पिट बुल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Leashed pitbull, lunging.jpg
एक स्टेफोर्डशायर बुल टेरियर, तीनों नस्लों में एक है जो सामान्यतः एक पिट बुल कुत्ता के प्रकार अभिज्ञात है।

पिट बुल एक शब्द है जिसका प्रयोग सामान्यतया मोलोसेर नस्ल समूह के कुत्तों की कई नस्लों का वर्णन करने में किया जाता है।

कई अधिकारक्षेत्र जो पिट बुल कुत्तों की नस्ल को प्रतिबंधित करते हैं, इसमें ओंटेरियो, कनाडा[1] और डेनवर, कोलराडो शामिल हैं,[2] वे "पिट बुल" शब्द का इस्तेमाल आधुनिक अमेरिकी पिट बुल टेरियर, अमेरिकी स्टेफर्डशायर टेरियर, स्टेफर्डशायर बुल टेरियर या अन्य किसी ऐसे कुत्ते के लिए करते हैं जिसमे इस नस्ल की पर्याप्त शारीरिक विशेषताएं और समान रूप रेखा पाई जाती हैं। हालांकि, कुछ अधिकारक्षेत्र जैसे कि सिंगापुर[3] और फ्रैंकलिन काउंटी, ओहियो[4] भी आधुनिक अमेरिकी बुलडॉग को एक "पिट बुल-प्रकार के कुत्ते" के रूप में वर्गीकृत करते हैं, जबकि युनाइटेड किंगडम में यह शब्द केवल अमेरिकी पिट बुल टेरियर के लिए प्रयोग किया जाता है।[5] इन तीनों नस्लों का इतिहास एक ही है, जिसके अनुसार इनकी मूल उत्पत्ति बुलडॉग और विभिन्न प्रकार के टेरियर कुत्तों से हुई है। यह शब्द उन कुत्तों की ओर भी संकेत करता है जिन्हें आधुनिक बुल टेरियर के विकास से पूर्व 20वीं शताब्दी में "बुल टेरियर्स" के नाम से जाना जाता था।

अनेकों प्रचारित घटनाओं के कारण पिट बुल नस्ल के कुत्तों के संबंध में हुई मानव दुर्घटनाओं पर अध्ययन किये गये हैं। इस प्रकार की घटनाओं के फलस्वरूप कई ख़ास इलाकों में नस्ल विशेष पर आधारित कानून लागू किये गए और इनके संबंध में दायित्व बीमे की किस्त (प्रीमियम) भी बढ़ा दी गयी। कुछ विमान सेवाओं ने पिट बुल कुत्तों की हवाई यात्रा पर प्रतिबन्ध लगा दिया है, हालांकि कुछ घटनाओं में यह प्रतिबन्ध स्वयं कुत्तों की भलाई के लिए ही लगाये गए हैं।

इतिहास[संपादित करें]

हालांकि पिट बुल प्रकार के सभी कुत्ते, बुलडॉग और टेरियर्स के मध्य एक ही प्रकार के संकरण द्वारा विकसित हुए थे फिर भी इस समूह के अंतर्गत प्रत्येक व्यक्तिगत नस्ल का इतिहास कुछ सीमा तक भिन्न है। संयुक्त राज्य में लगभग 77.5 मिलियन निजी कुत्ते हैं;[6] हालांकि पिट बुल-प्रकार के कुत्तों की संख्या के संबंध में आंकड़े विश्वसनीय नही हैं।[7] संयुक्त राज्य में जानवरों को आश्रय देने वाले केन्द्रों ने 2008 में लगभग 1.7 मिलियन कुत्तों को इच्छा मृत्यु दी थी; आंकलन के आधार पर इनमे से लगभग 980,000 या 58 प्रतिशत कुत्ते पिट बुल नस्ल के थे।[8]

अमेरिकी पिट बुल टेरियर[संपादित करें]

अमेरिकी पिट बुल टेरियर

अमेरिकी पिट बुल टेरियर बुलडॉग की एक नस्ल और टेरियर कुत्तों के संकरण से पैदा होने वाला एक ऐसा कुत्ता है जिसमे टेरियर की फुर्ती और बुलडॉग की शक्ति और खेलकूद क्षमता का मिश्रण है।[9] शुरुआत में इन कुत्तों को इंग्लैंड में ही पैदा किया और पाला जाता था और यह उन देशों से संयुक्त राज्य अमेरिका में आप्रवासी नागरिकों के साथ आए थे। संयुक्त राज्य अमेरिका में, इन कुत्तों का प्रयोग अर्ध-जंगली बिल्लियों और सूअरों को पकड़ने के लिए फुर्तीले कुत्तों के रूप में, शिकार के लिए, जानवरों को चरवाने के लिए और घरेलू पालतू मित्र कुत्तों के रूप में किया जाता था;[9] हालांकि कुछ को विशेष रूप से उनके लड़ाई कौशल[10] को ध्यान में रखकर पाला जाता था और 20वीं शताब्दी की शुरुआत से संयुक्त राज्य में इस नस्ल ने कुत्तों की लड़ाई में "पसंदीदा कुत्तों" के रूप में बुल टेरियर का स्थान ले लिया था।[11][12]

द युनाइटेड कैनल क्लब (UKC) अमेरिकी पिट बुल टेरियर को मान्यता देने वाला पहला पंजीकृत कार्यालय था।[13] यूकेसी (UKC) के संस्थापक सी.जेड. बेनेट ने 1898 में यूकेसी (UKC) में सबसे पहला पंजीयन एक अमेरिकी पिट बुल टेरियर के रूप में अपने कुत्ते "बेनेट्स रिंग" का किया।[9]

आज अमेरिकी पिट बुल टेरियर सफलतापूर्वक सहयोगी कुत्ते, पुलिस के कुत्ते[14][15] और रोगोपचार करने वाले कुत्ते[16] की भूमिका निभा रहा है; हालांकि आम तौर पर टेरियर कुत्ते में आक्रामकता[17] की प्रवृत्ति अधिक होती है और अधिकांश अमेरिकी पिट बुल टेरियर का प्रयोग संयुक्त राज्य में गैरकानूनी कुत्तों की लड़ाई में किया जाता है।[18] इसके आलावा कानून प्रवर्तन संस्थाओं ने यह सूचना दी है कि इन कुत्तों का प्रयोग अन्य आपराधिक कार्यों में भी किया जाता है, जैसे, गैरकानूनी मादक पदार्थों की गतिविधियों में,[19] पुलिस के विरोध में[20] और हथियारों के रूप में.[21]

