मानसा, भारत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मानसा
—  शहर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य पंजाब
ज़िला मानसा
जनसंख्या 72,608 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 212 मीटर (696 फी॰)

निर्देशांक: 29°59′N 75°23′E / 29.98°N 75.38°E / 29.98; 75.38 मानसा पंजाब के मानसा जिले का मुख्यालय है। एरिया ऑफ व्हाइट गोल्ड के नाम से प्रसिद्ध मानसा पंजाब राज्य का एक जिला है। पंजाब में कपास की सबसे अधिक पैदावार होने के कारण इस जगह को 'एरिया ऑफ व्हाइट गोल्ड' के नाम से जाना जाता है।

मानसा ऐतिहासिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। यह जिला भटिंडा जिले के उत्तर-पश्चिम, संगरुर जिले के उत्तर-पूर्व और हरियाणा राज्य की दक्षिण सीमा से लगा हुआ है। यह जिला तीन तहसीलों बुढलाडा, मानसा और सरदुलगढ़ में बँटा हुआ है। कृषि इस जिले के लोगों का प्रमुख व्यवसाय है।

भूगोल[संपादित करें]

मानसा की स्थिति 29°59′N 75°23′E / 29.98°N 75.38°E / 29.98; 75.38[1] पर है। यहां की औसत ऊँचाई 212 मीटर (695 फीट)।

इतिहास[संपादित करें]

माना जाता है कि मानसा की स्थापना भाई गुरदास ने की थी। एक बार मानसा जिले के धीनगर में भाई गुरदास को आमंत्रित किया गया। कहा जाता है कि भाई गुरदास का विवाह इसी जगह पर हुआ था। एक बार भाई गुरदास अपनी पत्‍नी को लेने के लिए सुसराल गए थे। लेकिन गुरदास के सुसराल वालों ने उनकी पत्‍नी को वापस भेजने से मना कर दिया। सुसराल से वापस आने के बाद भाई गुरदास ध्यान साधना में बैठ गए। कुछ समय बाद लड़की के अभिभावक उसे वापस भेजने के लिए तैयार हो गए लेकिन भाई गुरदास ने अपनी पत्‍नी को स्वीकार करने से मना कर दिया। प्रत्येक वर्ष मार्च-अप्रैल महीने में यहाँ बहुत बड़े मेले का आयोजन किया जाता है। काफी संख्या में लोग इस मेले में आते हैं।

प्रमुख आकर्षण[संपादित करें]

बुढ़लाडा़[संपादित करें]

बुढ और लाड़ा दोनों सगे भाई थे। यह दोनों खत्री जाति के थे। इस गाँव का नाम इन दोनों भाइयों के नाम पर ही रखा गया है। इस गाँव की कुछ जनसंख्या माबी और रामदासी थी। यह गाँव पहले कैथल राज्य का हिस्सा था। कैथल के राजा ने 1857 ई॰ के दौरान ब्रिटिशों की सहायता करने से इंकार कर दिया था। जिस कारण अंग्रेजों ने उनसे उनका राज्य छीन लिया। इसके बाद इसे करनाल जिले के साथ जोड़ दिया गया। यह स्थान उत्तर पंजाब का सबसे बड़ा बाजार है। बुढलाडा भटिंडा से 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सरदुलगढ़[संपादित करें]

सरदुलगढ़ शहर को पहले रोरी धुंधल के नाम से जाना जाता था। पहले यह शहर पटियाला का जिला शहर था। महाराजा पटियाला के बेटे सरदुल सिंह यहाँ शिकार करने के लिए आए थे। उन्हीं के नाम पर इस जगह का नाम सरदुलगढ़ रखा गया। यहाँ एक किला भी है जिसका निर्माण महाराजा पटियाला ने करवाया था।

आवागमन[संपादित करें]

वायु मार्ग

सबसे निकटतम हवाई अड्डा चंडीगढ़ विमानक्षेत्र है। चंडीगढ़ से मानसा 180 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल मार्ग

मानसा रेलमार्ग द्वारा कई प्रमुख जगहों जैसे दिल्ली, भटिंडा, फिरोजपुर, मुम्बई, बीकानेर, गोवाहटी आदि से जुड़ा हुआ है

सड़क मार्ग

यह जगह कई प्रमुख राज्यों व शहरों से सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]