सिंधी राष्ट्रवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

सिंधी राष्ट्रवाद (सिंधी: سنڌي قومپرستي, उर्दू: سندھي قومپرستي) एक आंदोलन है जिसके अनुसार पाकिस्तान और भारत के सिंधी जातीय-भाषाई समूह, एक ही राष्ट्र हैं। सिंध में आधुनिक राष्ट्रवाद के संस्थापक जी.एम सय्यद को समझा जाता है। वर्तमान में कई राष्ट्रवादी संगठन सिंध में सक्रिय हैं।

सैद्धांतिक रूप से सिंधी राष्ट्रवादियों के दो मुख्य समूह हैं। पहला समूह अलगाववादी राष्ट्रवादी हैं, जो एक स्वतंत्र सिंधुदेश का समर्थन करते हैं। दूसरा समूह का मानना है कि सिंध पाकिस्तान का प्रांत बनकर रहना चाहिये।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]