श्रीपाद अच्युत दाभोलकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

श्रीपाद अच्युत दाभोलकर (सन् १९२५ - २००१) भारत के गणितज्ञ एवं कृषि वैज्ञानिक थे। उन्होने महाराष्ट्र में 'प्रयोग परिवार' नामक संकल्प का प्रवर्तन किया। उन्हें जमनालाल बजाज पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

उनका जन्म महाराष्ट्र के कोल्हापुर में हुआ था। वे कोल्हापुर के गारगोटी महाविद्यालय में प्राध्यापक थे।

तासगांव में उनकी शुरुआत का परिणाम था कि कुछ ही वर्षों में प्रदेश से अंगूर का निर्यात 200 करोड़ रुपयों के पार निकल गया। मध्य प्रदेश शासन ने उन्हें भोपाल आमंत्रित किया। सेमिनार और व्याख्यान हुए। पुरानी खेती के इस आधुनिक विद्वान का कहना था कि किसी का विकास कोई दूसरा नहीं कर सकता। अपनी खेती की उन्नति के लिए किसान को खुद ही प्रकृति का भागीदार बनना होगा।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]