"मैसूर की संस्कृति": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
ऑटोमेटिक, replaced: । → । (2), मे → में
(नया पृष्ठ: File:Mysore university building.JPG|200px|thumb|right|Crawford Hall, Administrative hq of the Mysore University that has writers like Kuvempu, U R Ananthamurthy and G...)
 
(ऑटोमेटिक, replaced: । → । (2), मे → में)
[[File:Mysore university building.JPG|200px|thumb|right|Crawford Hall, Administrative hq of the Mysore University that has writers like Kuvempu, U R Ananthamurthy and Gopalakrishna Adiga as alumni.]]
 
मैसूर, [[भारत]] के कर्नाटक राज्य का एक शहर है। इसे [[कर्नाटक]] की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। <ref name="culcap">{{cite web|author=The Correspondent |title=Goodbye to old traditions in 'cultural capital' |url=http://www.deccanherald.com/deccanherald/mar172006/state1751562006316.asp |work=Online Edition of The Deccan Herald, dated 2006-03-17 |publisher=2005, The Printers (Mysore) Private Ltd |accessdate=2007-04-04 |deadurl=yes |archiveurl=https://web.archive.org/web/20070205053547/http://www.deccanherald.com/deccanherald/mar172006/state1751562006316.asp |archivedate=5 February 2007 }}</ref> मैसूर वोडेयार राजाओं की राजधानी थी जिन्होंने मैसूर पर कई शताब्दियों तक शासन किया। वोडेयार राजा कला और संगीत के महान संरक्षक थे और उन्होंने मैसूर को एक सांस्कृतिक केंद्र बनाने में काफी योगदान दिया है। मैसूर अपने महलों, संग्रहालयों और कला दीर्घाओं के लिए प्रसिद्ध है और दशहरा के त्योहार के दौरान यहां दुनिया भर से पर्यटक आते है। मैसूर ने मैसूर मसाला डोसा और मैसूर पाक जैसे लोकप्रिय व्यंजनों को भी अपना नाम भी दिया है। मैसूर एक लोकप्रिय रेशम [[साड़ी]] की उत्पत्ति स्थल हैं जिसे मैसूर की रेशम साड़ी के नाम से जाना जाता है एवं यहाँ की चित्रकारी शैली मैसूर पेंटिंग के रूप में प्रसिद्ध हैं ।हैं।
 
==पर्व और त्यौहार==
 
===दशहरा===
 
[[दशहरा]] कर्नाटक राज्य का नादाबाबा (राज्य त्योहार) है। यह नवरात्र (नवा-रत्तरी = 9 रातों) के रूप में भी मनाया जाता है जिसका अंतिम दिन विजयादाशमी के रूप में मनाया जाता हैं। दशहरा आम तौर पर सितंबर या अक्टूबर महीने में मनाया जाता है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, विजयादशमी बुराई पर अच्छाई के जीत के बारे में बताती है।
दशहरा उत्सव सबसे पहले 1610 में वोडेयर राजा, राजा वोडेयर (1578-1617 CE) द्वारा शुरू किया गया था। <ref name="das">Detailed account of the Dasara festival celebrated at Mysore is provided by {{cite web|author=Ravi Sharma |url=http://www.flonnet.com/fl2221/stories/20051021005611300.htm |title=Mysore Dasara: A historic festival |work=Online Edition of The Frontline, Volume 22&nbsp;– Issue 21, dated 2005-10-08:2005-10-21 |publisher=2005, Frontline |accessdate=2007-04-04 |deadurl=yes |archiveurl=https://web.archive.org/web/20070716044238/http://www.flonnet.com:80/fl2221/stories/20051021005611300.htm |archivedate=16 July 2007 |df=dmy }}</ref>
 
==महलों==
 
मैसूर के वोडेयर राजा ने [[मैसूर]] मेमें बहुत सारे महलों का निर्माण किया है और इसके चलते इस शहर को महलों के शहर के नाम से जाना जाता है। यहाँ पर निम्नलिखित महल हैं:
 
===अंबाविलास पैलेस===
===जयलक्ष्मी विलास मेंशन===
 
यह महल 1905 में चमारराज वोडेयार द्वारा अपनी सबसे बड़ी बेटी जयलक्ष्मी देवी के लिए बनाया गया था। इस हवेली को बनाने में 700,000 रुपये की लागत आई थी। <ref name="ganji">An account on Ganjifa is provided by {{cite web|url=http://www.ourkarnataka.com/Articles/starofmysore/ganjifa1.htm |author=Correspondent |title=Patent for Ganjifa Playing Cards |work=Webpage of OurKarnataka.com |publisher=Star of Mysore |accessdate=2007-04-05 |deadurl=yes |archiveurl=https://web.archive.org/web/20070515205112/http://www.ourkarnataka.com:80/Articles/starofmysore/ganjifa1.htm |archivedate=15 May 2007 |df=dmy }}</ref> इस हवेली का अधिग्रहण मैसूर विश्वविद्यालय द्वारा अपने स्नातकोत्तर परिसर के रूप में किया गया था।
 
===ललिता महल===
 
इस महल के वास्तुकार श्री ई.डब्ल्यू.फ़्रीली थे। यह महल 1921 में कृष्णराज वोडेयर द्वारा भारत के वायसराय के प्रवास के लिए बनाया गया था।
 
===राजेंद्र विलास===
==फैशन==
 
मैसूर, भारतीय स्त्रियों द्वारा पहन जाने वाली मैसूर [[रेशम]] साड़ी का घर हैहै। इस साड़ी की विशिष्ट विशेषता शुद्ध रेशम एवं 100% शुद्ध सोने की जड़ी (एक सुनहरा रंग का धागा जिसमें 65% चांदी और 0.65% सोना है) का काम होता है। <ref name="silk">Details regarding Mysore silk is provided by {{cite web
|url=http://www.ksicsilk.com/mysorefactory.htm
|work=Online Webpage of KSIC
|archivedate=24 July 2011
|df=dmy
}}</ref> ये साड़ी मैसूर शहर में स्थित रेशम कारखाने में निर्मित होती हैं।
 
==भोजन==

नेविगेशन मेन्यू