पिट बुल-प्रकार के कुत्तों की संघर्ष और आक्रामक छवि के फलस्वरूप 1996 में जानवरों के प्रति क्रूरता को रोकने हेतु सैन फ्रैंसिस्को सोसाइटी आगे आई और पिट बुल टेरियर्स को नया नाम "सेंट फ्रांसिस टेरियर्स" (इनका न्यूयॉर्क में सेंट फ्रांसिस कॉलेज के "टेरियर" मैस्कॉट से कोई संबंध नहीं है) दिया जिससे इन कुत्तों को अपनाने के लिए लोग और प्रेरित हों;[22] इस नस्ल के 60 सामान्य स्वाभाव के कुत्तों को लोगों द्वारा अपनाया गया था लेकिन अनेकों नए अपनाये गए कुत्तों के द्वारा बिल्लियों को मारे जाने पर यह कार्यक्रम रुक गया था।[23] न्यूयॉर्क शहर स्थित पशु संरक्षण एवं नियंत्रण केंद्र (सेंटर फॉर एनिमल केयर एंड कंट्रोल) ने भी 2004 में एक ऐसे ही प्रयास के अंतर्गत अपने पिट बुल टेरियर्स को नया नाम "न्यू यौर्कीज़" दिया, लेकिन विशाल सार्वजनिक विरोध के कारण इस विचार को स्थगित कर दिया.[24][25]

अमेरिकी स्टेफर्डशायर टेरियर[संपादित करें]

अमेरिकी स्टेफर्डशायर टेरियर 19वीं शताब्दी में बुलडॉग और टेरियर के बीच संकरण से पैदा हुए थे, ये "बुल और टेरियर कुत्ते", "आधे-आधे" और कभी कभी "पिट डॉग" या "पिट बुलटेरियर" कहे जाते थे, जिन्हें बाद में इंग्लैंड में स्टेफर्डशायर बुल टेरियर का नाम मिला. उस समय का बुलडॉग आधुनिक बुलडॉग से भिन्न था, उसका थूथन बड़ा था और पूंछ लम्बी और पतली होती थी; हालांकि इस संबंध में कुछ विवाद है कि व्हाईट इंग्लिश टेरियर, द ब्लैक एंड टैन टेरियर, द फॉक्स टेरियर या इनके किसी संयोजन का प्रयोग हुआ था। इन कुत्तों को 1870 के प्रारंभिक समय से ही अमेरिका में पहचान मिलने लगी थी जहां इन्हें पिट डॉग, पिट बुल टेरियर, बाद में अमेरिकन बुल टेरियर और इसके भी बाद में यैंकी टेरियर के नाम से जाना जाता था।[26] इन्हें मुख्यतया पिट फाइटिंग (लड़ाई) के लिए आयात किया जाता था, लेकिन यह इनके आयात का एकमात्र कारण नहीं था।[27]

1936 में, अमेरिकी कैनल क्लब (AKC) ने उन्हें "स्टेफर्डशायर टेरियर्स" के नाम से अपना लिया। 1 जनवरी 1972 से इस नस्ल का नाम पुनः बदलकर "अमेरिकी स्टेफर्ड टेरियर" रख दिया गया, क्योंकि संयुक्त राज्य के प्रजनकों ने एक ऐसी नस्ल विकसित कर ली थी जो वज़न में स्टेफर्डशायर बुल टेरियर से अधिक भारी थी और इसीलिए नाम बदल दिया गया जिससे कि उन्हें अलग अलग नस्लों के रूप में पहचाना जा सके.[26]

स्टेफर्डशायर बुल टेरियर[संपादित करें]

स्टेफर्डशायर बुल टेरियर की शुरुआत कई शताब्दियों पूर्व इंग्लैंड में हुई थी जब बुलडॉग और मस्टिफ का प्रयोग बुल-बेटिंग (सांडों से लड़ाई) और बियर-बेटिंग (भालुओं से लड़ाई) खेलों में किया जाता था; एलिज़ाबेथ के काल में, प्रजनकों ने इन खेलों के लिए बड़े आकार के कुत्ते पैदा कराए लेकिन बाद में इन 100-120 पाउंड के जानवरों का स्थान 90 पाउंड वज़न के छोटे व अधिक फुर्तीले कुत्तों ने ले लिया।[28]

19वीं शताब्दी के शुरुआत में इंग्लैंड में कुत्तों की लड़ाई के खेल को प्रसिद्धि मिलने लगी और छोटे तथा फुर्तीले कुत्ते को विकसित किया गया। इसे "बुल डॉग टेरियर" और "बुल एंड टेरियर" के नामों से बुलाया जाता था। उस समय का बुलडॉग लगभग 60 पाउंड वज़न के साथ आजकल के आधुनिक अंग्रेजी बुलडॉग से बड़ा होता था। इस कुत्ते का एक छोटे स्थानीय टेरियर, जो आज के मैनचेस्टर टेरियर से सम्बद्ध है, के साथ संकरण कराया गया जिससे एक ऐसे स्टेफर्डशायर बुल टेरियर को विकसित किया जा सके जिनका औसत वज़न 30 से 45 पाउंड के बीच हो.[28]

लगभग 1860 के आसपास जेम्स हिंक्स ने पुराने पिट बुल टेरियर, जिसे अब द स्टेफर्डशायर बुल टेरियर के नाम से जाना जाता है, का संकरण कराया और पूर्ण-सफ़ेद इंग्लिश बुल टेरियर को विकसित किया। ग्रेट ब्रिटेन में द कैनल क्लब ने 19वीं शताब्दी के आखिरी चतुर्थांश में बुल टेरियर को पहचाना लेकिन स्टेफर्डशायर बुल टेरियर की छवि एक लड़ाकू कुत्ते के रूप में इतनी मजबूत थी कि 1935 तक, अर्थात ग्रेट ब्रिटेन में जानवरों के साथ क्रूरता अधिनियम, 1835 के अंतर्गत कुत्तों की लड़ाई के खेल को गैर कानूनी घोषित करने के पूरी एक शताब्दी बाद तक, कैनल क्लब का ध्यान बुल टेरियर नस्ल की ओर नहीं गया।[28]

1 अक्टूबर 1974 में स्टेफर्डशायर बुल टेरियर को एकेसी (AKC) स्टड बुक में पंजीकरण के लिए भर्ती किया गया साथ ही एकेसी (AKC) कार्यक्रम जो 5 मार्च 1975 से और उसके आगे से उपलब्ध थे, में टेरियर समूह में कार्यक्रमों का नियमित शो वर्गीकरण होता था।[29]

संबंधित मानव दुर्घटनाएं[संपादित करें]

