प्रोग्रामिंग भाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पाइथन (Python) नामक प्रोग्रामन भाषा में लिखित प्रोग्राम का अंश

प्रोग्रामिंग भाषा (programming language) एक कृत्रिम भाषा होती है, जिसकी डिजाइन इस प्रकार की जाती है कि वह किसी काम के लिये आवश्यक विभिन्न संगणनाओ (computations) को अभिव्यक्त कर सके। प्रोग्रामिंग भाषाओं का प्रयोग विशेषतः संगणकों के साथ किया जाता है (किन्तु अन्य मशीनों पर भी प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग होता है)। प्रोग्रामिंग भाषाओं का प्रयोग हम प्रोग्राम लिखने के लिये, कलन विधियों को सही रूप व्यक्त करने के लिए, या मानव संचार के एक साधन के रूप में भी कर सकते हैं।

इस समय लगभग 2,500 प्रोग्रामिंग भाषाएं मौजूद हैं। पास्कल, बेसिक, फोर्ट्रान, सी, सी++, जावा, जावास्क्रिप्ट आदि कुछ प्रोग्रामिंग भाषाएं हैं।

वर्गीकरण[स्रोत सम्पादित करें]

अलग-अलग आधार पर इनका अलग-अलग वर्गीकरण किया जाता है। उदाहरण के लिये इण्टरप्रीटेड भाषा ( जैसे बेसिक ) और कम्पाइल्ड भाषा (जैसे सी++)।

भाषा के मानव द्वारा समझने के स्तर (या, अमूर्ततता के स्तर) के आधार पर प्रोग्रामिंग भाषाओं को तीन श्रेणियों मे विभाजित किया जा सकता है-

  • (१) मशीनी भाषा -- यह मशीन को आसानी से समझ आती है किन्तु मानव को सीधे समझना लगभग असम्भव है।
  • (२) असेम्बली भाषा -- इसे असेबलर द्वारा मशीनी भाषा में आसानी से बदला जा सकता है। यह मनुष्य को भी समझ में आ जाती है किन्तु अलग-अलग माइक्रोप्रोसेसर या माइक्रोकम्प्यूटर के लिये अलग-अलग होती है।
  • (३) उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा -- यह मानव के समझने योग्य होती है। इसकी शब्दावली सामान्य अंग्रेजी जैसी लगती है। इसे कम्पाइल करके मशीनी भाषा में बदला जाता है। उदाहरण - बेसिक, सी, सी++, जावा आदि।

प्रोग्रामिंग रूपावली (programming paradigm) के आधार पर प्रोग्रामन भाषाओं को निम्नलिखित तीन श्रेणीयों में बांटा जाता है-

  • (१) इम्परेटिव प्रोग्रामिंग
  • (क) संरचनात्मक (स्ट्रक्चर्ड) भाषा
  • (ख) वस्तुमुखी (ऑब्जेक्ट ओरिएण्टेड) भाषा
  • (२) फंक्शनल प्रोग्रामिंग
  • (३) लोजिकल प्रोग्रामिंग

इम्परेटिव भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

प्रमुख इम्परेटिव भाषाएं ये हैं-

संरचनात्मक भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

वस्तुमुखी भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

फलनात्मक (फंक्शनल) भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

तार्किक (लॉजिकल) प्रोग्रामिग[स्रोत सम्पादित करें]

अन्य वर्गीकरण[स्रोत सम्पादित करें]

भाषा में डेटा के प्रकार (टाइप) के आधार पर भाषाएं दो प्रकार की होतीं है-

  • (१) स्ट्रांग टाइप
  • (२) वीक टाइप

रहस्यमय (एसोटेरिक / esoteric) भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

समानान्तर (पैरेलेल्) भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

स्क्रिप्टिंग भाषाएँ[स्रोत सम्पादित करें]

इन्हें भी देखें[स्रोत सम्पादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[स्रोत सम्पादित करें]