सलीम मलिक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सलीम मलिक
سلیم ملک
व्यक्तिगत जानकारी
पूरा नाम सलीम मलिक परवेज़
जन्म 16 अप्रैल 1963 (1963-04-16) (आयु 56)
कायरपोरा, लाहौर, पाकिस्तान
बल्लेबाजी की शैली दाहिने हाथ के बल्लेबाज
गेंदबाजी की शैली दाहिने हाथ से ऑफ़ ब्रेक / स्लो मीडियम
भूमिका विकेट-कीपर और बल्लेबाज
अंतर्राष्ट्रीय जानकारी
राष्ट्रीय पक्ष
टेस्ट में पदार्पण (कैप 90)5 मार्च 1982 बनाम श्रीलंका
अंतिम टेस्ट20 फरवरी 1999 बनाम भारत
वनडे पदार्पण (कैप 38)12 जनवरी 1982 बनाम वेस्टइंडीज
अंतिम एक दिवसीय8 जून 1999 बनाम भारत
एक दिवसीय शर्ट स॰3
घरेलू टीम की जानकारी
वर्षटीम
1981–1999 लाहौर क्रिकेट टीम
1982–2000 हबीब बैंक लिमिटेड क्रिकेट टीम
1991–1993 एसेक्स काउंटी क्रिकेट[1] क्लब
1991–1992 सरगोधा क्रिकेट टीम
कैरियर के आँकड़े
प्रतियोगिता टेस्ट वनडे प्रथम श्रेणी लिस्ट ए
मैच 103 283 269 426
रन बनाये 5,768 7,170 16,586 11,856
औसत बल्लेबाजी 43.69 32.88 45.94 36.59
शतक/अर्धशतक 15/29 5/47 43/81 12/78
उच्च स्कोर 237 140 237 138
गेंद किया 734 3,505 5,784 5,745
विकेट 5 89 93 160
औसत गेंदबाजी 82.80 33.24 35.30 29.35
एक पारी में ५ विकेट 0 1 4 1
मैच में १० विकेट n/a 0 n/a
श्रेष्ठ गेंदबाजी 1/3 5/35 5/19 5/35
कैच/स्टम्प 65/– 81/– 167/– 141/–
स्रोत : क्रिकइन्फो, ०६ नवम्बर २०१७

सलीम मलिक (अंग्रेजी: Saleem Malik) (जन्म ;१६ अप्रैल १९६३) (सलिम मलिक के नाम से भी जाना जाता है) एक पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी है जो १९८१/८२ और १९९९ के बीच पाक टीम के लिए खेला करते थे, साथ ही एक समय पर इन्होंने [2] पाकिस्तानी क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया गया था। ये एक दाएं हाथ वाले मध्य क्रम के बल्लेबाज थे और मुख्य रूप से एक विकेट-कीपर की भूमिका निभाते थे। इसके अलावा उनकी लटका गेंदबाजी भी काफी प्रभावी थी। १०० से अधिक टेस्ट खेलने के बावजूद ये क्रिकेट के इतिहास में नीचे ही रहे क्योंकि २१वीं शताब्दी के शुरूआती दौर में इन पर मैच फिक्सिंग के लिए कई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर प्रतिबंध लगाया गया था। सलीम पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी इजाज अहमद के भाई हैं।

इन्होंने १२ टेस्ट में पाकिस्तान का नेतृत्व किया, जिसमें ७ मैचों में जीत भी मिली थी जबकि एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में इन्होंने ३४ बार अपने देश का नेतृत्व किया और उनमें से २१ को जीत पाकिस्तान जीत पाया था।[3]

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर[संपादित करें]

मलिक ने अपना पहला टेस्ट मैच मार्च १९८२ में कराची में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। अपनी पहली पारी में १२ रनों के बाद उन्होंने दूसरी पारी जब तक पारी घोषित की तब तक इन्होंने नाबाद १०० रन बनाए। १८ वर्ष और ३२३ वर्ष की आयु में ये पहली बार टेस्ट मैच में शतक बनाने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी गए थे।

१९८७ में इंग्लैंड के दौरे के दौरान, मलिक ने हेडिंग्ले में ९९ रनों पर आउट हो गए और द ओवल में इन्होंने शानदार शतक लगाते हुए १०२ रन बनाए। मलिक १९०० के दशक के शुरूआती वर्षों में एसेक्स के लिए खेल रहे थे। १९९१ में उनका अच्छा सत्र था, जिसमें इन्होंने १९८७२ रन बनाते हुए, एसेक्स के लिए गैर-अंग्रेज़ी खिलाड़ी द्वारा तीसरे स्थान पर रहे जिन्होंने सबसे ज्यादा रन बनाए।

एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनके उल्लेखनीय प्रदर्शन में से एक वह एक पारी थी जिसने १९८७ में भारत के खिलाफ खेली थी। ४० ओवर में २३८ रन का पीछा करते हुए, पाकिस्तान को १६१ पर ५ विकेट गिर गए थे। तब सलीम क्रीज पर पहुंचे। उन्होंने शेष ७७ रनों में से ७२ रन बनाए, जिससे उन्होंने सिर्फ ३६ गेंदें खेली। उन्होंने नाबाद रहते हुए मैच समाप्त कर दिया और पाकिस्तान ने २ विकेट से और मैच में 3 गेंद शेष रहते मैच जीत गए।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. क्रिकेट आर्काइव. ""Most Runs in a Season for Essex"". अभिगमन तिथि 7 नवम्बर 2017.
  2. ""1984–1985 Pakistan v New Zealand – 2nd Match – Faisalabad (Lyallpur)"". अभिगमन तिथि 7 नवम्बर 2017.
  3. क्रिकइन्फो. ""Scorecard: Pakistan vs Sri Lanka"". अभिगमन तिथि 7 नवम्बर 2017.