कुत्तों द्वारा काटने से होने वाली मनुष्यों की मृत्यु पर सीमित संख्या में ही अध्ययन किये गए हैं और आम तौर पर समाचार मीडिया द्वारा बताई गई कुत्तों के काटने से सम्बंधित दुर्घटनाओं की रिपोर्टों के आधार पर ही सर्वेक्षण किये गए हैं। यह कार्य पद्धति अनेक संभावित त्रुटियों का स्रोत रही है: हो सकता है कई घातक हमलों की सूचना ही नहीं मिली हो; एक अध्ययन के अंतर्गत सभी आवश्यक सूचनाएं एकत्रित नहीं की जा सकतीं; और इसमें कुत्तों की नस्लों की गलत पहचान की भी संभावना रहती है,[7] हालांकि संयुक्त राज्य[30][31] और कनाडा[32][33] में न्यायालय नें यह नियम दिया है कि प्रकाशित नस्लीय मानकों के इस्तेमाल के सन्दर्भ में विशेषज्ञों द्वारा नस्लों की पहचान ही नस्ल विशेष कानून के प्रवर्तन के लिए पर्याप्त होगी. डीएनए (डीएनए) परीक्षण द्वारा कुत्तों की नस्ल को पहचानना संभव है[33] लेकिन किसी भी एक कुत्ते के लिए इस परीक्षण के परिणामों में काफी अंतर आ सकता है जो इसका परीक्षण करने वाली प्रयोगशाला पर और उस प्रयोगशाला में उपलब्ध विशुद्ध नस्लीय कुत्तों की संख्या के आंकड़ों पर निर्भर करेगा.[34]

साधारण पिट बुल प्रकार के कुत्तों के दांतों या जबड़ों की संरचना में किसी भी शारीरिक रूप से दांतों को "बंद कर देने की क्रियावली" के अस्तित्व का प्रमाण नहीं है,[35] हालांकि एक कुत्ते के जबड़े को शल्य क्रिया के माध्यम से, पुनः ठीक किये जा सकने वाले जबड़े की विकृतियों की स्थिति में अवश्य ही बंद किया जा सकता है।[36] शारीरिक रूप से "जबड़ों को बंद करने की क्रियावली" के अभाव के बावजूद भी, पिट बुल-प्रकार के कुत्ते प्रायः "काटना, पकड़े रहना और हिलाना" जैसे व्यवहार का प्रदर्शन करते हैं और काटने के दौरान अपने शिकार को छोड़ने के लिए तैयार नहीं होते हैं;[19][27][37] पिट बुल-प्रकार के कुत्तों को, जब यह एक मनुष्य या जानवर को काट रहे हों तब, व्यक्ति को छोड़ने के लिए मजबूर करने वाले तरीकों में अमोनिया के इम्प्यूल का विस्फोट करके उसे कुत्ते की नाक पर लगाये रहना[27] या एक "ब्रेक स्टिक" के द्वारा बलपूर्वक कुत्ते के जबड़े को खोलना शामिल है।[17][38]

रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एण्ड प्रिवेंशन)[संपादित करें]

रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एण्ड प्रिवेंशन) ने 2000 में कुत्तों के काटने से सम्बंधित घातक घटनाओं (डॉग बाईट रिलेटेड फैटलिटीज़) (DBRF) पर एक अध्ययन प्रकाशित किया जो 1979-1998 के बीच के वर्षों को समावेशित करता था। इस अध्ययन में 238 ऐसे लोगों की जानकारी मिली जो पिछले 24 वर्षों के दौरान कुत्ते के काटने से मरे थे, जिसमे अध्ययन द्वारा पहचानी गई घटनाओं में से 76 या लगभग 32 प्रतिशत लोगों की मौत के लिए कथित रूप से "पिट बुल टेरियर" या उनके संकर जिम्मेदार थे। इन घटनाओं के मामले में दूसरी अग्रणी नस्ल रॉटवेलर और उसकी संकर प्रजातियां थीं, जो अध्ययन द्वारा पहचानी गई घटनाओं के अनुसार 44 या लगभग 18 प्रतिशत व्यक्तियों की मौत के लिये जिम्मेदार थीं। कुल मिलाकर, पिट बुल, रॉटवेलर और इनकी संकर प्रजातियां अध्ययन के 20 वर्षीय काल में लगभग 50 प्रतिशत अभिज्ञात घटनाओं में शामिल थीं और डीबीआरएफ (DBRF) रिपोर्ट के अनुसार अध्ययन के अंतिम दो वर्षों (1997-1998) में 67 प्रतिशत घटनाओं में शामिल थीं, डीबीआरएफ (DBRF) ने यह निष्कर्ष दिया कि

"यह बहुत ही असामान्य है कि संयुक्त राज्य में इस अध्ययन के काल के दौरान ही कुत्तों की कुल संख्या के 60 प्रतिशत के लिय ये [पिट बुल-प्रकार के कुत्ते और रॉटवेलर कुत्ते] ही उत्तरदायी थे और इसीलिए इन घातक दुर्घटनाओं में किसी विशेष नस्ल से सम्बंधित समस्या ही परिलक्षित होती है।"[7]

रिपोर्ट के लेखक ने आगे कहा:

हालांकि दुर्घटनाओं से सम्बंधित आंकड़े चिंताजनक हैं, लेकिन किसी कार्यवाही पर निर्णय लेने से पूर्व व्यक्ति को विस्तृत सोच के आधार पर घातक और सामान्य दोनों प्रकार की काटने वाली दुर्घटनाओं पर विचार करना चाहिए. ...[A] 1986 से 1994 के बीच चिकित्सकीय देख रेख वाली कुत्तों के काटने की घटनाओं में 36 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो एक उपयुक्त और प्रभावी प्रतिक्रिया की ओर ध्यान केन्द्रित करती है, जिसमें कुत्तों को काटने से रोकने वाले कार्यक्रम भी शामिल है। "क्योंकि (1) वार्षिक स्तर पर कुत्तों द्वारा काटने की कुल दुर्घटनाओं में से घातक दुर्घटनाओं का प्रतिशत 0.00001 प्रतिशत ही होता है, (2) एक निश्चित समय काल में घातक रूप से काटने की घटनाएं स्थिर रही हैं, जबकि काटने की अन्य घटनाएं जो घातक नहीं होती हैं उनमे वृद्धि हुई है और (3) सामान्य राजनीतिक स्तर पर जहां कुत्ते के काटने संबंधी नियम घोषित और प्रवर्तित होते हैं वहां घातक रूप से काटने की घटनाएं बहुत कम होती हैं, हमारा मानना है कि कुत्तों द्वारा काटे जाने की घटनाओ को रोकने के लिए सार्वजनिक नीति बनाने के दौरान घातक रूप से काटने की घटनाओं को ही एकमात्र मुख्य बिंदु नहीं बनाया जाना चाहिए."

