पोमैटो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एक दुकान प्रदर्शनी में रखा गया पोमैटो (टॉमटैटो के रूप में विक्रित)

पोमैटो का उत्पादन टमाटर के पौधे और एक आलू के पौधे की ग्राफ्टिंग (कलम बांधना) की तकनीक से किया जाता है। टमाटर और आलू दोनों ही सोलनएसेई परिवार के सदस्य हैं। चेरी टमाटर बेल पर बढ़ते हैं, जबकि उसी पौधे से सफेद आलू मिट्टी में बढ़ते हैं।[1]

लाभ[संपादित करें]

खाद्य उत्पादन को और अधिक कुशल बनाने के लिए पोमैटो के पौधों को एक नई तकनीक के रूप में देखा गया है, क्योंकि वे फसलों की मात्रा को अधिकतम कर सकते हैं जिन्हें भूमि के एक टुकड़े पर या छोटे शहरी वातावरण जैसे कि बालकनी में उगाया जा सकता है। इसका केन्या जैसे विकासशील देशों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है, जहां किसान पोमैटो के पौधे उगाने से उनके उत्पाद की गुणवत्ता को प्रभावित किये बिना ही जगह, समय और श्रम बचा सकते हैं। इसके अलावा, ग्राफ्टिंग बैक्टीरिया, वायरस और कवक के प्रतिरोध में सुधार कर सकती है, परागणकों के एक अधिक विविध समूह को आकर्षित करती है और नाजुक सजावटी पौधों के लिए एक मजबूत तना प्रदान करती है।[2]

रोचक तथ्य[संपादित करें]

  • प्रसिद्ध १९६७ सोवियत उपन्यास 'द लाइफ एंड एक्स्ट्राऑर्डिनरी एडवेंचर्स ऑफ प्राइवेट इवान चोंकिन' में मुख्य पात्रों में से एक, कुज्मा ग्लैडिशेव, एक स्वस्थिता, अपना एक संकर को ग्राफ्ट करने की कोशिश में बिताता है और आशा करता है कि उसमें "आलू कंद और टमाटर के फल" होंगे। सहकर्मियों उसके प्रयासों को "अवैज्ञानिक और बेजान" कहते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "एक ही पौधे पर उगेंगे अब आलू और टमाटर". वेबहाल. १५ फरवरी २०१६. मूल से 21 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जून 2017.
  2. "The Science of Pomato Plants and Fruit Salad Trees [पोमैटो के पौधों और फलों के सलाद के पेड़ का विज्ञान]". साइंटिफिक अमेरिका (अंग्रेज़ी में). २९ मई २०१३. मूल से 10 जून 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जून 2017.