पूर्वी यमुना नहर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहर हैं। जो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की बेहट तहसील के परगना फैजाबाद गांव मे स्थित हथनीकुण्ड़ बैराज के बायें किनारे से निकली गयी है | हथनीकुण्ड़ बैराज यमुना नदी पर बना है .यह बैराज चार राज्यो की सीमा पर स्थित है .हरियाणा हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड़ उत्तर प्रदेश . इस नहर पर बाबैल व बेलका नामक स्थानो पर दो लघु बिजलीघर बने है इस नहर का निर्माण सलेमपुर व मुकंदपुर नामक ग्राम के लोगो ने अंग्रेजी सरकार पर दबाव डालकर करवाया था

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

पूर्वी यमुना नहर उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर की बेहट तहसील के परगना फैजाबाद नामक गांव मे यमुना नदी पर बने हथनी कुंड़ बैराज के बाऐ किनारे से निकली है। यह नहर पश्चिमी सहारनपुर की लाईफ लाईन है इस नहर पर नौशेरा रायपुर बेहट अकलसिया बिजोपरा आदि गांवो मे बगले बने हुये है .जहां पर ब्रिटिश शासन में नहर के संचालन को सूचारू रखने के लिये अफसर व कर्मचारी रहते थे . यह नहर सहारनपुर शामली मुजफ्फरनगर मेरठ गाजियाबाद आदि जिलो की लगभग दो लाख हैक्टर भूमि को सीचती हैं. तथा यमुना के समानांतर बहते हुऐ. पुनः दिल्ली के समीप यमुना मे विलीन हो जाती है. यह नहर अपनी राजबाह व गूल सिंचाई प्रणाली के कारण 1440 किलोमीटर लम्बी हैं

स्रोत स्थल[संपादित करें]

लम्बाई (किलोमीटर में)[संपादित करें]

1440 किलोमीटर

नदी परियोजना[संपादित करें]

सिंचाई उपलब्धता[संपादित करें]