रिपोर्ट के लेखक ने यह सुझाव दिया है कि "सामान्य, सभी नस्लों पर लागू होने वाले, खतरनाक कुत्तों से सम्बंधित ऐसे नियम प्रवर्तित किये जा सकते हैं जो प्राथमिक रूप से कुत्ते के व्यवहार के लिए उसके मालिक को जिम्मेदार मानें, यहां कुत्ते की नस्ल का सम्बंधित कानून पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. विशेषतः, लगातार गैर जिम्मेदार रहे कुत्तों के मालिकों को निशाना बनाना प्रभावी रहेगा."[39]

नवीनतम सीडीसी (CDC) "डॉग बाइट: फैक्ट शीट" में इस अध्ययन के संबंध में एक अस्वीकरण शामिल है, जिसमे कहा गया है कि

"यह उन नस्लों की पहचान नहीं कराता है जो संभवतः काटने या मारने की ओर प्रवृत्त होती हैं और इसीलिए इस विषय से सम्बंधित नीति निर्धारक निर्णयों के लिए उपयुक्त नहीं है। प्रत्येक वर्ष 4.7 मिलियन अमेरिकी, कुत्तों के काटे जाने से जख्मी होते हैं। इन कुत्तों द्वारा काटे जाने की घटनाओं के फलस्वरूप लगभग 16 मामले ऐसे होते हैं जो गंभीर होते हैं; जो कुत्तों द्वारा काटे गए सभी लोगों का लगभग 0.0002 प्रतिशत है। ये अपेक्षाकृत कम घातक मामले कुत्तों के काटने के मामलों में शामिल नस्लों के बारे में सीमित जानकारी उपलब्ध कराते हैं। वर्तमान में ऐसा कोई सटीक तरीका नहीं है जिससे किसी विशेष नस्ल के कुत्तों की पहचान की जा सके और इसी के फलस्वरूप यह निर्धारित कने के लिए भी कोई तरीका नहीं है कि कुत्तों की कौन सी नस्ल काटने या मार डालने के प्रति अधिक प्रवृत्त होती हैं।"[40]

कनाडा का पशु चिकित्सा अखबार (2008)[संपादित करें]

डॉ॰ मलाथी राघवन, डीवीएम (DVM), पीएचडी (PhD) के समाचार पत्र के लेखों की एक इलेक्ट्रॉनिक खोज में यह पाया गया कि कनाडा में 1990 से 2007 के बीच कुत्तों द्वारा काटने की दर्ज की गयी प्रत्येक 28 घातक घटनाओं में एक (3.6%) के लिए पिट बुल टेरियर जिम्मेवार हैं।[41]

क्लिफ्टन रिपोर्ट (2009)[संपादित करें]

एनिमल पीपल न्यूज़[42] के संपादक मिस्टर मेरिट क्लिफ्टन, ने संयुक्त राज्य और कनाडा में सितम्बर 1982 से 22 दिसम्बर 2009 तक के समय के बीच कुत्तों के हमलों और काटने की घातक घटनाओं से होने वाली मौतों से संबंधित प्रेस रिपोर्टों द्वारा एक अभिलेख एकत्रित किया है। अध्ययन की कार्य पद्धति ने "वे कुत्ते जिनकी नस्ल या वंश इतिहास स्पष्ट रूप से पहचाना गया हो, जो एनिमल कंट्रोल ऑफिसर या किसी विशेषज्ञ द्वारा पहचाने गए हों, [जिन्हें] पालतू जानवरों के रूप में रखा गया था" द्वारा किये गए आक्रमणों की गिनती की. मिस्टर क्लिफ्टन यह स्वीकार करते हैं कि अभिलेख "किसी भी प्रकार से घातक या अन्य रूप से गंभीर कुत्तों द्वारा किये गए हमलों की सूची नही है" क्योंकि इसमें "वे कुत्ते जिनकी नस्ल अनिश्चित है,... पुलिस के कुत्ते, रखवाली करने वाले कुत्ते और विशेष रूप से लड़ाई के लिए प्रशिक्षित किये गए कुत्तों द्वारा किये गए आक्रमण शामिल नहीं हैं।.."[43]

अध्ययन में यह पाया गया कि 27 वर्षों की अवधि में कुत्तों के आक्रमण द्वारा मरने वालों की संख्या 345 थी, जिसमे से कथित तौर पर "पिट बुल टेरियर", या उनके संकरण 159 या अध्ययन द्वारा अभिज्ञात कुत्तों के हमलों की कुल संख्या के लगभग 46 प्रतिशत लोगों की मृत्यु के लिए जिम्मेदार थे। रॉटवीलर और उनकी संकर नस्लें घातक हमलों के मामले में दूसरे स्थान पर हैं, यह 70 घातक मामलों या अभिज्ञात घातक मामलों में से लगभग 20 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार हैं; कुल मिलाकर, पिट बुल कुत्ते, रॉटवीलर कुत्ते और उनकी संकर नस्लें अध्ययन द्वारा अभिज्ञात कुल 66 प्रतिशत मामलों में शामिल थीं। इसी अध्ययन में, एक "पिट बुल टेरियर" द्वारा गंभीर रूप से अपंग करने के मामलों की संख्या 778 थी; जबकि रॉटवीलर द्वारा गंभीर रूप से अपंग करने के मामलों की संख्या 244 थी। जर्मन शेफर्ड कुत्ते द्वारा किये गए घातक हमलों की संख्या 9 थी। जर्मन शेफर्ड कुत्ते द्वारा गंभीर रूप से अपंग करने के मामलों की संख्या 50 थी।[43]

मिस्टर क्लिफ्टन ने यह निष्कर्ष दिया कि

"स्वभाव मुद्दा नहीं है और न ही यह प्रासंगिक है। जो मुद्दा प्रासंगिक है वह है बीमित राशि का जोखिम. यदि किसी भी अन्य कुत्ते का व्यवहार बिगड़ता है, तो वह किसी न किसी को काटता है, लेकिन यह इतना बुरा बही होता कि जिससे वह व्यक्ति मर जाये यां जीवन भर के लिए अपंग हो जाये और बीमित राशि का जोखिम भी इसी के अनुसार होता है। पर यदि पिट बुल टेरियर का व्यवहार बिगड़ता है, तो प्रायः ही कोई मारा जाता है यां अपंग हो जाता है- और इस कारण अब बीमित राशि का जोखिम अत्यधिक हो गया है, जिसके लिए कुत्ते और उनके शिकार, दोनों को ही कीमत चुकानी पड़ रही है।"[43]

संयुक्त राज्य अमेरिका में दर्ज किया गए घातक परिणाम (2005-2009)[संपादित करें]

निम्नांकित सारिणी संयुक्त राज्य में 2005 से 2009 के बीच समाचार संस्थाओं द्वारा दर्ज किये गए पिट बुल-सम्बंधित घातक मामलों को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत करती है:

संयुक्त राज्य अमेरिका में कुत्तों के काटे जाने से सम्बंधित घातक मामले .[44]
वर्ष कुल पिट बुल-प्रकार के कुत्तों से सम्बंधित
2005 28 17 (62%)
2006 29 15 (52%)
2007 34 18 (53%)
2008 23 15 (65%)
2009 30 14 (47%)

कानून[संपादित करें]

एक मुखरोधनी पिट बुल प्रकार का कुत्ता.

