प्राचीन मणिपुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
Kangla Sha.JPG

प्राचीन मणिपुर या प्राचीन कंलैपाक्[1] वर्तमान मणिपुर के मध्य मेदान में प्रचलित एक प्राचीन सभ्यता है।[2][3] १४४५ इसाई पूर्व से लेकर ये सभ्यता प्रचलित हैं।[4] इनके कयी राजधानी है, इनमें से कंला सहर सबसे प्रमुख राजधानी है।[5]

Imphal Valley (Manipur).jpg

इतिहास[संपादित करें]

Sketch map of Manipur.jpg

प्राचीन मणिपुर का शाही इतिहास 1445 ईसा पूर्व में तंगजा लीला पखंगबा के शासनकाल के साथ शुरू हुआ था।[6]

पोलो (सगोल कांगजेई) के खेल का आविष्कार तांगजा लीला पखंगबा के उत्तराधिकारी राजा कांगबा (1405 ईसा पूर्व-1359 ईसा पूर्व) के शासनकाल के दौरान हुआ था ।[7] यह उल्लेखनीय उपलब्धि कई प्राचीन मणिपुरी शास्त्र सहित कांगबालोन और कांगजैलोन में दर्ज की गई है।[8]

भूगोल[संपादित करें]

वर्तमान मणिपुर के प्राचीन सभ्यता मध्य मैदानों में केंद्रित थी।

मणिपुर (कंगलैपाक) का क्षेत्र पहाड़ी है और इस प्रकार, प्राचीन मणिपुर में कई छोटे क्षेत्र शामिल हैं, जिनमें से प्रत्येक की अपनी बोली, सांस्कृतिक विशिष्टताएं और पहचान है।[9][10]

भाषा[संपादित करें]

प्राचीन मणिपुरी भाषा (मणिपुरी भाषा के आधुनिक का प्रारंभिक रूप) के एक अमीर अन्न भंडार था ।[11][12] मैतै शास्त्र (पुया- मणिपुरी ग्रंथों), कई विषयों की, पुरातन में मणिपुरी लिपि में उपलब्ध है।[13][14] सबसे पुराने ग्रंथों में से एक है वाकोक्लोन हील थिलेन सलाई अमाइलोन पुकोक पुया, जिसे १३९८ ईसा पूर्व (भारत के राष्ट्रीय अभिलेखागार, नई दिल्ली द्वारा सत्यापित) में लिखा गया था।[15]

संस्कृति[संपादित करें]

दैनिक जीवन[संपादित करें]

प्राचीन मणिपुर के अधिकांश लोग अपनी भूमि से बंधे किसान थे। उनके आवास तत्काल परिवार के सदस्यों तक ही सीमित थे।

वास्तुकला[संपादित करें]

आम घरों के प्राचीन वास्तुशिल्प डिजाइनों को टिकाऊ, पर्यावरण के अनुकूल और किफायती माना जाता था। यह गर्म गर्मी के दौरान शीतलन प्रभाव देता है और ठंडा सर्दी के दौरान वार्मिंग प्रभाव देता है ।[16] 

प्राचीन धर्म[संपादित करें]

Kangla Temple.JPG

पहाड़ियों और मैदानों की स्वदेशी जातियों का प्राचीन धर्म सनमाही धर्म है । अंतरिक्ष समय इकाई की अमूर्त अवधारणा ब्रह्मांड का परम ईश्वर निर्माता है।[17] प्राचीन मणिपुर की सभ्यता की शुरुआत से ही दैवीय और उसके बाद के जीवन में विश्वास निहित था। प्राचीन शासक राजाओं के दैवीय अधिकार पर आधारित थे।[18]

सैन्य[संपादित करें]

Manipuri horseman.jpg

लाल-लूप प्रणाली (शाब्दिक रूप से, लाल का अर्थ है युद्ध ; लुप का अर्थ है क्लब या संघ या संगठन) प्राचीन मणिपुर में एक प्रमुख प्रणाली थी। प्रणाली के अनुसार, 16 वर्ष से अधिक आयु के स्वदेशी जातीयता का प्रत्येक पुरुष सदस्य था।[19] 

चित्र[संपादित करें]

इसे भी देखीए[संपादित करें]

अन्य वेबसाइट[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://kanglaonline.com/2012/04/ancient-name-of-manipur/?amp=1
  2. https://www.imphaltimes.com/it-articles/item/5532-is-32-000-years-of-meitei-civilization-a-sign-of-tribalism
  3. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=reviews.books.Review_Kangleipak_The_Cradle_Of_Man
  4. https://themanipurpage.tripod.com/history/meiteikings.html
  5. http://www.e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.Kangla.Kangla_The_ancient_Capital_of_Manipur
  6. https://themanipurpage.tripod.com/history/meiteikings.html
  7. https://themanipurpage.tripod.com/history/sagolkangjei.html
  8. https://themanipurpage.tripod.com/history/sagolkangjei.html
  9. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.History_of_Manipur.Discovery_of_Kangleipak_8
  10. https://themanipurpage.tripod.com/history/puwarimeitei.html#1.GEOGRAPHIC%20LOCATION%20OF%20MANIPUR
  11. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=news_section.opinions.The_Puya_and_Cheitharol_Kumbaba
  12. https://themanipurpage.tripod.com/history/puwarimeitei.html#2.HISTORICAL%20DOCUMENTS
  13. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=news_section.opinions.The_Puya_and_Cheitharol_Kumbaba
  14. https://themanipurpage.tripod.com/history/puwarimeitei.html#2.HISTORICAL%20DOCUMENTS
  15. http://paochelsalaitaret.net/puya/puyaproof.pdf
  16. http://www.e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=education.Scientific_Papers.Scientific_Principles_of_Ancient_Manipuri_Yumjao_House_and_its_Courtyard_By_Khwairakpam_Gajananda
  17. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.History_of_Manipur.Discovery_of_Kangleipak.Discovery_of_Kangleipak_2
  18. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.History_of_Manipur.Discovery_of_Kangleipak.Discovery_of_Kangleipak_2
  19. http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.History_of_Manipur.Discovery_of_Kangleipak.Discovery_of_Kangleipak_2