भारत का भाषाई इतिहास

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भारत में वतर्मान समय में सैकड़ों भाषाएँ बोली जाती है। इनके विकास का इतिहास बहुत पुराना है। भारत की वर्तमान भाषाओं को अनेक समूहों में बाँटा जाता है। भारत के भाषाई इतिहास के स्रोत ब्राह्मी लिपि के साथ आरम्भ होते हैं जो तृतीय शताब्दी ईसापूर्व में जन्मी मानी जाती है। किन्तु सिन्धु घाटी लिपि में लिखी वस्तुएँ भी खुदाई में मिलीं हैं किन्तु इस लिपि को अभी तक ठीक-ठीक पढ़ा नहीं जा सका है।

सन्दर्भ[संपादित करें]