पानरवा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पानरवा राजस्थान के मेवाड़ क्षेत्र में उदयपुर जिले के झाड़ोल तहसील में स्थित एक गांव है।

इतिहास[संपादित करें]

इस क्षेत्र का इतिहास बेहद ही गौरवशाली है। करीब 15वी शताब्दी के पूर्व भील प्रमुख पनारवा के शासक थे जिनमें राणा दयालदास और राणा पूंजा प्रमुख थे, बप्पा रावल के समय पानारवा का शासन भील प्रमुख के हाथो में था, अरबों के खिलाफ बप्पा रावल के सहयोगी भील थे, यह पहाड़ी क्षेत्र में सबसे ताकतवर भील क्षेत्र था, राजा हरपाल भील के पोते और राणा दुद्धा के पुत्र राणा पूंजा ने मेवाड़ के महाराणा के खराब समय में उनका साथ दिया। यह क्षेत्र मेवाड़ में स्वतंत्र क्षेत्र था।[1]

जैव विविधता[संपादित करें]

तेंदुआ, उड़ने वाली गिलहरी, मगरमच्छ, विभिन्न सांप, मून मोथ, टसर, स्लॉथ बीयर, लोमड़ी, हैना, जैकाल, कॉमन केवेट, मोंगोज, चार सींग वाले मृग, भारतीय साही, पेल हेज हॉग, फाउल, फ्रांसोलिन, बटेर, विभिन्न दुर्लभ प्रजातियां आदि पाए जाते है। महुवा, बुरा, पीपल, गूलर, बहेडा, सआद, करंज, खजूर, गोडल, सालार, बेर, घटबोर, कड़ाया, खिरनी, चुरेल, गंगेरन, सफ़ेद, ढोक, इंडोक, बेल, कोतबाड़ी, जंगली केला, आदि।[2]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Sharma, Gopi Nath; Mathur, M. N.; Samiti, Maharana Pratap Smarak (1989*). Maharana Pratap & his times (अंग्रेज़ी में). Maharana Pratap Smarak Samiti. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. "Panarwa" (अंग्रेज़ी में). मूल से 19 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2020-05-18.