पिट बुल-प्रकार के कुत्तों से सम्बंधित अनेकों अधिक प्रचारित मामलों के फलस्वरूप कई अधिकार क्षेत्रों ने नस्ल विशेष पर आधारित कानून (BSL) प्रवर्तित किये हैं और कुछ सरकारी संस्थाओं जैसे संयुक्त राज्य सेना[45] और मरीन कॉर्प्स[46] ने प्रशासकीय कार्यवाही भी की है। इन कार्यवाहियों में पिट बुल-प्रकार के कुत्तों को रखने पर प्रत्यक्ष प्रतिबन्ध से लेकर पिट बुल के स्वामित्व पर नियम और प्रतिबन्ध आदि शामिल हैं और प्रायः इसमें एक कानूनी पूर्वधारणा भी होती है कि पिट बुल-प्रकार का कुत्ता प्रथमदृष्टया एक कानूनी रूप से "खतरनाक" या "दुष्ट" कुत्ता है।[11] इसकी प्रतिक्रिया में संयुक्त राज्य में कुछ राज्य सरकारों ने उस राज्य के अन्दर नगरमहापालिका द्वारा नस्ल विशेष पर आधारित कानून प्रवर्तित करने के अधिकार को प्रतिबंधित या निषेध कर दिया है, हालांकि नस्ल विशेष पर आधारित इन कानूनों के निषेध से उस राज्य में स्थित सैन्य इकाईयों को कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.[47]

अब आम तौर पर कानूनी मामलों में यह मान्य है कि संयुक्त राज्य और कनाडा में न्यायाधिकार के अंतर्गत उनके पास नस्ल विशेष पर आधारित कानून प्रवर्तित करने का अधिकार है; हालांकि, कुत्तों द्वारा काटे जाने वाले मामलों को रोकने के लिए नस्ल विशेष पर आधारित कानून की प्रभावकारिता पर अभी भी विवाद है।[48] एक दृष्टिकोण यह है कि पिट बुल कुत्ते सार्वजनिक सुरक्षा का एक ऐसा मुद्दा हैं जो निम्नांकित कार्यवाहियों को सही साबित करता है जैसे, स्वामित्व पर प्रतिबन्ध, सभी पिट बुल कुत्तों के लिए अंडाशय उच्छेदन/नपुंसकता की अनिवार्यता, माइक्रोचिप लगाने और उत्तरदायित्व बीमा की अनिवार्यता या उन लोगों का निषेध जो पिट बुल के स्वामित्व को लेकर किसी अपराध के दोषी हैं।[49][50] दूसरा दृष्टिकोण यह है कि एक व्यापक "कुत्ता काटने संबंधी" कानून जिसमे कि परिष्कृत उपभोक्ता शिक्षा और कानूनी रूप से पालतू जानवर को जिम्मेदारीपूर्वक रखने के अभ्यास की अनिवार्यता भी शामिल हो, वह खतरनाक कुत्तों की इस समस्या के लिए, किसी नस्ल आधारित क़ानून प्रवर्तन की तुलना में एक अच्छा उपाय होगा.[51][52]

तीसरा दृष्टिकोण यह है कि नस्ल विशेष पर आधारित कानून पूरी तरह से नस्ल को प्रतिबंधित नहीं कर सकते लेकिन उन्हें कठोरता पूर्वक शर्तों को नियमित करना होगा जिसके अंतर्गत कुछ ख़ास नस्लों का ही अधिकार प्राप्त किया जा सकेगा, उदहारण के तौर पर, कुछ विशेष वर्ग के व्यक्तियों को इनका अधिकार पाने से प्रतिबंधित करना, उन सार्वजनिक क्षेत्रों की घोषणा करनी होगी जहां उन कुत्तों के आने पर प्रतिबन्ध होगा और ऐसी शर्तों का निर्माण करना होगा जैसे कि, कुछ विशेष नस्ल के कुत्तों को सार्वजनिक स्थानों पर ले जाने पर कुत्तों द्वारा मुखरोधनी का पहना जाना, आदि.[53] अंततः, कुछ सरकारें जैसे ऑस्ट्रेलिया ने, कुछ विशेष नस्लों के आयत पर प्रतिबन्ध लगा दिया है और धीरे धीरे इन नस्लों की जनसंख्या को समाप्त करने के स्वाभाविक संघर्षण प्रयास में सभी मौजूदा कुत्तों के अंडाशय उच्छेदन/नपुंसकता को अनिवार्य कर दिया है।[54][55]

व्यावसायिक प्रतिबंध[संपादित करें]

दायित्व बीमा[संपादित करें]

