ऐज़ यू लाइक इट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
1623 में प्रकाशित, फर्स्ट फोलिओ से ऐज़ यू लाइक इट के प्रथम पृष्ठ की प्रतिकृति.

ऐज़ यू लाइक इट विलियम शेक्सपियर द्वारा लिखित एक पैस्टोरल कॉमेडी है, जिसे 1599 या 1600 की शुरूआत में लिखा हुआ मानते हैं और यह 1623 के फोलियो में पहली बार प्रकाशित हुआ। यह कृति थॉमस लॉज के गद्य प्रेम-कथा रॉसलिंड पर आधारित थी। हालांकि इस नाटक के पहले प्रदर्शन की जानकारी अनिश्चित है, परन्तु सुझावों के अनुसार, 1603 में विल्टन हाउस में इसके एक प्रदर्शन की संभावना जताई गई है। ऐज़ यू लाइक इट की कहानी नायिका रॉसलिंड के इर्द-गिर्द घूमती है, जो उत्पीड़न के डर से अपनी चचेरी बहन सीलिया और महल के विदूषक टचस्टोन के साथ, अपने चाचा के महल से आर्डेन के जंगल में सुरक्षा और अंततः प्यार पाने के लिए भाग जाती है। ऐतिहासिक रूप से, इस पर आलोचकों की राय भिन्न रही है, कुछ आलोचकों के अनुसार यह कृति शेक्सपियर की अन्य कृतियों की तुलना में कम उत्कृष्ट है जबकि कुछ इस नाटक को बेहद उत्कृष्ट कृति मानते हैं।

शेक्सपियर की एक सर्वाधिक प्रसिद्ध और अक्सर-प्रयुक्त उक्ति "ऑल दी वर्लड इज़ अ स्टेज" इसी नाटक का हिस्सा है, साथ ही यह "टू मच ऑफ अ गुड थिंग" वाक्यांश का मूल भी है। यह नाटक दर्शकों की पसंदीदा बनी रही और रेडियो, फिल्म और संगीतमय रंगमंच के लिए रूपांतरित की गई।

पात्र[संपादित करें]

ड्यूक फ्रेडरिक की सभा:

  • ड्यूक फ्रेडरिक, ड्यूक सीनियर का छोटा भाई और उसका अनाधिकार ग्राही, सीलिया का पिता
  • रॉसलिंड, ड्यूक सीनियर की बेटी
  • सीलिया, ड्यूक फ्रेडरिक की बेटी और रॉसलिंड की चचेरी बहन
  • टचस्टोन, महल का एक मूर्ख
  • ले ब्यू, एक दरबारी
  • चार्ल्स, एक पहलवान

आर्डेन के जंगल में ड्यूक सीनीयर के निर्वासित दरबारी:

  • ड्यूक सीनियर, ड्यूक फ्रेडरिक के बड़े भाई और रॉसलिंड के पिता
  • जैक्स, एक असंतुष्ट, उदास लॉर्ड
  • एमियन्स, लॉर्ड का एक सेवक और संगीतकार

मृतक सर रोलैंड डी बॉयज़ का परिवार:

  • ऑलिवर, ज्येष्ठ पुत्र और उत्तराधिकारी
  • जैक्स, दूसरा बेटा जो नाटक के अंत में एक संक्षिप्त भूमिका निभाता हैं
  • ऑरलैंडो, छोटा बेटा
  • ऐडम, एक पुराना वफादार नौकर जो निर्वासन में ऑरलैंडो के साथ जाता है
  • डेनिस, ऑलिवर का नौकर

आर्डेन के जंगल के आम लोग:

  • फेबे, एक गड़ेरिन
  • सिलवियस, एक गडेरिया
  • ऑड्रे, एक ग्रामीण लड़की
  • कोरिन, एक बुजुर्ग चरवाहा
  • विलियम, एक ग्रामीण
  • सर ऑलिवर मारटेक्स्ट, एक पादरी

अन्य पात्र:

  • ड्यूक फ्रेडरिक की सभा के गण्य-मान्य पुरुष और महिलाएं
  • ड्यूक सिनियर के वन्य सभा के गण्य-मान्य पुरुष
  • सेवक और संगीतकार
  • हाइमन, नाटक के भीतर चल रहे नाटक का एक पात्र

कथासार[संपादित करें]

ऐज़ यू लाइक इट से दृश्य, फ्रांसिस हाइमन, सी. 1750.

