सामग्री पर जाएँ

श्रृंगीनारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

शृंगीनारी उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के हर्रैया तहसील में स्थित एक मंदिर है। यह हरैया से 14 किमी उत्तर स्थित है। आषाढ़ माह के अंतिम मंगलवार को यहाँ भव्य मेला लगता है। यहां हर मंगलवार को बड़ी संख्या में लोग मुंडन, उपनयन व अन्य धार्मिक संस्कार कराते हैं। इसी दिन भक्त देवी मां के चरणों में हलुआ, पूड़ी का भोग चढ़ाते हैं। नवविवाहित जोड़े मां शांता देवी के चरणों में मौर चढ़ाकर मंगल जीवन की कामना करते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

ऐसा माना जाता है कि इस स्थान की स्थापना शृंगी ऋषि एवं उनकी पत्नी शांता देवी ने की थी। विभिन्न कथाओं और लोक कथाओं के अनुसार, जब अयोध्या के सम्राट दशरथ को पुत्र प्राप्ति की इच्छा हुई, तब उन्होंने पुत्र प्राप्ति के लिए मखौड़ा धाम में श्रृंगी ऋषि से पुत्रेष्टि यज्ञ कराया।[1][2][3]

यज्ञ समाप्त होने के पाश्चात श्रृंगी ऋषि अपनी पत्नी शांता देवी संग इसी स्थान पर रुके थे।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Shringinari – A Mythological Temple In Basti". Harraiya Times (अंग्रेज़ी में).
  2. "भगवान राम के जन्म से जुड़ी है इस मंदिर की मान्यता, यहां हर मुराद होती है पूरी, देखें तस्वीरें". Amar Ujala.
  3. "Shringinari". Basti.nic.in (अंग्रेज़ी में).