विद्युत्-चुम्बकीय कुंडली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
इलेक्ट्रॉनिकी में उपयोग आने वाले कुछ प्रेरकत्व
मकड़ी के जाल जैसी कुंडली
प्लेनर कोर और कुंडली

जब किसी विद्युत चालक (जैसे, तार या बस-बार) को वृत्ताकार रूप में, या कुंडलिनी (हेलिक्स) के रूप में, या सर्पिल (स्पाइरल) के रूप में लपेटा जाता है तो इस रचना को विद्युत्-चुम्बकीय कुंडली (electromagnetic coil) कहते हैं। विद्युत इंजीनियरी में इनका अनेकों तरह से उपयोग किया जाता है, जैसे- प्रेरकत्व, विद्युत चुम्बक, ट्रांसफॉर्मर, सेन्सर की कुंडली आदि।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]