फ्रांस में ड्यूक का क्षेत्र इस नाटक की पृष्ठभूमि है, लेकिन अधिकांश घटनाएं 'आर्डेन के जंगल' में ही घटती हैं।

फ्रेडरिक ने अपने बड़े भाई, ड्यूक सीनियर के क्षेत्र को धोखे से छीन लिया और उसे निर्वासित कर दिया. ड्यूक की बेटी रॉसलिंड को महल में रहने की अनुमति दी गई क्योंकि वह फ्रेडरिक की अकेली सन्तान सीलिया की करीबी दोस्त और चचेरी बहन भी है। ऑरलैंडो, जो राज्य का एक सज्जन युवक है और जिसे रॉसलिंड से पहली ही नजर में प्यार हो गया है, अपने बड़े भाई, ऑलिवर द्वारा सताए जाने के बाद अपने घर से पलायन करने को मजबूर हो जाता है। फ्रेडरिक क्रोधित हो जाता है और रॉसलिंड को सभा से बाहर निकाल देता है। सीलिया और रॉसलिंड विदूषक टचस्टोन के साथ भागने का निर्णय लेती हैं, जिस दौरान रॉसलिंड एक युवा पुरुष का छद्म वेश धारण करती है।

रॉसलिंड, जो अब गेनीमेड (जोव का अपना सेवक) के छद्म रूप में है और सीलिया जो एलिएना (लाटिन भाषा में "अजनबी") के छद्म वेश में है, अर्केडियाई आर्डेन के जंगल में पहुंचते हैं, जहां निर्वासित, ड्यूक अपने कुछ समर्थकों के साथ रहते हैं, इन समर्थकों में "उदास जैक्स" भी शामिल है जिसका परिचय हमें तब मिलता है जब वह एक हिरण के वध पर रोता है। "गेनीमेड" और "एलिएना" ड्यूक और उनके साथियों से तुरंत नहीं मिलते हैं, क्योंकि वे पहले कॉरिन नामक एक गरीब किरायेदार से मिलते हैं और उससे अपने मालिक के कच्चे घर को खरीदने की पेशकश करते हैं।

फिलिप रिचर्ड मॉरिस द्वारा ऑड्रे

ऑरलैंडो और उसका नौकर ऐडम्स (एक ऐसी भूमिका जो संभवतः खुद शेक्सपियर ने निभाई होगी, हालांकि यह कहानी अप्रमाणिक है),[1] इस बीच, ड्यूक और उसके साथियों से मिलते हैं और उनके साथ ही रहने लगते हैं और रॉसलिंड के लिए एकतरफा प्रणयगीत पेड़ों पर छोड़ने लगते हैं। रॉसलिंड को भी ऑरलैंडो से प्रेम है और वह उससे गेनीमेड के रूप में मिलती है और उसे प्रेम रोग से बचाने के लिए परामर्श देने का ढोंग करती है। गेनीमेड कहता है कि "वह" रॉसलिंड की जगह "लेगा" और "वह" और ऑरलैंडो अपने सम्बन्ध को नाटकीय रूप से निभाएंगे.

इस बीच, गड़ेरिन फेबे, जिससे सिलवियस प्रेम करता है, गेनीमेड (वास्तव में रॉसलिंड) से प्रेम करने लगती है, जबकि "गेनीमेड" वास्तव में यह ज़ाहिर करता है कि उसे फेबे में कोई दिलचस्पी नहीं है। निंदक टचस्टोन भी एक मूढ़-बुद्धि बकरी-चराने वाली लड़की ऑड्रे की ओर प्रणयशील पहल करता है और उससे विवाह करने का प्रयास करता है, पर उससे पहले ही अनुचित हस्तक्षेप करने वाले जैक्स द्वारा उसकी योजना विफल कर दी जाती है।

