खमेर लिपि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ब्राह्मी लिपि से जन्मी लिपियाँ

उत्तरी ब्राह्मी

दक्षिणी ब्राह्मी

खमेर लिपि (អក្ខរក្រមខេមរភាសា; अक्खरक्रम खमेर फिआसा, अनौपचारिक रूप से, अक्सर खमेर; អក្សរខ្មែរ) कम्बोडिया की खमेर भाषा को लिखने में प्रयुक्त होने वाली लिपि है। ऐसा विश्वास किया जाता है कि खमेर लिपि का विकास भारत की पल्लव लिपि (ग्रन्थ लिपि) से हुआ।

खमेर लिपि विश्व की सबसे वृहद वर्णमाला है (गिनीज बुक ऑफ वर्ड रिकॉर्ड्स, 1995). इसमें ३३ ब्यंजन, २३ स्वर तथा १२ स्वतंत्र स्वर हैं। जो २३ मुख्य ब्यंजन हैं उनको दो समूहों में बाँटा जा सकता है, प्रथम श्रेणी (लघु ध्वनि) तथा द्वितीय श्रेणी (दीर्घ ध्वनि) इसके अलावा इसके प्रत्येक ब्यंजन के दो रूप हैं - पहला, सामान्य रूप और दूसरा, ब्यंजन के नीचे वाला रूप। इसके अलावा इसके सर्वाधिक प्रयुक्त १० ब्यंजनों का एक 'औपचारिक रूप' भी है जो शीर्षक, विज्ञापन, मंदिर की दीवारों आदि पर लिखने के लिये प्रयुक्त होता है। इस प्रकार कुल १०१ अलग-अलग प्रतीक हैं।

ब्यंजन[संपादित करें]

ब्यंजन नीचे वाला रूप
(Subscript form)
UN romanization IPA
្ក
្ខ khâ kʰɑ
្គ
្ឃ khô kʰɔ
្ង ngô ŋɔ
្ច châ
្ឆ chhâ cʰɑ
្ជ chô
្ឈ chhô cʰɔ
្ញ nhô ɲɔ
្ដ ɗɑ
្ឋ thâ tʰɑ
្ឌ ɗɔ
្ឍ thô tʰɔ
្ណ
្ត
្ថ thâ tʰɑ
្ទ
្ធ thô tʰɔ
្ន
្ប ɓɑ
្ផ phâ pʰɑ
្ព
្ភ phô pʰɔ
្ម
្យ
្រ
្ល
្វ ʋɔ
្ឝ shâ -
្ឞ ssô -
្ស
្ហ
្ឡ*
្អ ʔɑ

मात्राएँ (Dependent vowels)[संपादित करें]

Dependent
vowels
UN romanization IPA
a-series o-series a-series o-series
អា a éa iːə
អិ ĕ ĭ e i
អី ei i əj
អឹ œ̆ ə ɨ
អឺ œ əːɨ ɨː
អុ ŏ ŭ o u
អូ o u oːu
អួ uːə
អើ aeu eu aːə əː
អឿ eua ɨːə
អៀ iːə
អេ é eːi
អែ ê aːe ɛː
អៃ ai ey aj ɨj
អោ aːo
អៅ au ŏu aw ɨw
អុំ om ŭm om um
អំ âm um ɑm um
អាំ ăm ŏâm am oəm
អះ ăh eăh eəʰ
អុះ ŏh uh
អេះ éh eiʰ
អោះ aŏh uŏh ɑʰ ʊəʰ

स्वतंत्र स्वर[संपादित करें]

Independent
vowels
UN romanization IPA
ĕ ʔe
ei ʔəj
ŏ ʔ
ŭ ʔu
ŏu ʔɨw
rœ̆ ʔrɨ
ʔrɨː
lœ̆ ʔlɨ
ʔlɨː
é ʔae; ʔɛː,ʔeː
ai ʔaj
, aô, aôy ʔaːo
âu ʔaw

देवनागरी और म्यांमार लिपियों से तुलना[संपादित करें]

खमेर ब्यंजन

देवनागरी ब्यंजन

म्यांमार ब्यंजन

रोमन लिप्यन्तरण

က Ka
Kha
Ga
Gha
NGa
Ca
Cha
Ja
Jha
Ña
ṭa
ḍa
ḍha
Ta
Tha
Da
Dha
Na
Pa
Pha
Ba
Bha
Ma
Ya
Ra
La
Va
Sha
Shha
Sa
Ha
La
'A

कुछ भारतीय शब्द खमेर और बर्मी लिपि में इस प्रकार लिखे जाते हैं-

  1. शिव [Shi-va] > សិវា [Se-va] > သေဝါ [θe-va]
  2. ब्रह्मा [Brah-ma] > ព្រហ្ម [Prah-m] > ဗြဝါ [Brah-ma]
  3. विष्णु [Vi-shnu] > វិស្ណុ [Vi-sno] > ဗိဿနိး [Vi-θno]

खमेर का यूनिकोड[संपादित करें]

  0 1 2 3 4 5 6 7 8 9 A B C D E F
1780
1790
17A0
17B0
17C0
17D0    
17E0            
17F0            

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • खमेर लिपि