कोहाट ज़िला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत में कोहाट ज़िला (लाल रंग में)

कोहाट (उर्दू: کوہاٹ, पश्तो: کوهاټ, अंग्रेज़ी: Kohat) पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत का एक ज़िला है। यह करक ज़िले के उत्तर में और फ़ाटा नाम के क़बीलाई इलाक़ों के दक्षिण में स्थित है। इसमें बहुत से पश्तून क़बीलों के लोग रहते हैं, जैसे कि अफ़रीदी, ख़टक, बन्गश और ओरकज़ई। इस पूरे क्षेत्र में पश्तो बोली जाती है। कोहाट दो तहसीलों में बँटा हुआ है - कोहाट तहसील और लाची तहसील।

इतिहास[संपादित करें]

कोहाट ज़िले में सन् १९९८ में ५,६२,६४४ लोगों कि आबादी थी। इसका क्षेत्रफल क़रीब २,५४५ वर्ग किमी है। यहाँ पर १४वीं सदी ईस्वी में अफ़रीदी, ख़टक और बन्गश क़बीलों के पठान लोग आकर बस गए और अपना राज चलने लगे। १९वीं सदी में पंजाब से फैल रहे सिख साम्राज्य ने कोहाट पर क़ब्ज़ा कर लिया और अपनी हुकूमत चलाई। १८३६ में सिख साम्राज्य के पतन के साथ-साथ टेरी नामक शहर के नवाब ने यहाँ अपना राज आरम्भ कर दिया। २८ मार्च १८४९ को पंजाब के साथ-साथ कोहाट भी भारत में ब्रिटिश राज का हिस्सा बन गया। अंग्रेज़ों ने यहाँ राज तो चलाया लेकिन स्थानीय लोग हमेशा उनके विरुद्ध समय-समय पर उपद्रव करते रहे।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]