पादुका सहस्रम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पादुका सहस्रम् वेदान्त देशिक की संस्कृत चित्रकाव्य है। इसमें १००८ श्लोकों में श्रीराम की पदुका (खड़ाऊँ) की वन्दना-आराधना की गयी है। यह पुस्तक उन कुछ पुस्तकों में से एक है जिसे श्रीवैष्णव सम्प्रदाय के लोग प्रतिदिन पाठ करते हैं। ऐसा कहा जाता है वेदान्त देशिक ने कि इस पुस्तक की रचना मात्र एक रात में कर दी थी। यह रचना श्रीरंगम स्थित भगवान रंगनाथ के प्रति देशिक की अगाध भक्तिभावना की भी परिचायक है।

इसमें एक श्लोक ऐसा है जो संगणक विज्ञान में प्रसिद्ध घोड़े की चाल () नामक समस्या का समाधान है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]