अंत में, सिलवियस, फेबे, गेनीमेड और ऑरलैंडो इस बहस में उलझ जाते हैं कि कौन किसे प्राप्त करेगा. गेनीमेड कहता है कि वह इस समस्या को सुलझा लेगा, वह ऑरलैंडो और फेबे से यह वादा लेता है कि यदि फेबे गेनीमेड से विवाह नहीं कर पाई तो वे क्रमशः रॉसलिंड और सिलवियस से शादी कर लेंगे. अगले दिन, गेनीमेड स्वयं को रॉसलिंड के रूप में ज़ाहिर करता है और चूंकि फेबे का प्रेम गलत साबित होता है, उसे सिलवियस को अपनाना पड़ता है।

ऑरलैंडो जंगल में ऑलिवर को देखता है और एक शेरनी से उसकी रक्षा करता है, जिसके फलस्वरूप ऑलिवर को ऑरलैंडो के साथ किए गए अपने दुर्व्यवहार पर पछतावा होता है (कुछ निर्देशक इसे एक वास्तविकता के बजाय एक कथा के रूप में वर्णित करते हैं). ऑलिवर की मुलाकात एलिएना (छद्म वेश में सीलिया) से होती है और वह उससे प्यार करने लगता है और वे विवाह करने का निर्णय करते हैं। ऑरलैंडो और रॉसलिंड, ऑलिवर और सीलिया, सिलवियस और फेबे और टचस्टोन और ऑड्रे सभी का अंतिम दृश्य में विवाह हो जाता है, जिसके बाद उन्हें पता चलता है कि फ्रेडरिक को भी अपनी गलतियों पर पछतावा है और वह अपने सच्चे भाई को ड्यूक की पदवी लौटाने और स्वयं एक धार्मिक जीवन जीने का निर्णय लेता है। जैक्स, जो सदा ही उदास रहता है, महल में लौटने के उनके निमंत्रण को ठुकरा देता है और जंगल में रह कर एक धार्मिक जीवन अपनाने का विचार करता है।

दिनांक और पाठ[संपादित करें]

4 अगस्त 1600 को यह नाटक स्टेशनर्स कम्पनी के रजिस्टर में दर्ज किया गया, लेकिन 1623 में फर्स्ट फोलियो में शामिल होने से पहले तक उसे मुद्रित नहीं किया गया था।

मंच सज्जा[संपादित करें]

आर्डेन संभवतः शेक्सपियर के शहर स्ट्रैटफ़ोर्ड-अपॉन-एवन के पास के एक जंगल का स्थान-नाम है। ऑक्सफोर्ड का शेक्सपियर संस्करण तर्कसंगत तरीके से इस भौगोलिक विसंगति की व्याख्या यह मानते हुए करता है कि 'आर्डेन' केवल फ्रांस के वनाच्छादित क्षेत्र आर्डेन्नस का अंग्रेजीकरण है (जहां लॉज ने अपनी कहानी का मंच स्थापित किया था) और इसे प्रतिबिम्बित करने के लिए उसके अक्षर विन्यास को बदला गया।[2] अन्य संस्करण शेक्सपियर के 'आर्डेन' वर्तनी को ही मान कर चलतें हैं, ताकि यह तर्क दिया जा सके कि ग्रामीण शैली एक विलक्षण दुनिया को चित्रित करती है जहां भौगोलिक विवरण अप्रासंगिक होते हैं। शेक्सपियर के आर्डेन संस्करण का यह सुझाव है कि 'आर्डेन' नाम की उत्पत्ति आर्केडिया के पारम्परिक क्षेत्र और बाइबल के गार्डेन ऑफ़ ईडन के संयोजन से हुई है, क्योंकि नाटक में पारम्परिक और ईसाई मान्यताओं का मजबूत पारस्परिक प्रभाव है। इसके अतिरिक्त, शेक्सपियर की मां का नाम मेरी आर्डेन था और जंगल का नाम इस प्रकार द्विअर्थी भी हो सकता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

प्रदर्शन[संपादित करें]

