पंचशील (बौद्ध आचार)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पंचशील बौद्ध धर्म की मूल आचार संहिता है जो थेरवाद बौद्ध के उपासक एवं उपासिकाओं के लिये पालन करना आवश्यक माना गया है।

भगवान बुद्ध ने अपने अनुयायिओं को द्या हुआ पंच शील

1. झूठ न बोलना, 2. चोरी न करना, 3. व्यभिचार न करना, 4. नशा न करना, 5. हिंसा न करना। पालि में

पाणातिपाता वेरमणी-सिक्खापदं समादियामि।। अदिन्नादाना वेरमणी- सिक्खापदं समादियामि।। कामेसु मिच्छाचारा वेरमणी- सिक्खापदं समादियामि।। मुसावादा वेरमणी- सिक्खापदं समादियामि।। सुरा-मेरय-मज्ज-पमादठ्ठाना वेरमणी- सिक्खापदं समादियामि।।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]