सरला बेन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सरला बेन
जन्म 5 अप्रैल 1901
शेपर्ड्स बुश
मृत्यु 8 जुलाई 1982
पुरस्कार Jamnalal Bajaj Award[*]

सरला बेन (जन्म कैथरीन मैरी हेइलमैन; 5 अप्रैल 1901  – 8 जुलाई 1982) एक अंग्रेजी गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता थी उत्तराखंड, भारत के कुमाऊं क्षेत्र के जिसके काम नेराज्य के हिमालयी जंगलों में पर्यावरणीय विनाश के बारे में जागरुकता पैदा करने में मदद की। उन्होंने चिप्को आंदोलन के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और भारत में कई गांधीवादी पर्यावरणविदों को प्रभावित किया, जिसमें चंडी प्रसाद भट्ट, बिमला बेन और सुंदरलाल बहुगुणा शामिल थे। मिराबेन के साथ, वह महात्मा गांधी की दो अंग्रेज बेटियों में से एक के रूप में जानी जाती है। दो महिलाओं का काम ने क्रमशः गढ़वाल और कुमाओं में स्वतंत्र भारत में पर्यावरणीय क्षरण और संरक्षण के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।.[1][2][3][4]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

सरला बेहन, यानि कैथरीन मरियम हेमिलमैन का जन्म 1901 में वेस्टर्न लन्दन के शेफर्ड बुश क्षेत्र में जर्मन स्विस एक्सट्रैक्शन के पिता और एक अंग्रेजी मां से हुआ था। उनकी पृष्ठभूमि के कारण, उनके पिता को प्रथम विश्व युद्ध के दौरान बंद कर दिया गया और कैथरीन खुद बहिष्कार का सामना करना पड़ा और स्कूल में छात्रवृत्ति नहीं दी गई थी; उसने जल्दी स्कूल छोड़ दिया। उस ने परिवार और घर को छोड़कर एक क्लर्क के रूप में कुछ समय तक काम किया, और 1920 के दशक के दौरान लंदन में भारतीय छात्रों के संपर्क में आई, जो भारत में गांधी से और भारत में स्वतंत्रता संग्राम की जान पहिचान करवाई। प्रेरित होकर, वह जनवरी 1932 में कभी भी वापस ना लौटने के लिए इंग्लैंड से भारत को निकल पड़ी।.[5][6]

गांधी के साथ जीवन[संपादित करें]

गांधी से मिलने जाने से पहले उसने कुछ समय के लिए उदयपुर के एक स्कूल में  काम किया। गांधी के साथ वे वर्धा में सेवाग्राम में उसके आश्रम में आठ साल तक रही। यहां वह गांधी के नई तालीम या बुनियादी शिक्षा के विचार में गहराई से शामिल थी और सेवाग्राम में महिलाओं को सशक्त बनाने और पर्यावरण की रक्षा के लिए काम किया। यह गांधी थे जिन्होंने उसे सरला बेन का नाम दिया था।[7][8] गर्मी और मलेरिया ने उसे सेवाग्राम में पीड़ित किया और गांधीजी की सहमति के साथ वह 1940 में संयुक्त प्रांत के अल्मोड़ा जिले में कौसानी के अधिक आकर्षक मौसमों में जा पहुंची। उसने उसे अपने घर बनाया, आश्रम की स्थापना की और कुमाऊं में पहाड़ियों की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए काम किया।[9]

कुमाओं में रहते सरला बेन ने भारत की स्वतंत्रता आंदोलन के ध्येय से खुद को संबद्ध करना जारी रखा। 1942 में, गांधी के तहत भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा जारी किए गए भारत छोड़ो आंदोलन के जवाब में, उसने कुमाऊं जिले में आंदोलन को संगठित करने और नेतृत्व करने में मदद की। उन्होंने राजनीतिक कैदियों के परिवारों तक पहुंचने के लिए क्षेत्र में बड़े पैमाने पर यात्रा की और उसके कार्यों के लिए उसे कैद किया गया। उन्होंने घर गिरफ्तारी के आदेशों के उल्लंघन के लिए भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान जेल में दो टर्म रही और लगभग दो साल के लिए अल्मोड़ा और लखनऊ जेलों में बतीत किये। [10]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Sarala Behn remembered". The Tribune. 5 April 2012. http://www.tribuneindia.com/2012/20120406/dun.htm#15. अभिगमन तिथि: 29 May 2013. 
  2. "Indian Women Freedom Fighters". Bhavan Australia (7.2): 15. August 2009. http://www.bhavanaustralia.org/Bhavan%20Australia%2072/Bhavan%20Australia%2072.pdf. अभिगमन तिथि: 29 May 2013. 
  3. Katz, Eric (2000). Beneath the surface: critical essays in the philosophy of deep ecology. Massachusetts Institute of Technology. प॰ 251. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780262611497. https://books.google.com/?id=srjEb3fZUBQC&pg=PA251&lpg=PA251&dq=%22catherine+mary+heilman%22#v=onepage&q=sarala&f=false. 
  4. Shiva, Vandana. "THE EVOLUTION, STRUCTURE, AND IMPACT OF THE CHIPKO MOVEMENT". Ecospirit II (4). http://home.moravian.edu/public/relig/ecoSpirit/issues/Vol2No4.pdf. अभिगमन तिथि: 29 May 2013. 
  5. "SARALA BEHN". http://freeofstate.org/?p=50. अभिगमन तिथि: 29 May 2013. 
  6. "Sushri Sarala Devi". Jamnalal Bajaj Foundation. http://www.jamnalalbajajfoundation.org/media/pdf/JBA_1979_Bio_Sarala_Devi.pdf. अभिगमन तिथि: 7 June 2013. 
  7. Behn means sister in Hindi.
  8. Dash, Siddhartha (August 2010). "Role of Women in India's Struggle For Freedom". Orissa Review: 76. http://orissa.gov.in/e-magazine/Orissareview/2010/August/engpdf/74-76.pdf. अभिगमन तिथि: 29 May 2013. 
  9. Ganesh, Kamala (2005). Culture and the Making of Identity in Contemporary India. New Delhi: Sage Publications. प॰ 149. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780761933076. https://books.google.com/?id=liUX5D8CiyUC&pg=PA150&lpg=PA150&dq=sarla+behn#v=onepage&q=sarla%20behn&f=false. 
  10. "A WOMAN OF COURAGE (ENGLISH VIII - STANDARD)". Government of Tamil Nadu. https://archive.org/stream/std08english2011tnbooks/std08english2011tnbooks_djvu.txt. अभिगमन तिथि: 29 May 2013.