पुनरुद्धार के पूर्व वहां इसके प्रदर्शन का कोई भी अभिलेख नहीं हैं। तथापि, इसका एक सम्भावित प्रदर्शन, विल्टशायर के विल्टन हॉउस में हो सकता है, जो पेमब्रोक के अर्ल्स की ग्रामीण जगह थी। पेमब्रोक के तीसरे अर्ल विलियम हर्बर्ट ने अक्तूबर से दिसंबर 1603 तक विल्टन हॉउस में जेम्स 1 और उनके दरबारियों की मेज़बानी की, जबकि जैकोबीयन लन्दन ब्युबोनिक प्लेग की महामारी से पीड़ित था। शाही लोगों को विल्टन हॉउस में आने और 2 दिसम्बर 1603 को राजा और दरबारियों के समक्ष प्रदर्शन करने के लिए 30 पाउंड का भुगतान किया गया। हरबर्ट की एक पारिवारिक परम्परा का यह मानना है कि उस रात प्रदर्शित नाटक ऐज़ यू लाइक इट ही थी।[3]

अंग्रेज़ी पुनरुद्धार के दौरान, राजा के सहयोगियों को 1669 में शाही अधिपत्र द्वारा यह नाटक सौंपा गया था। 1723 में इसका ड्रुरी लेन में लव इन अ फॉरेस्ट के नाम से रूपांतरण प्रदर्शित किये जाने की जानकारी है; जिसमें जैक्स का किरदार कोले सिबर ने निभाया था। सत्रह वर्ष बाद एक और ड्रुरी लेन निर्माण शेक्सपीरियन पाठ में लौटा (1740).[4]

ऐज़ यू लाइक इट के उल्लेखनीय हालिया प्रदर्शनों में 1936 का एडिथ इवांस अभिनीत ओल्ड विक थिएटर प्रस्तुति और 1961 का वैनेसा रेडग्रेव अभिनीत शेक्सपियर मेमोरियल प्रस्तुति शामिल है। सर्वाधिक लंबे समय तक चलने वाली ब्रॉडवे प्रस्तुति में कैथरीन हेपबर्न ने रॉसलिंड की, क्लोरिस लीचमैन ने सीलिया की, विलियम प्रिंस ने ऑरलैंडो की और अर्नेस्ट थेसिगर ने जैक्स की भूमिका निभाई और इसे माइकल बेन्थल द्वारा निर्देशित किया गया। 1950 में इसके 145 प्रदर्शन हुए. इसका एक और उल्लेखनीय प्रदर्शन स्ट्रैटफ़ोर्ड, ओंटेरियो में 2005 के स्ट्रैटफ़ोर्ड महोत्सव में किया गया, ओंटेरियो को 1960 के दशक में बनाया गया और इसमें बेयरनेकेड लेडीज़ द्वारा लिखे संगीत पर विन्यस्त शेक्सपियर के बोलों को विशेष रूप से प्रस्तुत किया जाता था।

आलोचनात्मक प्रतिक्रियाएं[संपादित करें]

रॉबर्ट वाकर मैकबेथ द्वारा रॉसलिंड

विद्वानों ने लम्बे समय तक इस नाटक की खूबियों के बारे में असहमति जताई. आलोचक सैम्युल जॉनसन से लेकर जॉर्ज बर्नार्ड शॉ तक सभी ने यह असंतोष प्रकट किया कि ऐज यू लाइक इट में वह कलात्मकता लुप्त है जिसमें शेक्सपियर सक्षम थे। शॉ सोचते थे कि शेक्सपियर ने इस नाटक को आम लोगों को संतुष्ट करने के लिए लिखा होगा और इस कृति के बारे में अपने मध्यम विचार का संकेत उसे ऐज़ यू लाइक इट कहते हुए दिया - मानो इस राय से नाटककार सहमत नहीं थे। टॉल्स्टॉय ने पात्रों की अनैतिकता और टचस्टोन के निरंतर मूर्खतापूर्ण व्यवहार पर आपत्ति जताई. अन्य आलोचकों ने इस कृति में महान साहित्यिक मूल्यों को पाया। हेरोल्ड ब्लूम ने लिखा कि रॉसलिंड शेक्सपियर के महिला पात्रों में सबसे महान और सबसे पूर्णता प्राप्त महिला पात्र है। आलोचनात्मक विवादों के बावजूद, यह नाटक शेक्सपियर की एक सर्वाधिक महत्वपूर्ण और प्रायः प्रदर्शित की जाने वाली हास्यप्रधान नाटक बनी हुई है।

