रतिचित्रण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पॉर्न या रतिचित्रण या रति चित्रण किसी पुस्तक, चित्र, फिल्म या अन्य किसी माध्यम से संभोग का चित्रण करना रतिचित्रण कहलाता है। रतिचित्रण भारत मे प्रतिबंधित है । रतिचित्रण के कलाकार, रतिचित्रणकर्ता, इसकी बिक्री करने की सजा भारत मे 50 करोड़ जुर्माना तथा 40 साल की कैद अथवा उम्रकैद है। [1]

इतिहास[संपादित करें]

तेल से बना एक पुराना चित्र।

जब भाषा का विकास नहीं हुआ था। तब भी मनुष्य कई पत्थरों पर रतिचित्रण करता था।[2] वर्तमान में यह पहले से काफी अलग है। धीरे धीरे इसका विकास होता गया।[3]

19वीं सदी तक यह कई तरह से प्रकाशित होने लगा। यह कई जगह पर लिखित रूप से मिलते थे या कई जगह पर इससे जुड़े छवि आदि मिलते थे।

रतिचित्रण का फिल्म के रूप में निर्माण 1895 में हुए आविष्कार के बाद हुआ। जब एउगुने फिराऊ और अल्बर्ट किर्च्नर ने पहली बार इस तरह की फिल्म का निर्माण किया। यह फिल्म 1869 में प्रदर्शित हुई। यह एक फ्रेंच फिल्म थी। जिसमें एक औरत को नग्न किया जाता है। इसके बाद जब इस फिल्म बनाने वालों को लाभ हुआ तब अन्य फिल्म कारों ने इस पर ध्यान लगाया। जिसमें इंग्लैंड सबसे आगे निकल गया।

भारतीय अश्लील फिल्म

इस तरह के फिल्म निर्माता और बेचने वालों के लिए खजाने की तरह था। इसके फिल्म का मूल रूप से निर्माण 1920 के आसपास होना शुरू हुआ। जिसके लिए फ्रांस और अमेरिका मुख्य स्थान थे। इस फिल्म को बनाना और बेचना दोनों ही बहुत कठिन था। इसके बेचने का कार्य पूर्ण रूप से अकेले में किया जाता था। क्योंकि यह कई देशों में प्रतिबंधित है। इस कारण इसके बेचने के लिए यह गुप्त रूप से आयात निर्यात करते थे।

वर्गीकरण[संपादित करें]

रतिचित्रण अभिनेत्री

रतिचित्रण को भौतिकी आदि के आधार पर वर्गीकृत किया जा सकता है। जिसमें वास्तविक रतिचित्रण आदि आते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. H. Mongomery Hyde (1964) A History of Pornography: 1–26.
  2. Richard Rudgley (2000). The Lost Civilizations of the Stone Age. Simon and Schuster. पृ॰ 195–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-684-86270-5. http://books.google.com/books?id=vhSHn-B89A0C&pg=PA195. अभिगमन तिथि: 21 April 2011. 
  3. H. Montgomery Hyde A History of Pornography. (1969) London, Heinemann; p. 14.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]