नाई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

महान नन्द राजवंश के शासक जाति से नाई ठाकुर थे, इसलिए उनका गौरवशाली इतिहास अन्य जातियों को पचता नहीं है । वह तो विदेशी लेखकों का शुक्रिया करना चाहिए जिन्होंने सही तथ्यों को सामने लाने का महत्वपूर्ण कार्य किया । नहीं तो घोर जातिवादी भारतीय इतिहासकार नन्द राजवंश के कालखण्ड को इतिहास से ग़ायब ही कर देते । इसीलिए नन्द राजवंश की महान शासन परम्परा का इतिहास संक्षिप्त रूप में ही मिल पाता है ।नाईं का अर्थ न्यायी है अर्थात न्याय करने वाला जितने भी नाईं सैन समाज से राजा हुए सभी ने बिना भेदभाव के हर वर्ग के साथ न्याय किया जिस कारण उन्हें षड्यंत्र का शिकार होना पड़ा । और आज समाज की दुर्दशा देख लीजिए । समय हमेशा एक सा नही रहता उदारण आपके सामने है नाईं सम्राट नन्द का क्या हुआ । गुर्जर सम्राट मिहिरभोज ,महाराणा प्रताप के वंश को देख लीजिए ।।