कहानी में विस्तृत लिंग व्युत्क्रमण लिंग अध्ययनों में रूचि रखने वाले आधुनिक आलोचकों के लिए विशेष रूप से रुचिकर हैं। नाटक के चार अध्यायों में, रॉसलिंड - शेक्सपियर के ज़माने में जो भूमिका लड़कों द्वारा निभाई जाती थी - स्वयं को लड़के के रूप में वेश बदलना आवश्यक समझती है, जबकि ग्रामीण महिला फेबे (यह भूमिका भी लड़कों द्वारा निभाई जानेवाली), "गेनीमेड" के प्रति आकर्षित हो जाती है, जिसके नाम में एक समलैंगिककामुकता की ध्वनि है। वास्तव में, रॉसलिंड द्वारा दर्शकों से बताये गये उपसंहार में, स्पष्ट रूप से यह प्रकट होता है कि वह (या कम से कम उसे अभिनीत करने वाला अभिनेता) एक महिला नहीं है।

विषय-वस्तु[संपादित करें]

धार्मिक रूपक[संपादित करें]

एमिली बेयार्ड द्वारा शेक्सपियर के ऐज़ यू लाइक इट में चित्रण (1837-1891). "रॉसलिंड ऑरलैंडो को एक चेन देती है।"

विसकॉनसिन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रिचर्ड नोव्लेस ने, जो 1977 में नाटक के न्यू वेरीओरम संस्करण के संपादक हैं, अपने लेख "मिथ एंड टाइप इन ऐज़ यू लाइक इट"[5] में वर्णित किया है कि कैसे इस नाटक में पौराणिक संदर्भ शामिल हैं विशेषकर ईडन, हरक्युलिस और क्राइस्ट के संदर्भ में. हालांकि, वे रूपक-संबंधी कोई ठोस अर्थ निकाल पाने में असमर्थ रहे और इसलिए यह निष्कर्ष निकाला कि यह एक रूपक नाटक नहीं हो सकता है। बहरहाल, अन्य विद्वानों का दावा था कि वास्तव में इस नाटक में लगातार एक व्यंजनापूर्ण अर्थ है और इसे प्रस्तुति में बदला जा सकता है।

भाषा[संपादित करें]

अंक दो, दृश्य 7 में, शेक्सपियर का एक सबसे प्रसिद्ध एकालाप शामिल है, जो कहता है:

"All the world's a stage
And all the men and women merely players;
They have their exits and their entrances,
And one man in his time plays many parts,
His acts being seven ages."

यह प्रसिद्ध एकालाप जैक्स द्वारा बोला जाता है। इसमें आकर्षक परिकल्पना और अलंकार है जिससे केन्द्रीय रूपकालंकार का विकास हो सके, जिसके अनुसार: एक व्यक्ति का जीवनकाल सात अंकों वाला नाटक है। ये अंक, "सात दशाएं," "दाई की बांहों में किलकारियां भरते और कै करते शिशु" से शुरू होती हैं और छः सुस्पष्ट मौखिक चित्रांकन के माध्यम से आगे बढ़ते हुए "दूसरे बचपन और निरी विस्मृति में/ बेदांत, नेत्रहीन, बेस्वाद, बिना सबके" चरम बिंदु पर पहुंचती है।

ग्रामीण विधि[संपादित करें]

चित्र:Deverell.JPG
वाल्टर डेवेरिल, ऑरलैंडो और रॉसलिंड की नकली शादी, 1853

पैस्टोरल कॉमेडी की विषय वस्तु होती है ग्रामीण परिवेश में अपने हर रूप में प्रेम, ऑरलेंडो की कृत्रिम भावुकता की तुलना में रॉसलिंड द्वारा मूर्त वास्तविक प्रेम और अप्रत्याशित घटनाएं जो शहरी दरबारियों को प्रवास, सांत्वना या स्वतंत्रता की तलाश में भटकाती है, जंगल में अचानक होने वाले मुठभेड़ों के सिलसिले से अधिक अवास्तविक नहीं है, जो विनोदपूर्ण परिहास उत्तेजित करती हैं और जिसे आलेखन की बारीकी और चरित्र विकास की आवश्यकता नही होती है। पहले अंक का मुख्य कार्य-व्यापार किसी कुश्ती के खेल से बढ़कर और कुछ नहीं है और पूरा अभिनय एक गीत से प्रायः बाधित होता रहता है। अंत में, खुद हैमेन विवाह उत्सव में आशीर्वाद देने आता है।

