नीलमणि राउत्रे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नीलमणि राउत्रे  (ओडिया: ନୀଳମଣି ରାଉତରାୟ; २४ मई १९२० – ४ अक्टूबर २००४) भारतीय राजनीतिज्ञ थे जो १९७७ से १९८० तक ओडिशा के मुख्यमंत्री रहे।[1] विश्वनाथ प्रताप सिंह केन्द्रिय मंत्रिमण्डल में वो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री और बाद में वन और पर्यावरण मंत्री रहे। ४ अक्टूबर २००४ को उनका निधन हो गया।[2][3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "नवीन पटनायक लगातार चौथी बार ओडिशा का मुख्यमंत्री बनने वाले पहले नेता". एनडीटीवी इंडिया. २१ मई २०१४. Archived from the original on 29 जुलाई 2014. Retrieved २९ जून २०१४. Check date values in: |accessdate=, |date=, |archive-date= (help)
  2. "Nilamani Routray passes away, three-day state mourning in Orissa" [नीलमणि राउत्रे चल बसे, ओडिशा में तीन दिन का राजकीय शोक]. रीडिफ डॉट कॉम. ४ अक्टूबर २००४. Archived from the original on 15 अक्तूबर 2012. Retrieved २९ जून २०१४. Check date values in: |accessdate=, |date=, |archive-date= (help)
  3. "Nilamani Routray dead" [नीलमणि राउत्रे का निधन] (in अंग्रेज़ी). द हिन्दू. ५ अक्टूबर २००४. Archived from the original on 3 नवंबर 2012. Retrieved २९ जून २०१४. Check date values in: |accessdate=, |date=, |archive-date= (help)

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

पूर्वाधिकारी
बिनायक आचार्य
ओडिशा के मुख्यमंत्री
२६ जून १९७७ – १७ फ़रवरी १९८०
उत्तराधिकारी
जानकी बल्लभ पटनायक