, ए शेक्सपियर कम्पैनियन 1564-1964, बाल्टीमोर, पेंगुइन, 1964; पी.112.

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाह्य कड़ियां[संपादित करें]

Wikisource
विकिसोर्स में द कॉमेडी ऑफ एरर्स लेख से संबंधित मूल साहित्य है।