१०३६ गैनिमीड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अगर आप के इस से मिलते-जुलते नाम के बृहस्पति ग्रह के उपग्रह के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो गैनिमीड (उपग्रह) वाला लेख देखिये
इस चित्र में १०३६ गैनिमीड की कक्षा नीले रंग में है; सबसे बाहरी लाल गोला बृहस्पति की कक्षा है

१०३६ गैनिमीड (1036 Ganymed) सबसे बड़ा पृथ्वी-समीप क्षुद्रग्रह है। इसका व्यास (डायामीटर) ३२-३४ किमी है। इसकी खोज १९३४ में हुई थी। हालांकि कई अन्य हीन ग्रहों की कक्षाएँ (ओरबिट) समझना कठिन होती है, १०३६ गैनिमीड की कक्षा स्पष्ट और निर्धरित है। इसका पृथ्वी के पास का अगला आगमन १३ अक्तूबर २०२४ को होगा जब यह हमारे ग्रह से 0.३७४०९७ खगोलीय ईकाईयों (५,५९,६४,१०० किमी यानि ३,४७,७४,५०० मील) की दूरी से गुज़रेगा।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "JPL Close-Approach Data: 1036 Ganymed (1924 TD)" (last observation: 2012-01-10). Retrieved 2012-01-15.