विजय भटकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
विजय पाण्डुरंग भटकर
Suyash Dwivedi and Vijay P Bhatkar (cropped).jpg
विजय पी भटकर
जन्म विजय
11 अक्टूबर 1946 (1946-10-11) (आयु 73)
आवास पुणे, महाराष्ट्र
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा प्राप्त की भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली
महाराज सयाजीराव गायकवाड़ विश्वविद्यालय, बड़ौदा
विश्वेश्वरैय्या राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर
व्यवसाय प्राध्यापक
प्रसिद्धि कारण सुपर के परम श्रृंखला के वास्तुकार
पुरस्कार पद्मश्री;महाराष्ट्र भूषण;डाटाकेस्ट लाइफटाइम अचीवमेंट;
डॉ विजय भटकर (बायें से दूसरे स्थान पर)

डॉ विजय पाण्डुरंग भटकर (जन्म : ११ अक्टूबर, १९४६ ) भारत के वैज्ञानिक एवं आईटी प्रध्यापक हैं। भारतीय सुपर कम्प्यूटरों के विकास में उनका योगदन अद्वितीय है। उनकी सबसे बड़ी पहचान देश के पहले सुपरकंप्यूटर परम के निर्माता और देश में सुपरकंप्यूटिंग की शुरुआत से जुड़े सी-डेक के संस्थापक कार्यकारी निदेशक के तौर पर है। वर्तमान में वे नालंदा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं। नालंदा विश्वविद्यालय एक अंतर्राष्ट्रीय संस्थान है जिसकी स्थापना नालंदा विश्वविद्यालय अधिनियम, 2010 के तहत हुई है। उनका कार्यकाल 25 जनवरी, 2017 से तीन वर्षों के लिए सुनिश्चित है। इस पद पर उन्होने जार्ज येओ का स्थान लिया है, जिन्होंने नवंबर, 2016 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। वे भारत में आईटी लीडर के नाम से प्रसिद्ध है। उनको पद्म श्री पद्म भूषण, महाराष्ट्र भूषण अवार्ड, संत ज्ञानेश्वर विश्व शांति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।[1]

पद[संपादित करें]

  • सी-डॅकचे संस्थापक व पहिले कार्यकारी संचालक
  • परम कार्यक्रम व लेक्सिकॉन इंटरनॅशनल स्कूलचे मदतनीस आणि सल्लागार
  • भारत सरकारच्या शास्त्रीय सल्लागार समितीचे सदस्य
  • अमृता विद्यापीठाचे सदस्य
  • डिशनेट (DSL)चे चेअरमन
  • आंतरराष्ट्रीय सल्लागार मंडळाचे सदस्य
  • भारतातील लीडिंग टेक्नॉलॉजिस्ट
  • फेलो -कॉम्प्युटर सोसायटी ऑफ इंडिया (CSI)
  • फेलो -आय्‌ईईई
  • फेलो -आय्‌एन्‌एई(इंडियन नॅशनल ॲकॅडमी ऑफ इंजिनीअरिंग)
  • फेलो -राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी, भारत
  • फेलो -महाराष्ट्र विज्ञान अकादमी
  • फेलो -गोखले शिक्षण संस्था
  • सदस्य -वर्किंग ग्रुप ऑन R&D अँड HRD of IIT Task Force
  • वगैरे वगैरे

पुरस्कार[संपादित करें]

  • आणासाहेब चिरमुले स्मृति पुरस्कार- २००३
  • इंडियन जिओटेक्निकल सोसायटी- सुवर्णपदक, १९७९
  • इलेक्ट्रॉनिक मॅन ऑफ द इयर -१९९२- ELCINA
  • ईबिझ इनोव्हेशन कॉन्टेस्ट पुरस्कार -दुबई, १९९८. (या स्पर्धेला ३५ देशातून १३२५ जण आले होते, त्यांत भटकर हे पहिले आले.)
  • एच्‌के फिरोदिया जीवनगौरव पुरस्कार- १९९५-९६
  • एन्आर्‌डीसी पुरस्कार-१९८१
  • ओम प्रकाश भसीन पुरस्कार-२०००
  • कृतज्ञता पुरस्कार -
  • केजी प्रतिष्ठानचा दशकातील व्यक्तिमत्त्व पुरस्कार -२००४
  • गुलाबराव महाराज पुरस्कार -
  • दानाक्वेस्ट जीवनगौरव पुरस्कार -२००३
  • पॉवरग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडियाचा(PMCIL) पुरस्कार -२००१
  • पिटर्सबर्ग पारितोषिक -२००४
  • पुणे अभिमान मूर्ती -१९९७
  • पुणे सिटाडेल पुरस्कार -
  • पुण्यभूषण पुरस्कार -
  • प्रतिष्ठित माजी विद्यार्थी पुरस्कार -१९९४(I.I.T, Delhi)
  • प्रियदर्शिनी पुरस्कार -२०००
  • फेडरेशन ऑफ इंडियन चेंबर ऑफ कॉमर्स(FICCI) -१९८३, १९९१.
  • भारत सरकारकडून पद्मश्री -२०००
  • महाराष्ट्र सरकारचा महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार -२०००
  • भारत सरकारकडून पद्मभूषण -२०१५
  • राजर्षि शाहू महाराज पुरस्कार -
  • रामियल वाधवा सुवर्णपदक -१९९२(IETE)
  • रोटरी पुरस्कार -१९९७
  • लोकमान्य टिळक पुरस्कार -१९९९
  • विदर्भ गौरव पुरस्कार -
  • विदर्भ भूषण पुरस्कार -
  • विविधलक्षी औद्योगिक विकास केंद्राचा(VASUIK) पुरस्कार -१९९३
  • विश्वरत्‍न पुरस्कार -
  • विश्वेश्वरय्या स्मृति पुरस्कार -२००२(कोल्हापूर)
  • विज्ञानगौरव पुरस्कार -
  • सरस्वती पुरस्कार -
  • सावरकर राष्ट्रीय स्मारक विज्ञान पुरस्कार -
  • सीडॅक-एसी‍एस प्रतिष्ठान व्याख्यान पुरस्कार -२००७
  • श्रीमंत मालोजीराव स्मृति पुरस्कार -
  • हायग्रीव्ह पुरस्कार वगैरे.

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Padma Awards" [पद्म पुरस्कार] (अंग्रेज़ी में). गृह मंत्रालय, भारत सरकार. 2015. मूल (PDF) से नवंबर 15, 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि फरवरी 2, 2017. Invalid |dead-url=हाँ (मदद)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]