मंगल विज्ञान प्रयोगशाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मंगल विज्ञान प्रयोगशाला
Mars Science Laboratory
मार्स साइंस लेबोरेटरी क्रूज विन्यास
मार्स साइंस लेबोरेटरी क्रूज विन्यास
मिशन प्रकार मंगल रोवर
संचालक (ऑपरेटर) नासा
कोस्पर आईडी 2011-070A
सैटकैट नं॰ 37936
वेबसाइट http://mars.jpl.nasa.gov/msl/
मिशन अवधि मुख्य: 687 दिन
गुजर चुके: 1496 दिन (10/09/16 के अनुसार)
अंतरिक्ष यान के गुण
निर्माता जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी
लॉकहीड मार्टिन स्पेस सिस्टम्स
लॉन्च वजन 3,839 कि॰ग्राम (8,463 पौंड)
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि 26 नवंबर 2011, 15:02:00.211 यु.टी.सी
रॉकेट एटलस V541 (AV-028)
प्रक्षेपण स्थल अंतरिक्ष प्रक्षेपण परिसर 41,केप केनवरल
ठेकेदार यूनाइटेड लांच अलायन्स
मंगल रोवर
लैंडिंग तारीख 6 अगस्त 2012, 05:17 यु.टी. सी
लैंडिंग साइट गेल गड्ढा
4°35′22″S 137°26′30″E / 4.5895°S 137.4417°E / -4.5895; 137.4417

मंगल विज्ञान प्रयोगशाला (अंग्रेज़ी: Mars Science Laboratory, मार्ज़ साइन्स लबोरेटोरी) अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसन्धान परिषद्, नासा, की एक योजना है जिसके अंतर्गत मंगल ग्रह पर एक पहियों पर घूमने-फिरने वाला यान उतारा जाएगा जो उस ग्रह पर छानबीन करके पृथ्वी पर बैठे वैज्ञानिकों को तस्वीरें और जानकारी भेजेगा।[1][2] किसी अन्य ग्रह पर ऐसे घूमने वाले यान को अंग्रेज़ी में "रोवर" (rover) कहा जाता है और इस योजना में भेजे गए रोवर का नाम "क्युरियौसिटि" (Curiosity), यानी "जिज्ञासा" है। यह २६ नवम्बर २०११ को पृथ्वी से राकेट पर मंगल की ओर रवाना हुआ था और अगस्त २०१२ में मंगल पर गेल क्रेटर नाम के क्रेटर की तह में उतरेगा। क्युरियौसिटि यान वहाँ पर मिटटी और पत्थरों की जाँच कर के वैज्ञानिकों को यह अंदाज़ा लगाने में मदद करेगा की क्या मंगल पर कभी भी जीवन पनपने के लिए अनुकूल वातावरण मौजूद था या नहीं। अकार में यह रोवर एक आम गाड़ी से ज़रा बड़ा है। मंगल विज्ञान प्रयोगशाला योजना का कुल ख़र्चा २.५ अरब अमेरिकी डालर अनुमानित किया गया है।

लक्ष्य और उद्देश्य[संपादित करें]

PIA16239 High-Resolution Self-Portrait by Curiosity Rover Arm Camera.jpg

मार्स साइंस लेबोरेटरी ने सफलतापूर्वक किसी भी ज्ञात अंतरिक्ष यान की सबसे सटीक मंगल पर लैंडिंग की। पहले से ही चयनित 7 से 20 किमी के एक छोटे से अंडाकार क्षेत्र में मार्स साइंस लेबोरेटरी ने लैंडिंग की। मार्स साइंस लेबोरेटरी ने लैंडिंग लक्ष्य के 2.4 किमी पूर्व और केंद्र के 400 मीटर उत्तर में हासिल की। रोवर मिशन में कम से कम 687 दिनों के लिए 5 से 20 किमी की एक सीमा से अधिक के लिए सेट किया गया है

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]