सागरमल गोपा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सागरमल गोपा (1900 - 1946) भारत के स्वतन्त्रता सेनानी एवं देशभक्त थे। वे राजस्थान के निवासी थे।

इनका जन्म जैसलमेर में हुआ था।

इन्होंने अपने क्रांतिकारी भाषणों और लेखों से जैसलमेर महाराजा जवाहर सिंह को नाराज कर दिया।इसलिए इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

4 अप्रैल 1946 के दिन थानेदार गुमानसिंह ने मिट्टी का तेल डालकर इन्हें जिंदा जला दिया गया। सागर मल गोपा की पुस्तक- १ जैसलमेर का गुंडाराज। २ आजादी के दिवाने । सागरमल गोपा की मर्त्यु के कारणों की जांच के लिए "गोपालस्वरूप पाठक आयोग" गठित किया गया था ।