सदस्य:Sanjana.hiremath/प्रयोगपृष्ठ/2

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Sylvia Plath.jpg

सिल्विया प्लाथ[संपादित करें]

सिल्विया प्लाथ (जन्म २७ अक्टूबर १९३२, मरण १११ फरवरी १९६३) एक अमेरिकन कवयित्रि, उपन्यासकार और लघु कथा लेखीका थि। उनका जन्म बोस्टन, मैसाचुसेट्स मे हुआ और उनका विध्याभ्यास वहा पे हि हुआ। उनका विवह १९५६ मे टेड ह्यूज्स से हुआ। वे भि एक कवि थे। वे शादि के बाद अमेरिका में और फिर इंग्लैंड में रहते थे। १९६२ में अलग होने से पहले उनके दो बच्चे हुए, उनका नाम् फ्रिडा और निकोलस थे। प्लाथ अपने अधिकांश वयस्क जीवन मे उदास थी, और इलेक्ट्रोकोनवल्सिव थेरेपी (ईसीटी) के साथ कई बार इलाज कि गयि थि। १९६३ में आत्महत्या से उनकी मृत्यु हो गई। प्रारंभिक जीवन:

बचपन[संपादित करें]

सिल्विया प्लाथ का जन्म २७ अक्टूबर, १९३२ को बोस्टन, मैसाचुसेट्स में हुआ था। उनकी मां, ऑरेलिया शॉबोर प्लाथ (१९०६-१९९४), ऑस्ट्रियाई वंश का दूसरा पीढ़ी वालि अमेरिकन् थी, और उसके पिता, ओटो प्लैथ (१८८५-१९४०) जर्मनी के ग्रैबो से थे। प्लाथ के पिता बोस्टन विश्वविद्यालय में एक एंटोमोलॉजिस्ट और जीवविज्ञान के प्रोफेसर थे जिन्होंने बम्बेबीस के बारे में एक पुस्तक लिखी थी। आठ वर्षीय प्लाथ ने बोस्टन हेराल्ड के बच्चों के विभाग में अपनी पहली कविता प्रकाशित की। अगले कुछ वर्षों में, प्लाथ ने क्षेत्रीय पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में कई कविताओं को प्रकाशित कि। ११ साल की उम्र में, प्लाथ ने जर्नल रखने लगि। लिखने के अलावा, उन्होंने एक कलाकार के रूप में शुरुआती वादा दिखाया, उनके चित्रों के लिए एक पुरस्कार भि मिला। प्लाथ के आठवें जन्मदिन के बाद, ५ नवंबर, १९४० को ओटो प्लाथ की मृत्यु हो गई, इलाज न किए गए मधुमेह के कारण उनका मृत्यु हो गई । प्लाथ ने अपने पिता की मृत्यु के बाद पूरे जीवन में धर्म के प्रतिद्वंद्वी बने रहे। उनके पिता को एक कब्रिस्तान, मैसाचुसेट्स में दफनाया गया था। बाद में अपने पिता की कब्र के वहा जाने से प्लाथ को "अज़लेआ पथ पर इलेक्ट्र्रा" कविता लिखने के लिए प्रेरणा मिलि।

[1]

शादी[संपादित करें]

प्लाथ ने पहली बार 25 फरवरी, १९५६ को कैम्ब्रिज में एक पार्टी के अवसर पर कवि टेड ह्यूज्स से मुलाकात की। इस जोडी ने १६ जून, १९५६ को शादी की। उनकी पहलि बेटी फ्रिडा का जन्म १ अप्रैल, १९६० को हुआ था। [2]

अवसाद का अंतिम चरण और मरण[संपादित करें]

उनकी मृत्यु से पहले, प्लात ने अपना जीवन लेने के लिए कई बार कोशिश की। २४ अगस्त, १९५३ को, प्लाथ ने अपनी मां के घर में गोलियों ले कर मरने कि खोशिश कि। जून १९६२ में, प्लात ने अपनी कार को सड़क के किनारे से एक नदी में ले गयि। नर्स प्लात के बच्चों की देखभाल के साथ प्लाथ की मदद के लिए ११ फरवरी, १९६३ की सुबह ९ बजे पहुंचजाना चाहिये था। नर्स के आने के बाद् वह फ्लैट में नहीं जा सकि, लेकिन चौकीदार चार्ल्स लैंग्रिज की मदद से वे फ्लैट के अन्दर पहुच ग्ई। प्लात ने ओवन में अपने सिर को रख कर कार्बन मोनोऑक्साइड विषाक्तता के कारण मरे हुए पडे थे, जिसने अपने सोते वाले बच्चों के बीच टेप, तौलिए और कपड़े के साथ कमरे को सील कर दिया। लगभग ४:३० बजे, प्लात ने ओवन में अपना सिर रखा, गैस चालू हो गई और उनका देहान्त हुआ। अपनी जीवनी "गिविंग अप : द लास्ट डेस आफ सिल्विया प्लात" में प्लात के सबसे अच्छे दोस्त, जिलियन बेक्कर ने लिखा हे कि, "मिस्टर गुडचाइल्ड के अनुसार, कोरोनर के आफिस से जुड़े एक पुलिस अधिकारी ... [प्लात्] ने अपने सिर को गैस ओवन में फेंक दिया था ..। और वह वास्तव में मरने के लिए था। [3]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. https://www.poetryarchive.org/poet/sylvia-plath
  2. https://www.notablebiographies.com/Pe-Pu/Plath-Sylvia.html
  3. https://en.wikipedia.org/wiki/Sylvia_Plath