विलियम शेक्सपियर द्वारा रचित नाटक ऐज़ यू लाइक इट स्पष्ट रूप से एक ग्रामीण रोमांस शैली के अंतर्गत आती है; परन्तु शेक्सपियर केवल शैली का इस्तेमाल ही नहीं करते, बल्कि उन्हें विकसित करते थे। शेक्सपियर ने ऐज़ यू लाइक इट को लिखने के लिए ग्रामीण शैली का प्रयोग इसलिए भी किया, ताकि वे दुःख व अन्याय को पैदा करने वाली सामाजिक प्रथाओं पर एक आलोचनात्मक दृष्टि डाल सकें और असामाजिक, मूर्ख और आत्मघाती व्यवहार का मज़ाक उड़ा सकें, सर्वाधिक स्पष्ट रूप से प्रेम की वस्तु-विषय के ज़रिये, जो परंपरागत अलभ्य प्रेमियों की अवधारणा की अस्वीकृति में परिणत होता है।[6]

पारंपरिक परीस्थितियों में पारिवारिक पात्र शेक्सपियर व उनके दर्शकों के लिए परिचित विषय-वस्तु थी; वह तो केवल हाजिर जवाबी और विषय की व्यापकता है जो पाठ को बुद्धिमत्ता प्रदान करती है, जो कार्यवाही पर एक ताज़ा मोहर लगाती हैं। नाटक के केंद्र में रॉसलिंड की आशावादिता की तुलना जैक्स के स्त्री विरोधात्मक शोक के साथ की गई है। बाद में शेक्सपियर ने कुछ विषय-वस्तुओं को अधिक गंभीरता से लिया: अन्यायी ड्यूक और निर्वासित ड्यूक ने मेशर फॉर मेशर और टेम्पेस्ट को विषय-वस्तु प्रदान किया।

कई निर्देशकों ने यह पाया कि, एक नाटक जो जंगल में अचानक मुठभेड़ों और कई उलझे प्रेम-संबंधों पर आधारित है और जिसमें सभी घटनाएं एक शांत ग्रामीण परिवेश में घटती हैं, विशेष रूप से बाहर किसी बाग़ या उक जैसी जगहों पर प्रभावी रहेगी.

रूपांतरण[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

ह्यूज थॉमसन द्वारा रॉसलिंड और सीलिया

डोनोवैन ने "अंडर दी ग्रीनवुड ट्री" के संगीत को तैयार किया और अ गिफ्ट फ्रॉम अ फ्लावर टू अ गार्डेन के लिए 1968 में रिकॉर्ड किया।

थॉमस मॉर्ले (सदी.1557-1602) ने "इट वॉज़ अ लवर एंड हिस लैस" के लिए संगीत की रचना की, वे और शेक्सपियर एक ही मुहल्ले में रहते थे और वे कभी-कभी शेक्सपियर के नाटकों के लिए संगीत रचना किया करते थे।

रेडियो[संपादित करें]

अमेरिकी राज्य मिनेसोटा के WCAL रेडियो स्टेशन के इतिहास में, ऐज़ यू लाइक इट रेडियो पर प्रसारित की जाने वाली सर्वप्रथम नाटक रही होगी. यह 1922 में प्रसारित हुई थी।

फ़िल्म[संपादित करें]

इन्हें भी देखें: Shakespeare on screen#As You Like It

ऐज़ यू लाइक इट लॉरेंस ऑलिवर की पहली शेक्सपियर फिल्म थी, हालांकि उसका निर्माण और निर्देशन न कर के, उन्होंने केवल अभिनय किया था। ब्रिटेन में निर्मित और 1936 में प्रदर्शित, इस फिल्म में निर्देशक पॉल ज़िन्नेर की पत्नी एलिज़ाबेथ बर्गनर ने अपने जर्मन भाषा के मोटे उच्चारण के साथ रॉसलिंड की भूमिका निभाई थी। हालांकि यह फिल्म, लगभग उसी समय बनी अ मिडसमर नाइट्स ड्रीम और रोमियो और जूलियट संस्करणों से कम हॉलीवुड की रंगत लिए थी और हालांकि उसमें काम करने वाले सभी कलाकार शेक्सपीरियन अभिनेता ही थे, यह फिल्म ऑलीवर या आलोचकों द्वारा सफल नहीं मानी गयी।

