स्पारिडाए

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्पारिडाए
Sparidae
Diplodus vulgaris.jpg
डिप्लोड वलगैरिस (Diplodus vulgaris)
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: रज्जुकी (Chordata)
वर्ग: ऐक्टिनोप्टरिजियाए (Actinopterygii)
गण: पर्सिफ़ोर्मेज़ (Perciformes)
उपगण: परकोइडेई (Percoidei)
कुल: स्पारिडाए (Sparidae)
राफ़िनेस्क, १८१०

स्पारिडाए (Sparidae), जिन्हें समुद्री ब्रीम (sea bream) और पोर्गी (porgy) भी कहते हैं, हड्डीदार मछलियों के पर्सिफ़ोर्मेज़ गण का एक कुल है। इनके चौड़े, पिचके शरीर होते हैं, जिसमें एक छोटा मुँह और उस से कुछ दूर पर आँख स्थित होती है। पीठ पर एक पृष्ठीय फ़िन और बदन पर बड़े आकार के शल्क होते हैं।[1] इस कुल की मछलियाँ कम गहराई वाले उपोष्णकटिबन्धीय और समशीतोष्णीय सागरों व महासागरों में सागरतह के पास मिलती हैं। यह अन्य मछलियाँ और क्रस्टेशियाई खाते हैं और इनकी अधिकतर जातियों के मुँह में खाना पीसने के लिए दाढ़-जैसे दाँत होते हैं।[2] इन्हें मत्स्योद्योग में खाने के प्रयोग के लिए भारी मात्रा में पकड़ा जाता है जिस से कई जातियों की प्राणीसंख्या में बहुत कमी हो गई है।[3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Bray, D.J. & Gomon, M.F. (2012): Breams , SPARIDAE, in Fishes of Australia http://www.fishesofaustralia.net.au/home/family/129 Archived 8 मार्च 2017 at the वेबैक मशीन.
  2. Johnson, G.D. & Gill, A.C. (1998). Paxton, J.R. & Eschmeyer, W.N. (संपा॰). Encyclopedia of Fishes. San Diego: Academic Press. पृ॰ 184. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-12-547665-5. Eating the head is known to cause hallucinations, lasting many days.
  3. Hogan, C.M. (2010): Overfishing. Encyclopedia of Earth. National Council for Science and the Environment Archived 20 अगस्त 2010 at the वेबैक मशीन..