संयुक्त राज्य में कुत्तों द्वारा पहुंचाए गए जख्मों के लिए उनके मालिकों को कानूनी रूप से जिम्मेदार माना जा सकता है। आम तौर पर, कुत्तों के मालिकों को तब जिम्मेदार ठहराया जाता है जब वे अपने कुत्ते को संभालने में या उसे रोकने के प्रति लापरवाह रहे हों, या तब जब कि उन्हें पहले से यह पता हो कि उनका कुत्ता लोगों को जख्मी करने (जैसे, काटने) की ओर प्रवृत्त रहता है; हालांकि कुत्ते के मालिक ऐसी घटनाओं के लिए सीधे ही जिम्मेदार हो जाते हैं यदि स्थानीय कानून कुत्ते द्वारा की गयी क्षति के लिए उसके मालिक को ही पूर्ण रूप से जिम्मेदार मानता हो, यहां लापरवाही या कुत्ते की प्रवृत्ति के विषय में पहले से जानने या नहीं जानने से कोई फर्क नहीं पड़ता. गृहस्वामियों और किरायेदारों की बीमा पॉलिसी में विशेष रूप से कुत्तों द्वारा घायल किये जाने के मामलों में 100,000 डॉलर से लेकर 300,000 डॉलर तक की बीमा व्याप्ति होती है;[56] हालांकि, कुछ बीमा कम्पनियां कुत्तों द्वारा काटे जाने के मामलों में उन कुत्तों पर प्रतिबन्ध लगाने के द्वारा, जिनके मालिकों का बीमा उन्होंने किया है, बीमाकृत राशि के दावों से सम्बंधित ऋण जोखिम को सीमित कर लेती हैं। इन प्रतिबंधों में कुत्ते द्वारा काटे जाने के मामलों को बीमा पॉलिसी में शामिल ना करना; कुछ ख़ास नस्लों के कुत्ते रखने वाले स्वामियों की बीमा दर में वृद्धि; कुछ खास नस्लों के मालिकों के लिए विशेष प्रशिक्षण की अनिवार्यता या उनक द्वारा अपने कुत्तों को अमेरिकी कैनल क्लब कैनाइन गुड सिटिज़न टेस्ट में उत्तीर्ण होने की अनिवार्यता;[57] कुत्ते के मालिक द्वारा अपने कुत्ते को मुखरोधनी, जंजीर या घेराव में प्रतिबंधित रखने की अनिवार्यता और कुछ ख़ास नस्लों को रखने वाले गृहस्वामियों और किरायेदारों के संबंध में पॉलिसी लिखने से इनकार आदि सम्मिलित हैं।[56] ओहियो में, जिसने पिट बुल-प्रकार के सभी कुत्तों को "खतरनाक" घोषित कर दिया है,[58] विशेष दायित्व बीमा जो पिट बुल-प्रकार के कुत्ते द्वारा की गयी क्षति को सीमित करता हो, उसकी लागत 575 डॉलर प्रति वर्ष से भी अधिक हो सकती है।[59]

किराये पर दी जाने वाली संपत्ति के मालिक भी कुत्ते द्वारा की गयी क्षति के लिए जिम्मेदार ठहराए जा सकते हैं यदि उन्हें यह पता है कि एक आक्रामक कुत्ता उनकी संपत्ति में रह रहा है और फिर भी उन्होंने उस स्थान पर रहने वाले अन्य किरायेदारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कुछ नहीं किया; इसके फलस्वरूप, कई किराये पर दी जाने वाली सम्पत्तियं पिट बुल-प्रकार के कुत्तों या अन्य किसी प्रकार के कुत्तों को अपना संपत्ति में रखने से मना करती हैं यदि उनका बीमा उस नस्ल के कुत्ते द्वारा की गयी क्षति को अपनी पॉलिसी में शामिल नहीं करता है तो. प्रायः बीमा कंपनियों द्वारा चिन्हित की गयी नस्लों में पिट बुल-प्रकार के कुत्ते, रॉटवीलर कुत्ते, जर्मन शेफर्ड कुत्ते, डाबरमैन पिन्शर्स, एकिटास (एकिटा इनू और अमेरिकी एकिटा) तथा चो कुत्ते.[60]

हवा वाहक प्रतिबंध (एयर कैरियर रिस्ट्रिक्शन)[संपादित करें]

अनेकों हवा वाहक सेवाओं ने लघुशिरस्क जानवरों पर तापमान और नमी के प्रभाव के कारण या विमान सेवा की संपत्ति, सेवाकर्मियों और यात्रियों की सुरक्षा की दृष्टि से कुत्तों की कुछ नस्लों पर प्रतिबन्ध लगा रखा है। निम्नांकित सारिणी में पिट बुल-प्रकार के कुत्तों पर हवा वाहक सेवाओं द्वारा लगाये गए प्रतिबंधों का प्रतिदर्श है।

विमानसेवा कारण विवरण
एयर फ़्रांस सुरक्षा (सेफ़्टी) द स्टेफर्डशायर टेरियर, मस्टिफ (बोर्बोयेल), टोसा और पिट बुल को वायु मार्ग द्वारा नहीं ले जाया जा सकता.[61]
अलास्का एयरलाइंस / हौरिज़न एयर स्वास्थ्य अमेरिकी पिट बुल टेरियर, अमेरिकी स्टेफर्डशायर टेरियर, स्टेफर्डशायर बुल टेरियर और अन्य सम्बंधित कुत्ते अपने मालिक की जिम्मेदारी पर हवाई यात्रा करेंगे और इस यात्रा के दौरान यदि उनकी मृत्यु हो जाती है यां उन्हें कोई चोट लगती है तो इसके लिए विमान सेवा कोई मुआवजा नहीं देगी. यदि विमान सेवा को ऐसा लगता है कि कि बाहर का तापमान जानवर की सुरक्षा की दृष्टी से बहुत अधिक है तो वह कुत्ते को अपने विमान में लेने से मना भी कर सकती है।[62]
अमेरिकी एयरलाइंस स्वास्थ्य "चिपटी-नाक" वाले कुत्ते, जिसमे पिट बुल-प्रकार के कुत्ते भी शामिल होते हैं, उन्हें मौसम की भविष्यवाणी के आधार पर मार्ग में किसी भी समय तापमान 75 डिग्री फारेनहाईट से अधिक हो जाने कीई सम्भावना होने पर, यात्रा से प्रतिबंधित कर दिया जाता है।[63]
ब्रिटिश एयरवेज़ सुरक्षा (सेफ़्टी) अमेरिकी पिट बुल टेरियर्स प्रतिबंधित हैं[64]
कौंटीनेंटल एयरलाइंस सुरक्षा (सेफ़्टी) अमेरिकी पिट बुल टेरियर जिनकी आयु 6 महीने से अधिक है और वजन 20 (9 किलोग्राम) पाउंड से अधिक है, वे प्रतिबंधित हैं।[65]
कौंटीनेंटल एयरलाइंस स्वास्थ्य अमेरिकी बुलडॉग या अमेरिकी स्टेफर्डशायर टेरियर जिनकी आयु 6 महीन से अधिक और वज़न 20 पाउंड (9 किलोग्राम) से अधिक है, या इन नस्लों का कोई भी अन्य कुत्ता उस अवस्था में प्रतिबंधित कर दिया जाता है जब यात्रा शुरू करते समय या यात्रा मार्ग में कहीं रुकने के दौरान तापमान के 85 डिग्री फारेनहाईट (29.4 डिग्री सेल्सियस) तक हो जाने की सम्भावना हो.[65]
डेल्टा एयरलाइंस स्वास्थ्य चिपटी-नाक वाला कुत्ता", जिसमे पिट बुल-प्रकार के कुत्ते भी शामिल होते हैं, इनको उस अवस्था में प्रतिबंधित कर दिया जाता है जब यात्रा शुरू करने के दौरान या यात्रा मार्ग में कहीं भी रुकने के दौरान तापमान के 75 डिग्री फारेनहाईट (24 डिग्री सेल्सियस) से बढ़ने की सम्भावना हो.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • संयुक्त राज्य अमेरिका में घातक कुत्तों के हमले की सूची

