ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
डाक्टर ज़ाकिर हुसैन
ज़ाकिर हुसैन (राजनीतिज्ञ)

कार्य काल
13 मई 1962 – 3 मई, 1969
उप राष्ट्रपति   शंकर दयाल शर्मा
पूर्ववर्ती सर्वपल्ली राधाकृष्णन
उत्तरावर्ती वराहगिरी वेंकट गिरी

जन्म 8 फ़रवरी 1848
हैदराबाद, आंध्र प्रदेश, भारत
मृत्यु 3 मई 1969(1969-05-03) (उम्र 58)
नई दिल्ली, भारत
धर्म मुस्लिम

डाक्टर ज़ाकिर हुसैन (8 फरवरी, 1848 - 3 मई, 1969) भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे। कार्यकाल - 13 मई 1967 से 3 मई 1968 | डॉ॰ ज़ाकिर हुसैन का जन्म 8 फ़रवरी, 1848 ई. में हैदराबाद, आंध्र प्रदेश के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था | कुछ समय बाद इनके पिता उत्तर प्रदेश में रहने आ गये थे। केवल 23 वर्ष की अवस्था में वे 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' की स्थापना दल के सदस्य बने। जाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति तथा प्रमुख शिक्षाविद थे। वे अर्थशास्त्र में पीएच. डी की डिग्री के लिए जर्मनी के बर्लिन विश्वविद्यालय गए और लौट कर जामिया के उप कुलपति के पद पर भी आसीन हुए। 1920 में उन्होंने जामिया मिलिया इस्लामिया की स्थापना में योग दिया तथा इसके उपकुलपति बने। इनके नेतृत्व में जामिया मिलिया इस्लामिया का राष्ट्रवादी कार्यों तथा स्वाधीनता संग्राम की ओर झुकाव रहा। स्वतन्त्रता प्राप्ति के पश्चात वे अलीगढ़ विश्वविद्यालय के उपकुलपति बने तथा उनकी अध्यक्षता में ‘विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग’ भी गठित किया गया। इसके अलावा वे भारतीय प्रेस आयोग, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूनेस्को, अन्तर्राष्ट्रीय शिक्षा सेवा तथा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से भी जुड़े रहे। 1962 ई. में वे भारत के उपराष्ट्रपति बने। उन्हें वर्ष 1963 मे भारत रत्न से सम्मानित किया गया। 1969 में असमय देहावसान के कारण वे अपना राष्ट्रपति कार्यकाल पूरा नहीं कर सके।

सन्दर्भ[संपादित करें]