भाई (1997 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भाई
चित्र:Bhai46.jpg
नाटकीय रिलीज पोस्टर
निर्देशक दीपक शिवदासानी
निर्माता दीपक शिवदासानी
कहानी कादर खान
अभिनेता सुनील शेट्टी
पूजा बत्रा
सोनाली बेंद्रे
कुणाल खेमू
संगीतकार आनंद-मिलिंद
संदीप चौटा (पृष्ठभूमि संगीत)
छायाकार समीर रेड्डी
संपादक वी.एन. मयकर
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 31 अक्टूबर 1997 (1997-10-31)
समय सीमा 152 मिनट्स
देश भारत
भाषा हिन्दी
कुल कारोबार 8,40,00,000/-[1]

भाई 1997 की एक भारतीय हिंदी गैंगस्टर ड्रामा एक्शन फिल्म है, जो दीपक शिवदासानी द्वारा निर्देशित है[2], और कादर खान द्वारा लिखित है। इसमें सुनील शेट्टी, पूजा बत्रा, सोनाली बेंद्रे और आशीष विद्यार्थी ने मुख्य भूमिकाएँ निभाईं। इसे औसत समीक्षा से ऊपर प्राप्त हुई और बॉक्स ऑफिस पर एक आश्चर्यजनक सफल रहीं।

शाहरुख खान की दिल तो पागल है, नाना पाटेकर की गुलाम-ए-मुस्तफा और डेविड धवन की दीवाना मस्ताना के साथ दिवाली पर रिलीज हुई फिल्म।

फिल्म राजशेखर, रोजा सेल्वमनी और गौतमी अभिनीत तेलगु फिल्म अन्ना की रीमेक है।

कहानी[संपादित करें]

पहाड़ी गाँव के इलाकों में भ्रष्ट पुलिसकर्मियों और कानूनविदों के हमलों का सामना करते हुए, कुंदन (सुनील शेट्टी) अपने छोटे भाई किसना (कुणाल खेमू) के साथ मुंबई जाने का फैसला करता है। जहां ईमानदार वकील सत्यप्रकाश (ओम पुरी) और उनकी बेटी पूजा (पूजा बत्रा) और मीनू (सोनाली बेंद्रे) उनकी मदद करते है। कुंदन को जल्द ही एक ऑटो चालक की नौकरी मिल जाती है, और किसना को स्कूल भेजना शुरू कर देता है। जल्द ही वे अपनी जीवनशैली बदल लेते हैं और शहरवासी बन जाते हैं। डॉन डेविड (आशीष विद्यार्थी) और मलिक (राजेंद्र गुप्ता) शहर के कट्टर प्रतिद्वंद्वी हैं, जो सत्ता में आने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, और भ्रष्ट मंत्री अपने लाभ के लिए दोनों का समर्थन करने की कोशिश करते हैं।

डेविड के आदमियों द्वारा सत्यप्रकाश की हत्या की जाती है। कुंदन का भाई किसना, सत्यप्रकाश की हत्या का गवाह बनता है। जब डेविड को पता चलता है कि किसना गवाह बन गया है, तो उसने अपने लोगों को किसना की हत्या करने के लिए भेजकर, उसे मार डालता है। क्रोधित और हताश हो कुंदन बदला लेने की सोचता है, और वह वह एक के बाद एक डॉन के आदमियों की हत्या करने लगता है। उसे ईमानदार पुलिस इंस्पेक्टर ललित कपूर (कादर खान) और दोस्तों (शक्ति कपूर) सहित पूरे इलाके का समर्थन प्राप्त हो जाता है। जब मलिक उसे डेविड के खिलाफ उसका समर्थन करने के लिए उसके पास आता है तो वह उसे भी वह उसे भी स्वीकार नहीं करता है।

जल्द ही कुंदन "भाई" बन जाता है, एक ऐसा डॉन जो सभी से प्यार और सम्मान करता है। वह पूजा से शादी कर लेता है और उनका एक बेटा है जिसे वे किसना नाम देते हैं। लेकिन पूजा कुंदन की गतिविधियों से खुश नहीं रहती है, क्योंकि उसे लगता है कि यह उसे और उसके परिवार दोनों को नुकसान पहुंचा सकता है। मीनू, कुंदन के सभी गतिविधियों में उसका साथ देती है। कुन्दन के दुश्मन उससे बदला लेने के मौके मे रहते है, मन्त्री इंस्पेक्टर ललित को दूसरे इलाके में स्थानांतरित कर देता है। मलिक और डेविड अब कुंदन को खत्म करने के लिए मन्त्री के साथ मिल जाते है। एक अवसर पर, जब किशन को कुंदन के दोस्तों और मीनू द्वारा अस्पताल ले जाया जाता है, तो उन सभी पर हमला हो जाता है और उनकी हत्या कर दी जाती है, लेकिन गणेश (मोहन जोशी) घायल अवस्था में किशन को बचा उसे कुंदन को सौंप मर जाता है।

कुंदन को हत्या के झूठे आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उसके दुश्मन उसे जंगलों पर ले जाकर और उसे खत्म करने की योजना बनाते हैं, संयोगवश, कुंदन उन्ही जंगलों का रहने वाला होता है, जहां से वह शहर आया था। पुलिस की जीप बैठे कुंदन भागने की चेष्ठा से हाथापाई करता है और जंगल में झरने के माध्यम से नदी में बहा देता है। मलिक, डेविड, मन्त्री और अन्य भ्रष्ट पुलिस कुंदन की तलाश में निकलते है, दुर्भाग्य से ललित उस क्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक के रूप में आता है। ललित को कुंदन मिल जाता है और वह उसकी मदद करता है। कुंदन सभी गुंडों को जंगल की ओर ले जाता है जिसे वह अच्छी तरह से जानता है, और उन्हें एक-एक करके खत्म कर देता है, यहां तक कि उसे गोली मारने की कोशिश कर रहा और मन्त्री को ले जा रहे हेलीकॉप्टर में भी विस्फोट कर देता है। सब खत्म होने के बाद, कुंदन ललित को आत्मसमर्पण कर देता है।

कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

आनंद-मिलिंद और समीर ने फिर से निर्देशक दीपक शिवदासानी के साथ मिलकर पहचान (1993) और गोपी किशन (1994) जैसी फिल्मों में सफल गीतों की रचना की।

गाने[संपादित करें]

# शीर्षक गायक अवधि
1 "कट्टी बट्टी" उदित नारायण, आदित्य नारायण 05:42
2 "सारे मोहल्ले में" विनोद राठौड़, साधना सरगम 05:05
3 "खुल गया नसीब" अभिजीत, आदित्य नारायण, चंदना दीक्षित 05:28
4 "मुझे इक बार" अभिजीत, पूर्णिमा 05:39
5 "हुस्न तुम्हारा" उदित नारायण, अलका याग्निक, शंकर महादेवन 05:55
6 "सजना सजनी" सुरेश वाडकर, साधना सरगम 08:11


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "भाई १९९७ फ़िल्म". boxofficeindia.com. बॉक्स ऑफिस इंडिया. अभिगमन तिथि 10 अक्टूबर 2019.
  2. "बॉलीवुड एमडीबी - भाई १९९७ फ़िल्म". /www.bollywoodmdb.com. बॉलीवुड एमडीबी. अभिगमन तिथि 10 अक्टूबर 2019.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]