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "An Act to amend the Dog Owners' Liability Act to increase public safety in relation to dogs, including pit bulls, and to make related amendments to the Animals for Research Act". Government of Ontario, Canada. 2005-08-29. Retrieved 2010-07-05. 
  2. "Revised Municipal Code – City and County of Denver, Colorado". City of Denver, Colorado. 2009-05-19. Retrieved 2010-07-05. 
  3. "Veterinary Conditions for the importation of dogs/cats for countries under Category A (1/4)" (PDF). Agri-Food and Veterinary Authority of Singapore. 2008-08-04. Retrieved 2009-08-04. 
  4. "Pit Bull Information". Franklin County, Ohio. Retrieved 2010-07-30. 
  5. Department for Environment, Food and Rural Affairs (2009-03). "Dangerous Dogs Law: Guidance for Enforcers" (PDF). Retrieved 2010-08-07.  Check date values in: |date= (help)
  6. "U.S. pet ownership statistics". Humane Society of the United States. 2009-12-30. Retrieved 2010-08-15. 
  7. "Breeds of dogs involved in fatal human attacks in the United States between 1979 and 1998" (PDF). Centers for Disease Control and Prevention. 2008-04-01. Retrieved 2009-07-08. 
  8. "Decade of adoption focus fails to reduce shelter killing". Animal People News 6 (XIX): pp. 8–10. July/August 2009. http://www.animalpeoplenews.org/09/7-8/JulyAug2009.pdf. अभिगमन तिथि: 2009-10-24. 
  9. "American Pit Bull Terrier". United Kennel Club (UKC). 2008-11-01. Retrieved 2009-08-07. 
  10. "Pit Bull Cruelty". American Society for the Prevention of Cruelty to Animals (ASPCA). 2010. Retrieved 2010-07-05. 
  11. Palika, Liz (2006-01-31). American Pit Bull Terrier: Your Happy Healthy Pet. Howell Book House. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0471748229. http://books.google.com/?id=5eb20393tgsC&printsec=frontcover&dq=american+pit+bull+terrier&cd=1#v=onepage&q=. अभिगमन तिथि: 2010-03-01. 
  12. "Dog Fighting FAQ". American Society for the Prevention of Cruelty to Animals (ASPCA). 2009. Retrieved 2009-08-16. 
  13. Stahlkuppe, Joe (2000-09-01). American Pit Bull. Complete Pet Owner's Manual. Barron's Educational Series. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0764110528. http://books.google.com/?id=3dxXjR7sKsYC&pg=PP20&dq=american+pit+bull+terrier+united+kennel+club&cd=1#v=onepage&q=american%20pit%20bull%20terrier%20united%20kennel%20club. अभिगमन तिथि: 2010-03-01. 
  14. "Cool K-9 Popsicle retires". U.S. Customs Today 38 (10). October 2002. http://www.cbp.gov/xp/CustomsToday/2002/October/k9.xml. अभिगमन तिथि: 2009-08-07. 
  15. Lewin, Adrienne Mand (October 12, 2005). "Protecting the Nation – One Sniff at a Time". ABC News. http://abcnews.go.com/Technology/Terrorism/story?id=1200304&page=1. अभिगमन तिथि: 2009-02-02. 
  16. Simon, Scott (2008-06-21). "Trainer turns pit bull into therapy dog". National Public Radio. Retrieved 2009-08-07. 
  17. "Break Stick Information". Pit Bull Rescue Central. 2008. Retrieved 2009-08-16. 
  18. "Dog Fighting Fact Sheet". Humane Society of the United States. 2009. Retrieved 2009-08-07. 
  19. Swift, E.M. (1987-07-27). "The pit bull: friend and killer". Sports Illustrated 67 (4). http://sportsillustrated.cnn.com/vault/article/magazine/MAG1066224/1/index.htm. अभिगमन तिथि: 2009-12-02. 
  20. Baker, Al; Warren, Mathew R. (2009-07-09). "Shooting highlights the risks dogs pose to police, and vice versa". दि न्यू यॉर्क टाइम्स (New York, NY). http://www.nytimes.com/2009/07/10/nyregion/10pitbull.html?_r=1. अभिगमन तिथि: 2010-01-07. 
  21. "'Dangerous dogs' weapon of choice". बीबीसी न्यूज़. 2009-12-02. http://news.bbc.co.uk/2/hi/uk_news/england/west_midlands/8391909.stm. अभिगमन तिथि: 2009-12-02. 
  22. Cothran, George (1997-06-11). "Shouldn't we just kill this dog?". San Francisco Weekly (San Francisco, CA). http://www.sfweekly.com/1997-06-11/news/shouldn-t-we-just-kill-this-dog. अभिगमन तिथि: 2009-09-04. 
  23. "Bring breeders of high-risk dogs to heel". Animal People News. 2004-01. http://www.animalpeoplenews.org/04/1/editorialHighRiskDogs1.04.html. अभिगमन तिथि: 2009-09-04. 
  24. Haberman, Clyde (2004-01-13). "NYC; Rebrand Fido? An idea best put down". दि न्यू यॉर्क टाइम्स (New York, NY). http://www.nytimes.com/2004/01/13/nyregion/nyc-rebrand-fido-an-idea-best-put-down.html. अभिगमन तिथि: 2009-09-04. 
  25. Laurence, Charles (2004-01-04). "Q: When is a pit bull terrier not a pit bull terrier? A: When it's a patriot terrier". The Daily Telegraph (London, UK). http://www.telegraph.co.uk/news/worldnews/northamerica/usa/1451409/Q-When-is-a-a-pit-bull-terrier-not-a-pit-bull-A-When-its-a-patriot-terrier.html. अभिगमन तिथि: 2009-11-14. 
  26. "American Staffordshire Terrier History". American Kennel Club. 2009. Retrieved 2010-07-24. 
  27. Clark, Ross D., DVM; Stainer, Joan R.; Haynes, H. David, DVM एवम् अन्य, सं (1983). Medical & Genetic Aspects of Purebred Dogs. Edwardsville, KS: Veterinary Medicine Publishing. प॰ 27. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0964160903. 
  28. Lee, Clare (2000-09). Staffordshire Bull Terrier. Pet Owner's Guide Series. Ringpress Books. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1860540820. http://books.google.com/?id=H4C8Fjl9lwYC&pg=PA10&dq=staffordshire+terrier+1935&cd=12#v=onepage&q=staffordshire%20terrier%201935. अभिगमन तिथि: 2010-03-01. 
  29. "Staffordshire Bull Terrier History". American Kennel Club. 2009. Retrieved 2009-08-03. 
  30. "Toledo v. Tellings, 114 Ohio St.3d 278, 2007-Ohio-3724." (PDF). Supreme Court of Ohio. Retrieved 2009-06-29. 
