"पत्थरचूर" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
25 बैट्स् जोड़े गए ,  10 माह पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
छो (2409:4043:2482:79DC:0:0:171A:D0A1 (Talk) के संपादनों को हटाकर 102.179.81.55 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन प्रत्यापन्न उन्नत मोबाइल सम्पादन
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
 
'''पत्थरचूर''' या '''पाषाणभेद''' ([[वानस्पतिक नाम]] : ''Plectranthus barbatus'' तथा ''Coleus forskohlii'') एक औषधीय पादप है।
 
कोलियस फोर्सकोली जिसे पाषाणभेद अथवा पत्थरचूर भी कहा जाता है, उन कुछ औषधीय पौधों में से है, वैज्ञानिक आधारों पर जिनकी औषधीय उपयोगिता हाल ही में स्थापित हुई है। [[भारतवर्षभारत]]वर्ष के समस्त ऊष्ण कतिबन्धीय एवं उप-ऊष्ण कटिबन्धीय क्षेत्रों के साथ-साथ [[पाकिस्तान]], [[श्रीलंका]], [[पूर्वी अफ्रीका]], [[ब्राज़ील|ब्राजील]], [[मिश्र]], [[ईथोपिया]] तथा अरब देशों में पाए जाने वाले इस औषधीय पौधे को भविष्य के एक महत्वपूर्ण औषधीय पौधे के रूप में देखा जा रहा है। वर्तमान में भारतवर्ष के विभिन्न भागों जैसे तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक तथा राजस्थान में इसकी विधिवत खेती भी प्रारंभ हो चुकी है जो काफी सफल रही है।
 
'''विभिन्न भाषाओं में पाषाणभेद के नाम-'''
85,437

सम्पादन

दिक्चालन सूची