बैसिल कोलेमन द्वारा निर्देशित ऐज़ यू लाइक इट के 1978 BBC वीडियो टेप संस्करण में हेलेन मिरेन ने रॉसलिंड की भूमिका निभाई.[7]

1992 में, क्रिस्टाइन एड्जार्ड ने इस नाटक का एक और फिल्म रूपांतरण बनाया. इसमें, जेम्स फ़ॉक्स, सीरिल क्युसैक, एंड्रयू टीअर्नान, ग्रिफ रहिस जोन्स और एवेन ब्रेम्नर ने भूमिकाएं निभाईं. क्रियाकलापों को एक आधुनिक और फीकी शहरी दुनिया में स्थानांतरित किया गया है।

19वीं सदी के जापान में सेट और केनेथ ब्रैनाघ द्वारा निर्देशित ऐज़ यू लाइक इट का संस्करण जारी किया गया। इसमें ब्राइस डैलास हॉवर्ड, डेविड ओयेलोवो, रोमोला गेराई, एल्फ्रेड मोलिना, केविन क्लाइन और ब्रायन ब्लेस्ड ने अभिनय किया। हालांकि यह वास्तव में सिनेमाघरों के लिए बनाई गयी थी, लेकिन इसे केवल यूरोप के थिएटरों में ही जारी किया गया और 2007 में अमेरिका में HBO पर इसका प्रीमियर हुआ।

संगीत थिएटर[संपादित करें]

डैनियल एक्विसिटो और सैमी बक ने नाटक को "लाइक यू लाइक इट" शीर्षक के साथ 80 के दशक की संगीत-विषयक रूपांतरण में बदला.[8]

ग्राफिक उपन्यास[संपादित करें]

जनवरी 2009 में सेल्फ-मेड हीरो प्रकाशकों द्वारा एक मंगा-स्टाइल ग्राफिक उपन्यास जारी किया गया, जिसमें आर्डेन के जंगलों को आधुनिक चीन में स्थानांतरित कर दिया गया। कहानी को रिचर्ड एपीग्नैनेसी द्वारा रूपांतरित किया गया और इसमें विशेष रूप से ची कुत्सूवादा के चित्र शामिल हैं।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. डोलन, फ्रांसिस ई. शेक्सपियर के ऐज़ यू लाइक इट में "इंट्रोडक्शन" न्यूयॉर्क: पेनगुइन बुक्स, 2000.
  2. Bate, Jonathan (2008). Soul of the Age: the life, mind and world of William Shakespeare. London: Viking. प॰ 37. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-670-91482-1. 
  3. एफ़.ई हैलीडे अ शेक्सपियर कम्पैनियन 1564-1964, बाल्टीमोर, पेनगुइन, 1964, पृ. 531.
  4. हैलीडे,शेक्सपियर कम्पैनियन, पृ. 40.
  5. ELH, खंड 33, मार्च (1966) पृ.1-22
  6. Sarah Clough. "As You Like It: Pastoral Comedy, The Roots and History of Pastoral Romance". Sheffield Theatres. http://www.sheffieldtheatres.co.uk/creativedevelopmentprogramme/productions/asyoulikeit/comedy.shtml. अभिगमन तिथि: 2008-08-10. 
  7. ऐज़ यू लाइक इट (1978) http://www.imdb.com/title/tt0077180/ इंटरनेट मूवी डेटाबेस पर
  8. "Sammy Buck". Sammy Buck. 2007-05-29. http://www.sammybuck.com/words. अभिगमन तिथि: 2009-04-23. 

बाह्य लिंक[संपादित करें]

Wikisource
विकिसोर्स में ऐज़ यू लाइक इट लेख से संबंधित मूल साहित्य है।