  31. "Certeriorari – Summary Dispositions (Order List: 552 U.S.)" (PDF). United States Supreme Court. 2008-02-19. Retrieved 2009-08-03. 
  32. "Cochrane v. Ontario (Attorney General), 2008 ONCA 718" (PDF). Ontario Court of Appeal. 2008-10-24. Retrieved 2009-07-21. 
  33. "Who let the dogs out?". Center for Constitutional Studies, University of Alberta, Canada. 2009-06-12. Retrieved 2009-07-21. 
  34. Szuchman, Paula (2009-09-18). "Beagle or Bichon: Can Dog Drool Provide Insight?". The Wall Street Journal (New York, NY). http://online.wsj.com/article/SB10001424052970204518504574416810535466706.html. अभिगमन तिथि: 2009-11-16. 
  35. "Toledo v. Tellings, -REVERSED-, 2006-Ohio-975, ¶25" (PDF). Court of Appeals of Ohio, Sixth Appellate District. Retrieved 2009-10-02. 
  36. Frazho, J.K.; Tano, C.A.; Ferrell, E.A. (2008-09-01). "Diagnosis and treatment of dynamic closed-mouth jaw locking in a dog". Journal of the American Veterinary Medical Association 233 (5): 748–751. doi:10.2460/javma.233.5.748. PMID 18764710. http://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/18764710. अभिगमन तिथि: 2009-10-01. 
  37. "Breaking up a fight". Pit Bull Rescue Central. 2008. Retrieved 2009-08-16. 
  38. "Pros and cons of owning a pit bull". Bay Area Doglovers Responsible About Pitbulls (BADRAP). 2007. Retrieved 2009-08-16. 
  39. "Breeds of dogs involved in fatal human attacks in the United States between 1979 and 1998" (PDF). Centers for Disease Control and Prevention. 2000-09-15. Retrieved 2009-07-08. 
  40. "Dog Bite: Fact Sheet". Centers for Disease Control and Prevention. 2008-04-01. Retrieved 2009-07-08. 
  41. Raghavan, Malathi (June 2008). "Fatal dog attacks in Canada, 1990–2007". The Canadian Veterinary Journal (La Revue vétérinaire canadienne) 49 (6): 577–581. PMC 2387261. PMID 18624067. http://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2387261/. 
  42. "Animal People". Retrieved 2009-07-13. 
  43. "Dog attack deaths and maimings, US & Canada, September 1982 – December 22, 2009". 2009-12-22. Retrieved 2010-01-06. 
  44. यह सारिणी संयुक्त राज्य में कुत्तों द्वारा किये गए घातक हमलों की सूची से घातक दुर्घटनाओं को संदर्भित करती है, इसके फलस्वरूप यह प्रत्येक सूचित मामले के संबंध में वर्तमान लेख में सभी उल्लेखों को दोहराने के स्थान पर प्रत्येक मामले के लिए व्यक्तिगत उल्लेख प्रस्तुत करती है।
  45. "Garrison Policy Memorandum #08-10, Mandatory Pet Micro-Chipping and Pet Control". US Army Installation Management Command, Fort Drum, NY. 2009-02-03. Retrieved 2009-08-03. 
  46. "Marine Corps Housing Management" (PDF). United States Marine Corps. 2009-08-11. Retrieved 2009-11-16. 
  47. "States prohibiting or allowing breed specific ordinances". American Veterinary Medical Association. October 2007. Retrieved 2009-07-12. 
  48. Campbell, Dana (July/August 2009). "Pit Bull Bans: The State of Breed–Specific Legislation". GP-Solo (American Bar Association) 26 (5). http://www.abanet.org/genpractice/magazine/2009/jul_aug/pitbull.html. अभिगमन तिथि: July 30, 2009. 
  49. Lynn, Colleen (2009). "About dogsbite.org: Common Sense Laws". dogsbite.org. Retrieved 2009-07-11. 
  50. Nelson, Kory (2005). "One city's experience: why pit bulls are more dangerous and why breed-specific legislation is justified". Municipal Lawyer 46 (6): pp. 12–15. August 2005. http://www.dogbitelaw.com/pitbullDenver.pdf. अभिगमन तिथि: 2009-07-11. 
  51. "HSUS Statement on Dangerous Dogs". Humane Society of the United States. 2009. Retrieved 2009-07-11. 
  52. "A community approach to dog bite prevention". Journal of the American Veterinary Medical Association 218 (11): pp. 1731–1749. June 1, 2001. http://www.avma.org/public_health/dogbite/dogbite.pdf. अभिगमन तिथि: 2009-07-11. 
  53. Phillips, Kenneth (October 10, 2008). "Breed Specific Laws". dogbitelaw.com. Retrieved 2009-07-11. 
  54. Barlow, Karen (2005-05-03). "NSW bans pit bull terrier breed". Sydney, Australia: Australian Broadcasting Corporation. http://www.abc.net.au/pm/content/2005/s1359018.htm. अभिगमन तिथि: 2009-12-23. 
  55. Hughes, Gary (2009-10-20). "Pit bull bite prompts call for national approach to dangerous dog breeds". The Australian (Sydney, Australia). http://www.theaustralian.com.au/news/pit-bull-bite-prompts-call-for-national-approach-to-dangerous-dog-breeds/story-e6frg6of-1225788552051. अभिगमन तिथि: 2009-12-23. 
  56. "Dog Bite Liability". Insurance Information Institute. 2009-09. Retrieved 2009-09-24.  Check date values in: |date= (help)
  57. "Homeowners Insurance Available to Breeds Previously Excluded with CGC Certification". American Kennel Club. 2004-10-01. Retrieved 2009-02-04. 
  58. "Ohio Revised Code, Chapter 955 (Dogs)". State of Ohio. 2008-06-15. Retrieved 2009-07-22. 
  59. Ganz, Katy (2009-03-19). "Counties have special rules for pit bulls". The Daily Record (Wooster, Ohio). http://www.the-daily-record.com/news/article/4549495. अभिगमन तिथि: 2009-09-24. 
  60. Sodergren, Brian. "Insurance companies unfairly target specific dog breeds". Humane Society of the United States. Retrieved 2009-08-12. 
  61. "Frequently asked questions". Air France. Retrieved 2010-01-11. 
  62. "Traveling with pets". Alaska Airlines. Retrieved 2009-08-12. 
  63. "Traveling with pets". American Airlines. Retrieved 2009-08-12. 
  64. "British Airways Pet Policy". British Airways. Retrieved 2010-01-11. 
  65. "Restrictions". Continental Airlines. Retrieved 2009-08-12.