प्रस्वा तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हीनश्वान तारामंडल में प्रस्वा का स्थान

प्रस्वा या प्रोसीयन, जिसका बायर नाम "अल्फ़ा कैनिस माइनौरिस" (α Canis Minoris या α CMi) है, हीनश्वान तारामंडल का सब से रोशन तारा है और पृथ्वी से दिखने वाले तारों में से सातवा सब से रोशन तारा है। बिना दूरबीन के आँखों से यह एक तारा लगता है पर दरअसल द्वितारा है, जिनमें से एक "प्रस्वा ए" नाम का सफ़ेद मुख्य अनुक्रम तारा है जिसकी श्रेणी F5 VI-V है और दूसरा "प्रस्वा बी" नामक धुंधला-सा सफ़ेद बौना तारा है जिसकी श्रेणी DA है। वैसे तो प्रस्वा कोई ख़ास चमक (निरपेक्ष कान्तिमान) नहीं रखता लेकिन पृथ्वी के पास होने से ज़्यादा रोशन लगता है। यह पृथ्वी से ११.४१ प्रकाश-वर्ष दूर है।

भारतीय नक्षत्रों में प्रस्वा पुनर्वसु नक्षत्र का भाग माना जाता था, लेकिन उस नक्षत्र में और भी तारे शामिल हैं।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

प्रस्वा को अंग्रेज़ी में "प्रोसीयन" (Procyon) कहते हैं।[1] इसका मूल यूनानी भाषा का "प्रोकूओन" (προκύον) है, जिसका मतलब है "कुत्ते से पहले"। यह आकाश में व्याध तारे से आगे चलता है और व्याध को "कुत्ता तारा" (Dog star) भी कहा जाता है। अरबी भाषा में प्रस्वा को "अश-शीरा अश-शामिया" (الشعرى الشامية) कहा जाता है जिसका अर्थ है "शाम (सीरिया) का निशान"। सीरिया अरबी क्षेत्र में उत्तर की ओर पड़ता है और प्रस्वा भी व्याध तारे से उत्तर की ओर नज़र आता है।

"प्रस्वा ए" को अंग्रेज़ी में "प्रोसीयन ए" (Procyon A) और "प्रस्वा बी" को "प्रोसीयन बी" (Procyon B) लिखा जाता है।

विवरण[संपादित करें]

प्रस्वा ए का सतही तापमान ६,५३० कैल्विन है जिस से वह सफ़ेद लगता है। अपनी श्रेणी के हिसाब से इसमें रोशनी अधिक है, जिससे यह शक़ होता है के शायद यह एक उपदानव तारा है। इसका व्यास (डायामीटर) सूरज के व्यास से लगभग दुगना, द्रव्यमान सौर द्रव्यमान का १.४ गुना और रौशनी सूरज से ७.५ गुना है। माना जाता है के १-१० करोड़ साल के अन्दर यह फूलना शुरू हो जाएगा और अपने वर्तमान आकार से ८०-१५० गुना बड़ा होगा।

प्रस्वा बी का द्रव्यमान सूरज का ०.६ गुना है, यानि आधे से ज़रा अधिक। इसका अनुमानित सतही तापमान ७,७४० कैल्विन है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Nature Watch: The treasures of the night sky, PN Shankar and BS Shylaja, Resonance, August 2001.